Back

12.06.2022 HEADLINE

रांची समेत झारखंड के सभी हिस्सों में तनावपूर्ण शांति, इंटरनेट सेवा बहाल, 5000 अज्ञात लोगों पर FIR, एक दर्जन हिरासत में लिए

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा एवं निष्कासित नेता नवीन कुमार जिंदल की पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ कथित विवादित टिप्पणी के मामले में रांची में शुक्रवार को भड़की हिंसा के बाद रविवार को व्याप्त तनाव और निषेधाज्ञा के बीच इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई। हालांकि, तनाव के मद्देनजर रांची और आसपास के इलाकों में अर्द्धसैनिक बलों एवं पुलिस की तैनाती बरकरार है।

 

Ranchi Violence: मुझे 6 बार गोली मारी, 2 अब भी शरीर के अंदर; बाजार से लौटते समय फायरिंग में फंसने का दावा

रांची में जुमे की नमाज के बाद हिंसक झड़प हुई। इसमें दो लोगों की मौत जबकि कई घायल हो गए हैं। घायलों में से एक अबसार जिसे हिंसा के दौरान गोली लगी, उसका रिम्स में इलाज चल रहा है। अबसार ने बताया कि उसे छह बार गोली मारी गई। चार गोलियां निकाल ली गई हैं जबकि दो अब भी उसके शरीर में मौजूद हैं। उन्होंने दावा किया कि वह बाजार से लौट रहा था। उसने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लिया। तभी उसने लोगों के एक समूह को पथराव करते हुए और जवाब में पुलिस फायरिंग देखी।

अडाणी को प्रोजेक्ट दिलाने के लिए पीएम मोदी ने बनाया था प्रेसीडेंट राजपक्षे पर दबाव, आरोप लगाने के बाद मुकरा टॉप श्रीलंकाई अफसर

एक शीर्ष श्रीलंकाई अधिकारी ने शुक्रवार को पीएम मोदी को लेकर एक चौंकाने वाला दावा किया। इसके मुताबिक पीएम मोदी ने श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोतबया राजपक्षे पर अडानी ग्रुप को पॉवर प्रोजेक्ट देने के लिए दबाव बनाया था। हालांकि बाद में वह अपने बयान से मुकर गए। वहीं श्रीलंकाई राष्ट्रपति के ऑफिस ने भी इस तरह के आरोपों से इंकार किया है। 

 

मन्नार में है यह प्रोजेक्ट
500 मेगावॉट का यह रिन्यूवेबल एनर्जी प्रोजेक्ट श्रीलंका के मन्नार जिले में है। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक श्रीलंकाई सीलोन इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड के चेयरमैन एमएमसी फर्डिनांडो शुक्रवार को कोलंबो में संसदीय पैनल के सामने पेश हुए थे। इस दौरान उन्होंने दावा किया कि राष्ट्रपति राजपक्षे ने उनसे बताया था कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह प्रोजेक्ट अडाणी को देने के लिए दबाव बना रहे थे। फर्डिनांडो पब्लिक एंटरप्राइजेज की कमेटी को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान वह यह कहते सुने गए कि राजपक्षे ने अपने ऊपर मोदी का दबाव होने की बात कही थी। इस वरिष्ठ अधिकारी ने यह भी कहा कि राष्ट्रपति ने उनसे इसे अडाणी ग्रुप को देने के लिए कहा था। 

बाद में जारी किया गया खंडन
बताया जाता है कि फर्डिनांडो और अडाणी के बीच यह बातचीत उस वक्त हुई थी जब वह राष्ट्रपति की अध्यक्षता में हो रही एक बैठक में हिस्सा लेने गए थे। हालांकि कुछ ही देर के बाद फर्डिनांडो अपने यह कहते हुए मुकर गए कि उन्होंने भावातिरेक में आकर यह बयान दिया था। वहीं राष्ट्रपति राजपक्षे ने भी इस पर त्वरित प्रतिक्रिया दी। पहले उन्होंने ट्विटर पर इस बात को नकारा। राजपक्षे ने लिखा कि मन्नार के विंड पॉवर प्रोजेक्ट को लेकर किसी दबाव की बात से मैं इंकार करता हूं। बाद में उनके ऑफिस की तरफ से भी खंडन जारी किया। इसमें कहा गया कि इस प्रोजेक्ट को देने में किसी भी प्रकार दबाव की बात गलत है। साथ ही यह भी कहा गया कि राष्ट्रपति चेयरमैन फर्डिनांडो द्वारा कही गई बातों से कोई इत्तेफाक नहीं रखते हैं। 

 

 

रैगिंग पर RIMS प्रबंधन की बड़ी कार्रवाई:पहली बार 18 मेडिकल स्टूडेंट्स – डॉक्टर को RIMS हॉस्टल से बाहर निकाला गया, 4 सितंबर को नशे में सीनियर-जूनियर के बीच हुई थी मारपीट

रिम्स प्रबंधन की तरफ से रैगिंग के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। प्रबंधन ने अपने पहली बार प्रबंधन ने एक साथ 18 जूनियर और सीनियर्स को हॉस्टल से निष्कासित कर दिया है। दरअसल, बीते 4 सितंबर की देर रात रिम्स के हॉस्टल नंबर 7 में हॉस्टल नंबर 2 के मेडिकल स्टूडेंट्स ने नशे में मारपीट की थी।

इसके बाद जूनियर्स ने सीनियर्स पर रैगिंग का भी आरोप लगाया था। 5 सितंबर को मामला बढ़ने के बाद बरियातू थाना की पुलिस के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ था। रिम्स के चिकित्सा अधीक्षक में पांच सदस्यीय जांच कमेटी बनाकर स्टूडेंट वेलफेयर काउंसिल के डीन डॉ हिरेन बिरुआ को जांच का जिम्मा दिया था। कमेटी की रिपोर्ट के बाद RIMS निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद के निर्देश पर 18 नामित चिकित्सकों के खिलाफ प्रबंधन ने कार्रवाई की है।

13 स्टूडेंट्स को तीन माह और 5 को 1 साल के लिए हॉस्टल से निष्कासित
स्टूडेंट्स वेलफेयर के डीन द्वारा जारी आदेश के अनुसार, नामित 18 मेडिकोज और डॉक्टर्स को 3 माह से लेकर 1 साल तक की अवधि के लिए हॉस्टल से निकाला गया है। आदेश में कहा गया है कि रिम्स के छात्रावास परिसर में घटित घटनाक्रम की पड़ताल के बाद जांच समिति की अनुशंसा और निदेशक रिम्स के द्वारा कार्रवाई का निर्देश दिया गया। जिसके बाद उक्त चिकित्सको व छात्रों को अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत उनके छात्रावास से नियत समय के लिए निष्कासित किया गया।

हॉस्टल में पनाह देने वाले सहपाठियों पर भी गिरेगी गाज
जारी आदेश में स्पष्ट रूप से निर्देश दिया गया है कि छात्रों के निष्कासन की अवधि में उन्हें छात्रावास संबंधित सुविधाओं जैसे कैंटीन और मेस आदि से वंचित रखा जाए। साथ ही इस अवधि में इन छात्रों को अपने सहपाठियों के कमरों में भी रहने की अनुमति नहीं होगी, उन्हें पनाह देने वालों पर भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

भारत-न्यूजीलैंड मैच से संकट टला:BCCI को जो होटल चाहिए था, IAS ने वह अपनी शादी के लिए बुक किया; मुश्किल से छोड़ने को राजी हुए

झारखंड की राजधानी रांची में 19 नवंबर को होने वाले भारत-न्यूजीलैंड के टी-20 मैच से संकट टल गया है। एक शादी की वजह से इस पर पेंच फंस गया था। हुआ ये कि दोनों टीमों को जिस होटल में ठहरना था, वहां एक शादी में आने वाले मेहमानों के लिए पहले से कमरे बुक थे। शादी भी IAS अफसर की थी। उन्होंने बुकिंग छोड़ने से इनकार कर दिया।

कोरोना के बायो बबल के सख्त नियमों की वजह से इंडियन क्रिकेट बोर्ड BCCI परेशान हो गया। मामला इतना बड़ा कि BCCI ने मैच को दूसरी जगह शिफ्ट करने की धमकी तक दे दी। बाद में सरकार के दखल देने पर अफसर राजी हुए। इससे तय हो गया कि दो साल बाद रांची में होने वाला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच शादी की वजह से नहीं टलेगा।

जिस दिन मैच, उसी दिन मेहमान आने थे
बिहार कैडर के एक IAS अधिकारी ने 19 और 20 नवंबर को होटल में 40-45 कमरे की बुकिंग कराई थी। इसी दौरान मैच भी होना है। BCCI अपने स्टैंडर्ड के हिसाब से दूसरे होटल में जाने को तैयार नहीं था। उसका कहना था कि हम खिलाड़ियों को बायो बबल (ऐसी जगह, जहां किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की इजाजत नहीं होती है) से बाहर निकलने की अनुमति नहीं देते हैं।

रेडिशन ब्लू को छोड़कर दूसरे होटल में बायो बबल बनाना मुश्किल है। ऐसे में BCCI ने मैच को दूसरे जगह शिफ्ट करने की धमकी तक दे दी थी। पहले IAS अफसर अपनी बुकिंग कैंसिल करने को तैयार नहीं थे। सरकार की गुजारिश के बाद वे अपने बारातियों को दूसरी जगह शिफ्ट करने पर राजी हो गए।

टीम और सपोर्ट स्टाफ के लिए चाहिए 75 कमरे
अब भारत-न्यूजीलैंड टी-20 मैच 19 नवंबर को झारखंड स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन (JSCA) स्टेडियम में ही खेला जाएगा। होटल मैनेजमेंट BCCI को कमरे देने के लिए तैयार है। होटल रेडिसन ब्लू के मैनेजर देवेश ने बताया कि JSCA की तरफ से 75 कमरे की डिमांड की गई है। इनकी व्यवस्था लगभग पूरी कर ली गई है।

झारखंड राज्य क्रिकेट संघ के सचिव संजय सहाय ने बताया कि मैच की तैयारी चल रही है। तैयारी के साथ-साथ सुरक्षा और होटल व्यवस्था का जायजा लेने के लिए BCCI की टीम 14 अक्टूबर को रांची आएगी।

DDC ने भास्कर के सवाल पर कहा- थैंक यू
19 और 20 नवंबर को रांची में जहानाबाद के DDC मुकुल कुमार गुप्ता की शादी होनी थी। उन्होंने अपने मेहमानों को स्टे कराने के लिए रेडिशन ब्लू में बुकिंग कराई थी। दैनिक भास्कर ने उनसे मैच में सहूलियत के लिए शिफ्टिंग और परेशानी के बारे में पूछा तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने बस थैंक यू कहकर फोन काट दिया।

वहीं, रांची के DC छवि रंजन ने बताया कि बिहार के अधिकारी से इस मसले पर बात हुई है। इस मसले पर वे काफी पॉजिटिव हैं। वे दूसरी जगह शिफ्ट होने के लिए तैयार हैं। होटल मैनेजर से इसकी व्यवस्था करने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि उस होटल में पहले से बुकिंग कराए लोगों से भी बातचीत चल रही है। डिमांड के मुताबिक, कमरे तैयार कर लिए गए हैं।

धोनी द ग्रेट का जवाब नहीं:टीम इंडिया के मेंटर की भूमिका के लिए कोई फीस नहीं लेंगे माही, BCCI सेक्रेटरी ने किया कन्फर्म

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी टी-20 वर्ल्ड कप में टीम के साथ बतौर मेंटर नजर आएंगे, लेकिन वे इस काम के लिए BCCI से कोई फीस नहीं लेंगे। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह ने यह जानकारी दी है। शाह ने ANI को बताया- एमएस धोनी टी-20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम के मेंटर के रूप में अपनी सेवाओं के लिए कोई मानदेय नहीं ले रहे हैं।

मेंटर की भूमिका में नजर आएंगे धोनी
17 अक्टूबर से ओमान और UAE के मैदानों पर टी-20 वर्ल्ड कप का आगाज होने जा रहा है। इस टूर्नामेंट के लिए चुनी गई भारतीय टीम में धोनी को बतौर मेंटर टीम के साथ जोड़ा गया है। वह ड्रेसिंग रूम से खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाते नजर आएंगे। वर्ल्ड कप जैसे टूर्नामेंट के लिए धोनी को मेंटर के पद पर नियुक्त किया जाना भारतीय क्रिकेट के लिए बड़ा पॉजिटिव कदम माना जा रहा है। बता दें कि धोनी ने 15 अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था।

फाइनल में काम आ सकता है धोनी का अनुभव
भारत ने 2017 की ICC चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल, 2019 के वनडे वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल और इस साल खेले गए वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाई थी। हालांकि सभी के नॉकआउट मैचों में टीम को हार का सामना करना पड़ा। इस बार धोनी का अनुभव नॉकआउट जैसे अहम मैचों में टीम और कैप्टन कोहली के बहुत काम आ सकता है।

24 अक्टूबर को खेला जाएगा घमासान मुकाबला
टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया अपने अभियान की शुरुआत 24 अक्टूबर को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ करेगी। दोनों टीमों के बीच ये महा-मुकाबला दुबई के मैदान पर खेला जाएगा। इसके बाद 31 अक्टूबर को टीम न्यूजीलैंड और 3 नवंबर को अफगानिस्तान के खिलाफ मैच खेलेगी। 5 नवंबर को टीम का सामना B1 और 8 नवंबर को A2 के साथ होगा।

 

 

 

 

झारखंड में कोरोना संक्रमण:पिछले 24 घंटे में मिले 9 पॉजिटिव मरीज, 13 ठीक भी हुए; 108 बचे एक्टिव केस

झारखंड के विभिन्न जिलों में पिछले 24 घंटे में 9 पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई। वहीं, 13 लोगों ने काेरोना को मात भी दिया। वहीं, अब 108 एक्टिव केस बचे हैं। झारखंड में अब तक 3,48,334 केस मिल चुके हैं। जबकि 3,43,087 लोग कोरोना से ठीक हो चुके हैं।

शनिवार को कहां मिले कितने मरीज
बोकारो में 1, पूर्वी सिंहभूम में 1, खूंटी में 2, रामगढ़ में 1, रांची में 4

ट्रेन में मास्क पहनना जरूरी, नहीं ताे 500 रु. का जुर्माना
वहीं, रेलवे ने यात्रियों से आग्रह किया है कि यात्रा शुरू करने से पहले राज्य द्वारा जारी हेल्थ गाइडलाइन देख लें। रेल मंत्रालय ने गुरुवार को कोरोना से संबंधित गाइडलाइन को छह महीने या अगले निर्देश तक बढ़ा दिया है। रेलवे द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि रेलवे परिसर और ट्रेनों में मास्क या फेस कवर नहीं पहनने पर 500 रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है।

रेलवे एक्ट के तहत अपराध की श्रेणी में शामिल कर दिया है

सरकारी आदेश के अनुसार, रेलवे ने इस गाइडलाइन के उल्लंघन को रेलवे एक्ट के तहत अपराध की श्रेणी में शामिल कर दिया है। कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए रेल मंत्रालय ने इस साल अप्रैल में हेल्थ एडवाइजरी जारी की थी, जिसके अनुसार, जुर्माने का प्रावधान सितंबर तक लागू होना था, लेकिन इसे और छह महीने के लिए बढ़ा दिया गया है। रेलवे बाेर्ड ने 17 अप्रैल को सभी जोन को यह सुनिश्चित करने काे कहा था कि हर कोई ट्रेन सहित रेलवे परिसर में फेस मास्क या फेस कवर जरूर पहनें।

पूजा में गाड़ी निकालने से पहले जान लीजिए ट्रैफिक प्लान:रांची में 11 से 15 अक्टूबर तक सुबह 8 से दूसरे दिन सुबह 4 बजे तक भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा, 4 बजे शाम के बाद निजी वाहन पर भी नो एंट्री

दुर्गा पूजा पूजा को लेकर शहर की ट्रैफिक व्यवस्था में बदलाव किया गया है, ताकि पूजा के दौरान ट्रैफिक स्मूद रहे। इसके लिए ट्रैफिक SP रेशाम रमेशन ने शहर के ट्रैफिक प्लान से संबंधित दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

शहर में 11 से 15 अक्टूबर तक हर दिन सुबह 8 से दूसरे दिन सुबह 4 बजे तक भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा। शहर में कुछ प्रमुख मार्गों पर निजी व यात्री वाहनों का प्रवेश भी हर दिन शाम 4 से अगले दिन प्रात: 4 बजे तक वर्जित रहेगा। शहर में 39 स्थानों पर ड्रॉप गेट रहेंगे।

भारी वाहनों के लिए भी रूट निर्धारित
पिस्का मोड़ से हजारीबाग रोड जाने वाले वाहन तिलता चौक से रिंग रोड लॉ यूनिवर्सिटी होकर हजारीबाग रोड की ओर जाएंगे। हजारीबाग रोड से लातेहार, पलामू, गढ़वा, इटकी रोड, सिमडेगा, गुमला, लोहरदगा रोड, पिस्का मोड़ जाने वाले वाहन रिंग रोड लॉ यूनिवर्सिटी तिलता चौक होकर जा सकेंगे। खूंटी की ओर से आने वाले बड़े वाहन रिंग रोड होते हुए रामपुर, नामकुम, दुर्गा सोरेन चौक, टाटीसिलवे, खेलगांव, बूटी मोड़ होते हुए हजारीबाग की ओर जा सकेंगे।

जमशेदपुर से आने वाली गाड़ी का भी रूट भी बदला
वहीं जमशेदपुर रोड से हजारीबाग रोड जाने वाले सभी वाहन नामकुम, दुर्गा सोरेन चौक, टाटीसिलवे, खेलगांव, बूंटी मोड़ होकर हजारीबाग रोड से आगे परिचालन कर सकेंगे। वहीं, हजारीबाग रोड से जमशेदपुर जाने वाले सभी बड़े वाहन खेलगांव, टाटीसिलवे, दुर्गा सोरेन चौक, नामकुम होकर जा सकेंगे। वहीं, गुमला रोड, लोहरदगा रोड, खूंटी रोड से जमशेदपुर जाने वाले वाहन व जमशेदपुर रोड से गुमला रोड, लोहरदगा रोड, खूंटी रोड जाने वाले वाहन रिंग रोड (सिठियो) होकर जा सकेंगे।

जानिए…किस रूट में कहां से कहां तक जा पाएंगे वाहन
1. सभी निजी वाहनों, ऑटो, ई-रिक्शा का परिचालन कचहरी चौक से शहीद चौक, अलबर्ट एक्का चौक, रतन पीपी से सुजाता चौक तक वर्जित रहेगा। ओवरब्रिज की ओर से मेन रोड आने वाले ऐसे सभी वाहन सैनिक मार्केट या जीईएल चर्च कॉम्पलेक्स तक ही आएंगे।
2. हरमू की ओर से किशोरगंज होकर रातू रोड की ओर आने वाले चारपहिया वाहन किशोरगंज चौक से आगे पहाड़ी मंदिर मोड़ से मीनाक्षी सिनेमा मोड़ व रातू रोड होकर पिस्का मोड़ की ओर जाएंगे।
3. हरमू बाइपास से पिस्का मोड़ जाने वाले चारपहिया वाहन बीजेपी कार्यालय के समीप (पेट्रोल पंप) से पीपर टोली होते हुए पिस्का मोड़ की तरफ जाएंगे।
4.लालपुर से कोकर और कोकर से लालपुर की ओर आने-जाने वाले वाहन सदर थाना होते हुए जाएंगे।
5. सभी प्रकार के मिनीडोर, छोटे व्यावसायिक व यात्री वाहन धुर्वा, बिरसा चौक, डोरंडा, सुजाता चौक, मुंडा चौक, बहुबाजार, कांटाटोली चौक, लालपुर होते हुए कचहरी चौक तक परिचालन कर सकेंगे। वापसी में ऐसे वाहन लालपुर, कांटाटोली, बहुबाजार, सुजाता चौक व राजेंद्र चौक होते हुए धुर्वा तक जा सकेंगे।
6.कांके रोड से कचहरी चौक की तरफ आने वाली छोटी गाड़ियां सीसीएल (दरभंगा हाउस) मोड़ तक, लालपुर चौक से आने वाली छोटी गाड़ियां जेपीएससी कार्यालय तक ही आ पाएंगी।
7.बरियातू से गाड़ियां लाइन टैंक रोड स्थित रामगढ़ पड़ाव तक आएंगी। लालपुर से अलबर्ट एक्का चौक आने वाली छोटी गाड़ियां प्लाजा चौक तक और डंगराटोली चौक से मिशन चौक तक ही आ सकेंगी।
8.कांके रोड से आने वाली गाड़ियां राम मंदिर चौक, रणधीर वर्मा चौक होकर करमटोली से बूटी मोड़ होते हुए गंतव्य तक जा सकेंगी।
9. हरमू रोड से आने वाली गाड़ियां अरगोड़ा से कडरू, सुजाता, मुंडा चौक होते हुए कांटाटोली जा सकेंगी।

रांची में सुबह-सुबह बड़ा हादसा:रेलवे  के लिए मैक्लुस्कीगंज से छड़ ले जा रहा ट्रैक्टर पलटा, 5 लोग दबे, 2 की हालत बेहद गंभीर, JCB की मदद से सभी को बाहर निकाला गया

रांची में शनिवार को सुबह-सुबह बड़ा हादसा हुआ है। घटना मैक्लुस्कीगंज थाना क्षेत्र की है। यहां के नावाडीह में रेलवे के लिए छड़ व अन्य सामान ले जा रहा ट्रैक्टर पलट गया। इसमें ट्रैक्टर पर सवार 5 लोग इसके नीचे दब गए। आनन-फानन में JCB से दबे घायलों को बाहर निकाला गया।

हादसे में दो लोगों की हालत बेहद ही गंभीर बताई जा रही है। वहीं दो को हल्की चोट आई हैं और एक व्यक्ति पूरी तरह सुरक्षित हैं। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। घटना में सुरक्षित व्यक्ति ने बताया कि वे मैक्लुस्कीगंज से रेलवे के लिए छड़ व अन्य जरूरी सामान लेकर खलारी के राय जा रहे थे। अचानक नावाडीह के पास ट्रैक्टर और ट्रॉली को जोड़ने वाला हिच टूट गया। इसके कारण ट्रैक्टर अनियंत्रित हो गया और पलट गया। स्थानीय लोगों की तत्परता से सभी को समय रहते रेस्क्यू किया गया।

मैक्लुस्कीगंज है बाइंडिंग का बड़ा केंद्र
रांची जिले में बनने वाले पुल-पुलिया व अन्य सरकारी कार्यों के छड़ की मुख्यत: कटिंग व बाइडिंग का काम मैक्सलुस्कीगंज में ही होता है। ये इनका मुख्य केंद्र है। रेलवे के लिए ये भी काम यहीं से होकर जाता है।

शंभू अग्रवाल 9वीं बार बने रांची बार एसोसिएशन के अध्यक्ष:12 घंटे से भी ज्यादा समय तक चली मतों की गिनती में बार एसोसिएसन के सबसे ताकतवर महासचिव पद पर संजय विद्रोही का लगातार दूसरी बार कब्जा

रांची जिला बार एसोसिएशन के नतीजे की घोषणा बुधवार को हो गई है। सत्र 2021-23 के लिए हुए चुनाव में शंभू प्रसाद अग्रवाल लगातार आठवीं बार अध्यक्ष पद पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। वहीं महासचिव पद पर संजय कुमार विद्रोही ने दूसरी बार जीत दर्ज की है। विद्रोही ने अनिल कंठ को 315 वोटों से पराजित किया है।

वहीं उपाध्यक्ष पद पर बिनय कुमार राय ने लगातार दूसरी बार जीत दर्ज की है। प्रशासनिक सचिव पद पर पवन रंजन खत्री एक बार फिर विजयी रहे हैं । संयुक्त सचिव पुस्तकालय पद पर प्रदीप कुमार चौरसिया ने पहली बार जीत हासिल की है।

कोषाध्यक्ष के पद पर मुकेश कुमार केसरी ने पहली बार जीत हासिल की है। सहायक कोषाध्यक्ष के रूप में दीन दयाल सिंह पहली बार चुनाव जीते हैं। मतों की गिनती लगातार 12 घंटे से ज्यादा सुबह 5:15 तक चला। मतगणना मंगलवार सुबह 10.30 बजे से होनी थी, लेकिन कुल वोट के आंकड़ों में अंतर आने से विवाद हो गया, ताे प्रत्याशियों ने हंगामा किया था। तब चुनाव पदाधिकारियों ने वोटों का मिलान किया। प्रत्याशी जब पूरी तरह संतुष्ट हुए, ताे दोपहर 3 बजे मतगणना शुरू हुई।

2155 मतदाताओं में से 1793 ने किया था मतदान
इससे पहले सोमवार को पूरे दिन मतदान हुआ था था। सत्र 2021-23 के लिए हुए चुनाव में इस बार रिकॉर्ड 84.64 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। 2155 मतदाताओं में से 1793 वोटरों ने अपने मत का प्रयोग किया था। 7 पदाधिकारी पद के लिए 38 और 9 कार्यकारिणी सदस्यों के लिए 40 प्रत्याशी मैदान में थे।

देर रात तक गहमागहमी, प्रत्याशी-समर्थक डटे रहे
सिविल कोर्ट के न्यू बार भवन में मतगणना को लेकर सुबह से देर रात तक गहमागहमी रही। एसोसिएशन के सदस्य पल-पल के रुझान की जानकारी ले रहे थे। समर्थक गिनती समाप्त होने से पूर्व ही जीत-हार का आकलन करते हुए हिप-हिप हुर्रे कह झूम रहे थे।

छात्रों के हक पर प्रबंधन की लापरवाही:रांची के 272 संस्थानों में मात्र 14 ने अभी तक कराई है KYC, 31 अक्टूबर तक KYC अपडेट नहीं कराने वाले संस्थानों के बच्चे नहीं कर सकेंगे आवेदन

रांची के हजारो अल्पसंख्यक छात्रों की छात्रवृति पर KYC का रोड़ा है। संस्थान की तरफ से बिना KYC अपडेट कराए स्टूडेंट्स इसके लिए आवेदन करने योग्य ही नहीं हो पाएंगे । सैकड़ों शिक्षण संस्थानों ने अभी तक राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल पर KYC नहीं किया है।

अभी तक महज 14 संस्थानों ने ही केवाईसी अपडेट किया है। जबकि, संस्थानों को 31 अक्तूबर तक केवाईसी अपडेट और पहली बार आवेदन करने वाले संस्थानों को रजिस्ट्रेशन कराने की अंतिम तिथि निर्धारित है।जबकि, शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए रांची में 272 संस्थानों में पढ़ने वाले करीब 5 हजार विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी गई थी।

नवंबर में है आवेदन की आखिरी तारिख
अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के वर्ष 2021-22 के लिए तीन छात्रवृत्ति योजनाओं प्री-मैट्रिक, पोस्ट-मैट्रिक और मेरिट-कम-मिन्स आधारित छात्रवृत्ति का लाभ 6 अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को दिया जाना है। प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए 15 नवंबर और पोस्ट-मैट्रिक और मेरिट-कम-मिन्स आधारित छात्रवृत्ति के लिए 30 नवंबर आवेदन की अंतिम तिथि निर्धारित है।

संस्थान की होगी जिम्मेदारी
रांची जिला कल्याण पदाधिकारी ने सभी संस्थानों से कहा है कि अपने निर्धारित समय पर KYC अपडेट करें या रजिस्ट्रेशन कराना सुनिश्चित करें। अपने संस्थानों के छात्रों की सूची पोर्टल से छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाइन सत्यापित करते हुए डाउनलोड करें। छात्रों को छात्रवृति नहीं मिलने की जिम्मेदारी संस्थान की होगी।

रांची में छात्रा की आत्हत्या के बाद सनसनी:लालपुर में अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग के 15वीं मंजिल से कूद कर दी जान, घटना के वक्त सोया रहा गार्ड, जांच में जुटी पुलिस

रांची में एक छात्रा की हत्या के बाद सनसनी फैल गई है। छात्रा लालपुर के अंडर कंस्ट्रक्शन एक बिल्डिंग से 15वीं मंजिल से छलांग लगा दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मृतका की पहचान विनिता कुमारी के रूप में हुई है। वह बरियातू की रहने वाली है और संत जवियर्स कॉलेज से पढ़ाई कर रही है।

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश में जुट गई है। खबर लिखे जाने तक आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। शुरुआती सीसीटीवी फुटेज में बिना रोक-टोक के छात्रा को बिल्डिंग जाता हुआ देखा जा रहा है। वहां गार्ड है लेकिन सोये रहने के कारण किसी ने उससे कोई पूछताछ नहीं की है।

पुलिस ने कहा-हर बिंदु पर हो रही है जांच
सूचना मिलते ही लालपुर थाने की पुलिस दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच कर रही है। लालपुर थाना प्रभारी राजीव कुमार ने बताया कि शव को कब्जे में ले लिया गया है और पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेजा जा रहा है। लालपुर थाना प्रभारी ने कहा कि हर एक बिंदु पर जांच की जा रही है और काम कर रहे मजदूरों से इस मामले की पूछताछ की जाएगी

ज़ोरदार स्वागत:प्रभावशाली व्यक्तित्व के विकास के लिए अंग्रेजी और हिंदी दोनों पर समान रूप से ध्यान दें : उत्कर्ष

यूपीएसई 2020 की परीक्षा में 55वां स्थान प्राप्त करने वाले उत्कर्ष का संत जेवियर स्कूल में शनिवार को ज़ोरदार स्वागत किया गया। हजारीबाग सहोदय के तत्वावधान में सीबीएसई स्कूलों के छात्र-छात्राओं के लिए आयोजित इस करियर काउंसिलिंग कार्यक्रम के स्वागत समारोह में संत जेवियर स्कूल के प्राचार्य फादर रोसनर ने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा में उत्कर्ष के चयन से पूरे शहर के छात्र-छात्राओं में ऊर्जा और उत्साह की एक नई लहर दौड़ गई है।

सभागार में उपस्थित छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए उत्कर्ष ने कहा कि आप असफलता से बिल्कुल न घबराएं और अपनी कमज़ोरी और ताकत दोनों पर समान रूप से ध्यान दें। स्कूल में आयोजित होने वाली सभी प्रतियोगिताओं और मंचीय कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर भागीदारी निभाएं।

प्रभावशाली व्यक्तित्व के विकास के लिए अंग्रेजी और हिंदी दोनों पर समान रूप से ध्यान दें। स्वागत-समारोह में छात्र-छात्राओं से अपना अनुभव बांटते हुए उत्कर्ष ने कहा फाउंडेशन कोर्स की तैयारी के लिए एनसीईआरटी की किताबें और स्कूली शिक्षा का अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान होता है। कहा कि एक साथ दस किताबों में भटकने से अच्छा है कि एक ही किताब को दस बार पढ़कर आप अपनी अवधारणाएं स्पष्ट करें।

साक्षात्कार में सफलता के लिए विषय की स्पष्टता आत्मविश्वास एवं प्रभावशाली प्रस्तुति जरूरी है। छात्र-छात्राओं के जिज्ञासा समाधान में उत्कर्ष ने कहा कि खुद को तनाव रहित रखने के लिए संगीत, पेंटिंग या अन्य ललित कलाओं में व्यस्त रखें। इस अवसर पर सहोदय के प्रेसिडेंट एवं डीएवी के प्राचार्य अशोक कुमार ने कहा कि उत्कर्ष स्कूली जीवन से मेधावी और मेहनती छात्र रहे। एनटीएसई में स्टेट टाॅपर रहे उत्कर्ष का प्रदर्शन विज्ञान प्रदर्शनी, डिबेट एवं क्विज में हमेशा उत्कृष्ट रहा। कार्यक्रम में मंच संचालन वाइस प्रिंसिपल देवव्रत ने किया।

 
 

 

 

पलामू के अशोका बिल्डकॉन कैंपस में फायरिंग:रेलवे की थर्ड लाइन बिछा रही कंपनी का इंजीनियर जख्मी, दहशत फैलाने के उद्देश्य से बदमाशों ने की गोलीबारी

बाइक सवार दो अपराधियों ने मंगलवार की दोपहर हैदरनगर थाना के सिमरसोत गांव के पास आशोका बिल्डकॉन कंपनी कैंपस में फायरिंग की। इस दौरान इंजीनियर वीरेंद्र कुमार के बाएं जांघ में दो व पेट में एक गोली लगी है। इंजीनियर को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आशोका बिल्डकॉन कंपनी रेलवे थर्ड लाइन बिछा रही है।

सोन नगर से पतरातू थर्ड लाइन का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा है। पर यह रेल लाइन अपराधियों के निशाने पर है। वीरेंद्र कुमार बिहार के पूर्वी चंपारण के मोतिहारी स्थित गायत्री नगर के रहने वाले हैं। घटना की सूचना मिलते ही आनन-फानन में पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गई है।

घायल वीरेंद्र ने अस्पताल में बयान दिया कि अशोका बिल्डकॉन कंपनी का रेलवे थर्ड लाइन का कार्य सोन नगर से पतरातू तक किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि दो अपराधी बाइक पर सवार होकर घटना को अंजाम दिया पर उनके साथ एक फोर व्हीलर भी थी। इस पर छत्तीसगढ़ का नंबर था। घटनास्थल पर मौजूद मजदूरों व कर्मचारियों ने जख्मी इंजीनियर को हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया। जहां से उन्हें मेदिनीनगर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया।

रामगढ़ का अपराधी रांची में मांग रहा था रंगदारी:कारोबारी की होशियारी से धराया एक क्रिमिनल, दो मौके से हुआ फरार, पुलिस कही- खंगाला जा रहा है अपराधियों का बैकग्राउंड

झारखंड के रामगढ़ से तीन क्रिमिनल रांची के कारोबारी से रंगदारी मांगने आए थे। ये यहां के नीरज साहू नाम के कारोबारी को अपना शिकार बनाना चाहते थे। लेकिन कारोबारी की होशियारी से पुलिस एक अपराधी पकड़ेन में कामायाब रही है। हालांकि इस दौरान दो अपराधी फरार होने में कामयाब रहा है।

घटना ओरमांझी थाना क्षेत्र की है। तीन की संख्या में अपराधी नीरज साहू नाम के एक कारोबारी को लूटने आये थे। इस दौरान साहू ने एक अपराधी को पकड़ लिया। पकड़े गये अपराधी को कारोबारी ने पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस ने उसके पास से दो पिस्टल बरामद किये है।

जांच के बाद ही कुछ बता पाएंगे- पुलिस
ओरमांझी थाना प्रभारी ने बताया कि क्रिमिनल का बैकग्राउंड खंगाला जा रहा है। गिरफ्तार अपराधी से पूछताछ जारी है। पूछताछ के बाद ही इस मामले में कुछ भी बताया जा सकता है। उन्होंने बताया कि यह घटना आर्यन ढाबा से करीब 500 मीटर की दूरी पर घटी है।

21 साल बाद तिरिल आश्रम का होगा कायाकल्प:रांची में महात्मा गांधी से जुड़े सर्वोदय आश्रम को पर्यटन और शोध केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा, कुटीर उद्योग के क्रिया कलाप का हब बनेगा

21 साल बाद एक बार फिर से रांची के धुर्वा स्थित तिरल आश्रम (सर्वोदय आश्रम) का कायाकल्प होगा। गांधी जयंती पर CM हेमंत सोरेन ने इसकी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी से जुड़े सर्वोदय आश्रम को संरक्षित और विकसित किया जएगा।

हेमंत सोरेन ने कहा है कि तिरिल आश्रम में संचालित छोटानागपुर खादी ग्रामोद्योग संस्थान को महात्मा गांधी के सपने के अनुरूप ढाला जाएगा। इसे कुटीर उद्योग के क्रियाकलापों का हब बनाया जाएगा। वहीं आश्रम को संरक्षित कर यहां पर्यटन और शोध केंद्र के रूप में विकसित करने का भी कार्य होगा। इससे रोजगार के नये अवसर भी बनेंगे।

इस स्थान का है ऐतिहासिक महत्व
CM ने कहा कि देशरत्न डॉ. राजेन्द्र प्रसाद और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की यादें तिरिल स्थित सर्वोदय आश्रम से जुड़ीं हैं। यहां स्वाधीनता आंदोलन की यादें हैं। तब यह आश्रम स्वतंत्रता सेनानियों का ठिकाना भी हुआ करता था। इस दृष्टिकोण से इस स्थान का ऐतिहासिक महत्व भी है।

1928 में तिरिल आश्रम की स्थापना हुई थी
डॉ.राजेंद्र प्रसाद की प्रेरणा से 1928 में तिरिल में इस आश्रम की स्थापना की गई थी। ये 24 एकड़ में यह फैला हुआ है। यहां पर खादी के प्रचार-प्रसार से लेकर आजादी से पहले से काम हो रहा है। राजेंद्र प्रसाद जब राष्ट्रपति बने, तो यहां आराम करने के लिए थे। बिहार से अलग होने के पहले तक यह खादी के प्रचार-प्रसार का बड़ा केंद्र था। । लेकिन, झारखंड बनने के बाद सरकारी उपेक्षा के कारण हालत धीरे-धीरे खस्ता होती गई।

छात्रों के हक पर प्रबंधन की लापरवाही:रांची के 272 संस्थानों में मात्र 14 ने अभी तक कराई है KYC, 31 अक्टूबर तक KYC अपडेट नहीं कराने वाले संस्थानों के बच्चे नहीं कर सकेंगे आवेदन

रांची के हजारो अल्पसंख्यक छात्रों की छात्रवृति पर KYC का रोड़ा है। संस्थान की तरफ से बिना KYC अपडेट कराए स्टूडेंट्स इसके लिए आवेदन करने योग्य ही नहीं हो पाएंगे । सैकड़ों शिक्षण संस्थानों ने अभी तक राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल पर KYC नहीं किया है।

अभी तक महज 14 संस्थानों ने ही केवाईसी अपडेट किया है। जबकि, संस्थानों को 31 अक्तूबर तक केवाईसी अपडेट और पहली बार आवेदन करने वाले संस्थानों को रजिस्ट्रेशन कराने की अंतिम तिथि निर्धारित है।जबकि, शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए रांची में 272 संस्थानों में पढ़ने वाले करीब 5 हजार विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति दी गई थी।

नवंबर में है आवेदन की आखिरी तारिख
अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के वर्ष 2021-22 के लिए तीन छात्रवृत्ति योजनाओं प्री-मैट्रिक, पोस्ट-मैट्रिक और मेरिट-कम-मिन्स आधारित छात्रवृत्ति का लाभ 6 अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को दिया जाना है। प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिए 15 नवंबर और पोस्ट-मैट्रिक और मेरिट-कम-मिन्स आधारित छात्रवृत्ति के लिए 30 नवंबर आवेदन की अंतिम तिथि निर्धारित है।

संस्थान की होगी जिम्मेदारी
रांची जिला कल्याण पदाधिकारी ने सभी संस्थानों से कहा है कि अपने निर्धारित समय पर KYC अपडेट करें या रजिस्ट्रेशन कराना सुनिश्चित करें। अपने संस्थानों के छात्रों की सूची पोर्टल से छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत ऑनलाइन सत्यापित करते हुए डाउनलोड करें। छात्रों को छात्रवृति नहीं मिलने की जिम्मेदारी संस्थान की होगी।

झारखंड में 3 अक्टूबर तक बारिश के आसार:पश्चिम बंगाल से सटे 10 जिलों में भारी बारिश के आसार, रांची में 2 दिन में 4 डिग्री सेल्सियस गिरा पारा

बंगाल की खाड़ी में बने निम्न दबाव के असर से झारखंड में गुरुवार को राज्य के सभी 24 जिलों में बारिश होगी। बुधवार से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में बारिश शुरू हो गई थी। निम्न दबाव प. बंगाल से धनबाद होते हुए गुजरा है।

गुरुवार को इसका असर पूरे राज्य में दिखने के आसार हैं। भारतीय माैसम विज्ञान केंद्र रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि आज राज्य के सभी 24 जिलों में बारिश हाेगी। उन्होंने बताया कि 30 सितंबर से 3 अक्टूबर तक बारिश के आसार हैं।

वहीं, पश्चिम बंगाल से सटे झारखंड के इलाके देवघर, धनबाद, दुमका, गिरिडीह, गोड्डा, जामताड़ा, पाकुड़ व साहिबगंज समेत पूर्वी-पश्चिमी सिंहभूम, सिमडेगा व सरायकेला-खरसावां के अलावा राज्य के पश्चिमी हिस्से पलामू, चतरा, गढ़वा, कोडरमा, लातेहार व लोहरदगा में कुछ जगहों पर भारी बारिश की संभावना है।

रांची में 7 मिमी बारिश हुई, 4 डिग्री सेल्सियस गिरा पारा

बुधवार को धनबाद में सबसे अधिक 70 मिमी बारिश हुई। वहीं रांची में 7 और जमशेदपुर में 9 मिमी बारिश दर्ज की गई। रांची में लगातार बारिश से तापमान में गिरावट का दौर जारी है। बारिश के कारण रांची के उच्चतम पारे में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को रांची का अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस था जो जो अब घटकर में 26.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है।

पुलिस बैरक में फंदे से लटकी मिली महिला की लाश:कांस्टेबल देवरानी के बच्चों की देखभाल के लिए छत्तीसगढ़ से महिला बैरक में रहने आई थी, रात में मिली लाश; आत्महत्या की आशंका

झारखंड सशस्त्र पुलिस बल (Jap 9) के साहिबगंज स्थित महिला बैरक में एक प्रशिक्षु कांस्टेबल की जेठानी (गोतनी) की फंदे से लटकी लाश मिली है। घटना सोमवार की रात लगभग 2 बजे की है। पलामू जिला बल की प्रशिक्षु कांस्टेबल रेखा कुमारी अपने बच्चे की देखभाल के लिए जेठानी के साथ बैरक में साथ रहती थी। आशंका है कि देर रात जब बैरक में सब लोग सो रहे थे तो उसने आत्महत्या कर ली।

मृतका की पहचान छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर बौरीपाड़ा निवासी रंजीत विश्वकर्मा की पत्नी सुनैना देवी के रूप में की गई। वह 3 सितंबर को बैरक में आई थी। घटना के बाद सदर डीएसपी सदर डीएसपी राजेंद्र दुबे मौके पर पहुंच कर मामले की छानबीन की एवं शव को पोस्टमाॅर्टम के लिए सदर अस्पताल भिजवाया है।

इस संबंध में पुलिस अधीक्षक सह प्रभारी जैप 9 कमांडेंट अनुरंजन किस्पोट्टा ने कहा कि मामले की छानबीन पुलिस द्वारा की जा रही है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। जो भी कानूनी कार्रवाई होगी, वह किया जाएगा।

रेखा कुमारी ने बताया कि पिछली रात हम सब रोज की तरह खाना पीना खाकर अपने जगह पर सोने चले गए। मैं अपने बच्चों को अपने साथ लेकर सो गई। रात करीब 2 बजे के आसपास जब मेरी नींद टूटी तो मैंने देखा कि कमरे में सुनैना देवी नहीं है। मैं उसे ढूंढ़ने के लिए जैसे ही बाहर आई तो देखा कि सीढ़ी के पास दुपट्टे से उसकी लाश लटक रही है। रेखा ने यह भी बताया कि सुनैना का किसी से कोई मनमुटाव भी नहीं था फिर भी क्यों उसने आत्महत्या की, यह बड़ा सवाल है। वह हमेशा कहती थी कि उसे यहां ठीक नहीं लगता है, उसे घर जाना है।

खलारी में CCL कर्मी की मौत के बाद सनसनी:पत्नी ने कहा- आत्महत्या कर लिए, पिता का आरोप-नौकरी के लिए पत्नी ने अपने भाई और मां के साथ मिलकर उनके बेटे की हत्या की है, जांच में जुटी पुलिस

झारखंड के खलारी में 28 वर्षीय अमन सिंह नामक CCL कर्मी की संदेहास्पद मौत हो गई है। मौत के बाद पूरे इलाके में सनसनी फैल गई है। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई है, लेकिन ट्रेड यूनियन के लोग शव को उठाने नहीं दे रहे हैं।

यूनियन के लोग मृतक की पत्नी राखी सिंह और सास राधिका कुंवर की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। जबकि मृतक के साले सुशील सिंह उर्फ गोलु को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। मृतक की पत्नी के मुताबिक अमन आत्महत्या किया है। वहीं घटना की सूचना पाकर पैतृक गांव बिहार के औरंगाबाद से खलारी पहुंचे मृतक के पिता का आरोप है कि पत्नी ने अपनी मां और भाई के साथ मिलकर अमन की हत्या की है। पति-पत्नी के बीच अक्सर विवाद होते रहता था। इनकी नजर नौकरी पर थी।

च के बाद होगी आगे की कार्रवाई : पुलिस
घटना की तफ्तीश में जुटी पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। साले को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि सास और पत्नी को हाउस अरेस्ट में रखा जाएगा। पिता की शिकायत के बाद मामले की जांच की जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी।

7 साल पहले लगी थी नौकरी, 3 साल पहले हुई थी शादी
अमन CCL के डकरा साइड में टेक्निकल इंस्पेक्टर के पोस्ट पर तैनात था। वो यहां पिछले 7 साल से काम कर रहा था। मूल रूप से बिहार के औरंगाबाद के रहने वाले अमन की शादी 3 साल पहले ही अपने जिले के एक गांव में हुई थी। उसकी एक डेढ़ साल की बच्ची भी है। शादी के बाद से ही पति-पत्नी के बीच अनबन रह रही थी। दो-तीन बार परिजनों के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ था।

 

डीवीसी टरबाइन साइड में डूबने से युवक की मौत:नहाने के दौरान आर्यन कोचिंग सेंटर के संचालक की डूबने से मौत, फुफेरे भाई के साथ गए थे डीवीसी टरबाइन साइड

तिलैया डैम ओपी क्षेत्र के डीवीसी टरबाइन साइड में नहाने के दौरान डूबने से रविवार को आर्यन कोचिंग सेंटर के संचालक की मौत हो गई। संचालक अपने फुफेरे भाई के साथ यहां नहाने गए थे और इसी दौरान यह हादसा हुआ।

मृतक की पहचान नवादा के नादरीगंज निवासी संजीव कुमार के रूप में की गई है। संजीव कुमार अपने फुफेरे भाई अंशुमन कुमार के साथ रविवार को नहाने गए थे। नहाने के दौरान संजीव कुमार गहरे पानी में डूब गए।

डूबने के बाद उनके फुफेरे भाई ने अगल-बगल के लोगों को बताया, जिसके बाद संजीव का शव पानी से बाहर निकाला गया और इसकी सूचना तिलैया डैम ओपी प्रभारी विशाल पाण्डेय को दी गई। संजीव कुमार अपनी पत्नी व दो बच्चे के साथ तिलैया में रहकर कोचिंग चलाते थे।

पलामू में मां-बेटी का शव फंदे से लटका मिला:सौतन से अक्सर होता था महिला का झगड़ा, पारिवारिक विवाद में सुसाइड की आशंका

हैदरनगर थाना क्षेत्र के रजौनधा गांव में मां-बेटी की रविवार को घर में फंदे से लटकी लाश बरामद की गई। दोनों के पारिवारिक विवाद में सुसाइड करने की आशंका जाहिर की जा रही है। दोनों का शव एक ही रस्सी से बने फंदे से लटका मिला है। हालांकि फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

ग्रामीणों के अनुसार, महिला का अपनी सौतन से अक्सर विवाद होता था। मृतकों में जितेंद्र पासवान की दूसरी पत्नी संगीता देवी (35) और बेटी अंजली कुमारी (13) शामिल है। जितेंद्र ने करीब 15 साल पहले संगीता से दूसरी शादी की थी। हालांकि जीतेंद्र की पहली पत्नी रूपा देवी और संगीता के बीच अक्सर विवाद होता रहता था।

शनिवार की रात जीतेंद्र अपनी पहली पत्नी और दो बच्चों के साथ अलग कमरे में सोया था। जबकि संगीता अपनी बेटी के साथ दूसरे कमरे में थी। सुबह मां-बेटी का शव फंदे से लटका मिला। इस संबंध मे घटनास्थल पर पहुंचे SI शिव शंकर उरांव ने बताया कि मामले को गंभीरता से जांच की जा रही है। जल्द ही खुलासा किया जाएगा।

जितेंद्र पासवान ने संगीता के साथ लव मैरिज की थी। जितेंद्र और संगीता दोनों की यह दूसरी शादी है। जितेंद्र महाराष्ट्र के नागपुर में काम करता है। इसी दौरान उसे संगीता से प्रेम हो गया और अपनी पहली पत्नी के रहते हुए उससे दूसरी शादी कर ली थी।

झारखंड में 1 अक्टूबर को टूटा 30 साल का रिकॉर्ड:एक अक्टूबर को सामान्यत: 3.8 मिमी बारिश होनी चाहिए, लेकिन 28.9 मिमी बारिश हुई, सामान्य से 660% अधिक, आज से मिलेगी राहत

झारखंड के विभिन्न इलाकों में पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश से शनिवार से राहत मिलेगी। राज्य के ऊपर बने निम्न दबाव का असर अब कम होने लगा है। मौसम विभाग के अनुसार, अगले दाे दिन राज्य के अलग-अलग हिस्सों में हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश हाेने की संभावना है।

इसके साथ ही राज्य में एक अक्टूबर की बारिश ने 30 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। मौसम विभाग के अनुसार, एक अक्टूबर काे सामान्यत: 3.8 मिमी बारिश होनी चाहिए, लेकिन 28.9 मिमी बारिश हुई। यानी सामान्य से 660% अधिक।

रांची समेत झारखंड के विभिन्न जिलों में शुक्रवार को भी हल्के और मध्यम दर्जे की बारिश हुई। रांची में जहां 10.8 मिमी, वहीं सबसे ज्यादा 145 मिमी गिरिडीह में हुई। पिछले साल एक अक्टूबर काे 4.3 एमएम बारिश दर्ज की गई थी। वहीं 2013 में 14.3 और 2014 में 0.6 में बारिश हुई थी। है।

राज्य के विभिन्न हिस्सों में आज चल सकती है तेज हवा
हालांकि विभाग के द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार राज्य के विभिन्न हिस्सों में हल्के से मध्य दर्जे की बारिश के साथ मेघ गर्जन और वज्रपात की भी संभावना है। इसके साथ ही राज्य के विभिन्न जिलों में तेज हवा भी चल सकती है।

रांची में छात्रा की आत्हत्या के बाद सनसनी:लालपुर में अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग के 15वीं मंजिल से कूद कर दी जान, घटना के वक्त सोया रहा गार्ड, जांच में जुटी पुलिस

रांची में एक छात्रा की हत्या के बाद सनसनी फैल गई है। छात्रा लालपुर के अंडर कंस्ट्रक्शन एक बिल्डिंग से 15वीं मंजिल से छलांग लगा दी। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। मृतका की पहचान विनिता कुमारी के रूप में हुई है। वह बरियातू की रहने वाली है और संत जवियर्स कॉलेज से पढ़ाई कर रही है।

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और तफ्तीश में जुट गई है। खबर लिखे जाने तक आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल पाया है। शुरुआती सीसीटीवी फुटेज में बिना रोक-टोक के छात्रा को बिल्डिंग जाता हुआ देखा जा रहा है। वहां गार्ड है लेकिन सोये रहने के कारण किसी ने उससे कोई पूछताछ नहीं की है।

पुलिस ने कहा-हर बिंदु पर हो रही है जांच
सूचना मिलते ही लालपुर थाने की पुलिस दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जांच कर रही है। लालपुर थाना प्रभारी राजीव कुमार ने बताया कि शव को कब्जे में ले लिया गया है और पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेजा जा रहा है। लालपुर थाना प्रभारी ने कहा कि हर एक बिंदु पर जांच की जा रही है और काम कर रहे मजदूरों से इस मामले की पूछताछ की जाएगी।

रांची सदर अस्पताल के ठेकेदार को आखिरी मौका:झारखंड हाईकोर्ट ने कहा-30 अक्टूबर तक पूरा करें सारा काम, ठेकेदार ने कहा-94% काम कंप्लीट, कमेटी ने कहा- अभी भी 11% काम बाकी है

सदर अस्पताल में कंस्ट्रक्शन का काम कर रहे ठेकेदार को झारखंड हाईकोर्ट से आखिरी मौका मिला है। कोर्ट ने 30 अक्टूबर तक बाकी बचे सभी काम पूरा कर लेने का आदेश दिया है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत ने सदर अस्पताल के लिए गठित कमेटी को बीच में अस्पताल में चल रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण कर 21 अक्तूबर तक रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है।

गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान संयुक्त कमेटी ने अपनी निरीक्षण रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी। इसमें बताया गया कि अस्पताल का अभी 89 प्रतिशत काम ही पूरा हुआ है। ठेकेदार को 30 सितंबर तक सभी काम पूरा करने का निर्देश दिया गया था।

जबकि ठेकेदार की ओर से दावा किया गया कि अस्पताल का 94 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। इस पर अदालत ने नाराजगी जाहिर करते हुए ठेकेदार से कहा कि जब 30 सितंबर तक काम पूरा करने का समय दिया गया था तो समय पर काम पूरे क्यों नहीं किए गए। ठेकेदार ने कई तकनीकी कारणों का हवाला दिया और 30 अक्तूबर तक सभी काम पूरा करने का भरोसा दिलाया।

प्रार्थी ने काम पर उठाए सवाल
उधर जनहित याचिका दायर करने वाले ज्योति शर्मा ने संयुक्त कमेटी और ठेकेदार की रिपोर्ट को गलत बताया। प्रार्थी का कहना था कि अभी भी अस्पताल में कई काम बाकी हैं। इसे पूरा करने में काफी वक्त लगेगा। इस पर अदालत ने सरकार और ठेकेदार को प्रार्थी की ओर से उठाए गए बिंदुओं पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई 21 अक्तूबर को होगी।

रांची से बंगाल जाने वाले यात्रीगण ध्यान दें:​​​​​​​आसनसोल में जल जमाव और लैंड स्लाइड के कारण आसनसोल-रांची-आसनसोल मेमू ट्रेन रद्द, दक्षिण पूर्व रेलवे ने जारी की सूचना

गाल व झारखंड में लगातार हो रही बरिश का असर ट्रेन सेवा पर दिखने लगा है। इसके कारण रांची से बंगाल जाने वाली दो ट्रेन को गुरुवार को रद्द कर दिया गया है। दक्षिण पूर्व रेलवे की ओर से जारी सूचना के मुताबिक 63598/63597 आसनसोल-रांची-आसनसोल मेमू गुरुवार को रद्द रहेगी।

यह ट्रेन न तो आसनसोल से और न नही रांची से चलेगी। दोनों तरफ से छूटने वाली ट्रेन को रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा 03502/03501 आसनसोल-हल्दिया-आसनसोल स्पेशल ट्रेन आसनसोल और हल्दिया से रद्द रहेगी। रेल प्रबंधन के मुताबिक यह निर्णय भारी बारिश के कारण आसनसोल रेलवे स्टेशन हुए जलजमाव और लैंड स्लाइड के कारण लिया गया है। फिलहाल ट्रेन को एक दिन के लिए रद्द किया गया है।

कल से 14 पैंसेजर ट्रेन रांची से स्पेशल ट्रेन बनकर चलेंगी
काेराेना काल में केवल मेल और एकसप्रेस ट्रेन काे स्पेशल बनाकर अत्यधिक किराया वसूला जा रहा है। अब रांची रेल डिविजन ने एक अक्टूबर से 14 पैसेंजर ट्रेनों काे स्पेशल ट्रेन बना दिया है। ऐसा क्यों किया गया है, इस पर रांची डीआरएम प्रदीप गुप्ता भी स्पष्ट नहीं बता पाए।

इन पैसेंजर ट्रेनों काे स्पेशल ट्रेन के रूप में बदला गया है
बोकारो स्टील सिटी रांची पैसेंजर, रांची-बोकारोस्टील सिटी पैसेंजर, हटिया-राउरकेला पैसेंजर, राउरकेला-हटिया पैसेंजर, टाटानगर-हटिया पैसेंजर, हटिया-टाटा नगर पैसेंजर, रांची-लोहरदगा पैसेंजर, लोहरदगा-रांची पैसेंजर, रांची-टोरी पैसेंजर, टोरी से रांची पैसेंजर।

पर्यावरण:अमृत महोत्सव, 42 दिनी स्वच्छता जागरूकता अभियान शुरू

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में शनिवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तत्वाधान में आजादी के 75 वर्ष के बीच अमृत महोत्सव का आयोजन किया गया। इस मौके पर सुबह में मुख्य डाकघर से प्रभात फेरी निकाली गई। प्रभात फेरी कैसी चौक होते हुए व्यवहार न्यायालय परिसर पहुंची। प्रभात फेरी नाजरेथ विद्या निकेतन ,डीएवी पब्लिक स्कूल ,इंदुमती तेवड़ेवाल स्कूल ,कस्तुरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय, बालक उच्च विद्यालय और गर्ल हाई हाई स्कूल के बच्चे बच्चियां शामिल हुए। सभी ने महात्मा गांधी की जय ,भारत माता की जय, जब तक चांद सूरज रहेगा आंधी तेरा नाम रहेगा आदि नारा लगा रहे थे।

इसके बाद व्यवहार न्यायालय के कांफ्रेंस हॉल में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण कर अमृत महोत्सव का शुरुआत किया गया। माल्यार्पण करने वालों ने प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार सिंह, डीसी अंजली यादव, उतरी व दक्षिणी के डीएफओ, एडीजे प्रथम, एडीजे द्वितीय, सीजेएम,जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव मोहम्मद उमर, सदर एसडीओ, जिला अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष शक्ति कुमार सिंह ,सचिव सुबोध कुमार मिश्रा ,विजिटर अधिवक्ता जगन्नाथ पंडित सहित दर्जनों शिक्षक शिक्षिकाओं ने महात्मा गांधी चित्र पर माल्यार्पण किया ।कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश राकेश कुमार सिंह ने कहा कि अमृत महोत्सव के तहत सभी पीएलबी ,पैनल लॉयर जिला से लेकर प्रखंड में पंचायत और गांव में घर-घर जाकर कानून की जानकारी देंगे।

उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन के रूप में शुरूआत किया जा रहा है ।यह कार्यक्रम महात्मा गांधी के जन्मदिन से लेकर प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन तक चलाया जाएगा। हम लोग बापू की स्वच्छता के सपनों को पुरा करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जल स्वच्छ, हवा स्वच्छ, विचार और मिट्टी को स्वच्छ बनाना होगा। उन्होंने वन प्रमंडल पदाधिकारी को अधिक से अधिक संख्या में पेड़ लगा कर पर्यावरण को स्वच्छ बनाने की बात कही। डीसी और एसपी ने बच्चों को महात्मा गांधी के बारे पढ़ कर जानने और उसे अपने जीवन में उतारने की बात कही। मंच का संचालन विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव मोहम्मद उमर ने किया।

सुरक्षा पर सवाल:एनटीपीसी ने सरकार को लिखा पत्र, कहा-राज्य में काम करना हो रहा कठिन

नेशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन (एनटीपीसी) की पकरी-बरवाडीह कोयला खदान से खनन के लिए काम कर रही मेसर्स त्रिवेणी सैनिक माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन प्रभाकरण से वाट्सएप पर रंगदारी मांगी गई है। रंगदारी नहीं देने पर उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है।

यह धमकी जेल में बंद गैंगस्टर अमन साव के शूटर मयंक सिंह ने दी है। एनटीपीसी ने झारखंड में स्थापित अपनी सभी परियोजनाओं में कहीं अपराधी, तो कहीं विस्थापितों द्वारा डाले जा रहे व्यवधान से परेशान होकर राज्य सरकार को पत्र लिखकर सहयोग करने का आग्रह किया है।

एनटीपीसी ने अनुरोध किया है कि संबंधित अधिकारियों को विशेष दिशा-निर्देश दिया जाए, ताकि क्षेत्र में शांति-व्यवस्था के बीच उसके कर्मचारी काम कर सकें। एनटीपीसी के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (कोयल माइनिंग) पार्था मजूमदार ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर सहयोग मांगते हुए कहा है कि एनटीपीसी लिमिटेड को हजारीबाग में चार कोल माइंस आवंटित है। इनमें पकरी-बरवाडीह ही चालू हालत में है, जहां त्रिवेणी सैनिक माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड खनन के लिए अधिकृत है।

हजारीबाग में कुछ माह से लगातार डाले जा रहे व्यवधान : पार्था

एनटीपीसी के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (कोयल माइनिंग) पार्था मजूमदार ने मुख्य सचिव को लिखे पत्र में कहा है कि एनटीपीसी की पकरी-बरवाडीह के अलावा केरेडारी, चट्टी बरियातू और बादाम की कोल माइंस भी संचालन की स्थिति में है। उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि पिछले कुछ महीनों से एनटीपीसी की सभी परियोजनाएं, जो हजारीबाग में संचालित हैं, वहां आये दिन व्यवधान डाले जाने से एनटीपीसी के कर्मियों व सहयोगी कंपनियों के कर्मियों के कार्य पर नकारात्मक असर पड़ रहा है। इससे कोयला उत्पादन भी प्रभावित हो रहा है।

कुछ दिन पहले भाजपा नेता से मांगी थी रंगदारी

अमन साव गिरोह के गुर्गे मयंक सिंह ने कुछ दिन पहले भाजपा नेता रमेश सिंह से दो करोड़ की रंगदारी मांगी थी। पुलिस अभी इस मामले की जांच कर ही रही है कि अब मयंक सिंह ने एनटीपीसी की सहायक कंपनी से रंगदारी मांग कर उसे चुनौती दे दी है।

राज्य के 7 जिलों में अमन गैंग का आतंक

होटवार जेल से अपने गिरोह का संचालन कर रहा गैंगस्टर अमन साव

​​​​​​​रांची पुलिस ने पिछले साल 20 जुलाई को गैंगस्टर अमन साव को गिरफ्तार किया था। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा के नेतृत्व में पुलिस की टीम ने उसे उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया था, तब से वह लगातार बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा होटवार में बंद है। लेकिन, जेल के अंगर से ही वह अपने गिरोह का संचालन कर रहा है। उस पर राज्य के अलग-अलग जिलों में 49 मामले दर्ज हैं। सात जिलों में तो वह आतंक मचाए हुए है। कोयलांचल में वह अब गैंगस्टर सुजीत सिन्हा का साथ छोड़कर अकेले दम पर रंगदारी वसूल रहा है।

झारखंड पुलिस के लिए परेशानी का सबब

पुलिस अमन साव गिरोह पर लगाम कसने में अबतक रही है असफल

जेल में होने के बावजूद कुख्यात अमन साव झारखंड पुलिस के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। पुलिस उसके गिरोह पर नियंत्रण नहीं लगा पा रही है। राज्य के कोयला कारोबारी, बिल्डर, व्यवसायी से लेकर यहां काम करनेवाली सरकारी कंपनियों के अधिकारियों से भी वह रंगदारी मांगने लगा है। हजारीबाग के बड़कागांव थाना से 27 सितंबर 2019 को फरार हुए गैंगस्टर अमन साव को पुलिस ने बिहार के कटिहार से पकड़ा था, उस समय झारखंड पुलिस ने राहत की सास ली थी। लेकिन, जेल जाने के बाद भी उसका गैंग सक्रिय रहा और अब को प्रतिदिन उसके गैंग का उत्पात जारी है

पलामू में 3 लुटेरा गिरफ्तार:13 दिन पहले सरेराह एजेंट को बनाया था निशाना, गिरफ्तार अपराधी लूट और चोरी की घटना में पहले भी जा चुके हैं जेल

पलामू पुलिस ने 13 दिन पहले एजेंट से हुई लूटकांड की गुत्थी सुलझा ली है। गुरुवार को इस मामले में 3 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अपराधियों के घर से घटना में प्रयुक्त बिना नंबर का चोरी का बाइक बरामद हुआ है। इनकी निशानदेही पर लुटा गया मोबाइल फोन और बैग रबदा के भलही जंगल से मिला है। घटना में शामिल दो अपराधी फरार हैं।

चैनपुर थाना प्रभारी उदय गुप्ता ने बताया कि मामले में गिरफ्तार अपराधी संजय चौधरी चढ़नवा का ही रहने वाला है। वह कम्पनी का ऋणधारक भी है। उसे एजेंट की पूरी गतिविधि की जानकारी थी। उसे पता था कि एजेंट गोपाल बड़ी रकम लेकर इलाके से जाता है।

दोस्तों के साथ मिलकर लूट कांड को दिया अंजाम

इसके बाद संजय ने अपने साथियों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया। इस लूटकांड को अंजाम देने के लिए अपराधियों ने गढ़वा से बाइक चोरी की थी। गिरफ्तार अपराधियो में संजय के अलावे अनिल चौधरी और रवि कुमार पाल शामिल हैं। रवि मोटरसाइकिल चोरी के मामले में दो बार जेल जा चुका है।

मेदिनीनगर-गढ़वा मुख्य मार्ग पर ही बनाया था निशाना

पंडवा थानाक्षेत्र के टांड़पतरा का रहने वाला एजेंट गोपाल कुमार लोन के पैसा का रिकवरी कर चैनपुर के चढ़नवा से लौट रहा था। इसी दौरान मेदिनीनगर-गढ़वा मुख्य मार्ग पर स्थित यादव होटल के पास दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने ओवरटेक कर एजेंट को रोका और इसके बाद हथियार के बल पर 1,57000 रुपया लूट लिया था। साथ ही एजेंट का मोबाइल फोन और उसका बैग भी लूट लिया था।

रांची सदर अस्पताल के ठेकेदार को आखिरी मौका:झारखंड हाईकोर्ट ने कहा-30 अक्टूबर तक पूरा करें सारा काम, ठेकेदार ने कहा-94% काम कंप्लीट, कमेटी ने कहा- अभी भी 11% काम बाकी है

मिला है। कोर्ट ने 30 अक्टूबर तक बाकी बचे सभी काम पूरा कर लेने का आदेश दिया है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत ने सदर अस्पताल के लिए गठित कमेटी को बीच में अस्पताल में चल रहे निर्माण कार्य का निरीक्षण कर 21 अक्तूबर तक रिपोर्ट पेश करने का निर्देश दिया है।

गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान संयुक्त कमेटी ने अपनी निरीक्षण रिपोर्ट कोर्ट को सौंपी। इसमें बताया गया कि अस्पताल का अभी 89 प्रतिशत काम ही पूरा हुआ है। ठेकेदार को 30 सितंबर तक सभी काम पूरा करने का निर्देश दिया गया था।

जबकि ठेकेदार की ओर से दावा किया गया कि अस्पताल का 94 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। इस पर अदालत ने नाराजगी जाहिर करते हुए ठेकेदार से कहा कि जब 30 सितंबर तक काम पूरा करने का समय दिया गया था तो समय पर काम पूरे क्यों नहीं किए गए। ठेकेदार ने कई तकनीकी कारणों का हवाला दिया और 30 अक्तूबर तक सभी काम पूरा करने का भरोसा दिलाया।

प्रार्थी ने काम पर उठाए सवाल
उधर जनहित याचिका दायर करने वाले ज्योति शर्मा ने संयुक्त कमेटी और ठेकेदार की रिपोर्ट को गलत बताया। प्रार्थी का कहना था कि अभी भी अस्पताल में कई काम बाकी हैं। इसे पूरा करने में काफी वक्त लगेगा। इस पर अदालत ने सरकार और ठेकेदार को प्रार्थी की ओर से उठाए गए बिंदुओं पर जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया। मामले की अगली सुनवाई 21 अक्तूबर को होगी।

झारखंड में 3 अक्टूबर तक बारिश के आसार:पश्चिम बंगाल से सटे 10 जिलों में भारी बारिश के आसार, रांची में 2 दिन में 4 डिग्री सेल्सियस गिरा पारा

बंगाल की खाड़ी में बने निम्न दबाव के असर से झारखंड में गुरुवार को राज्य के सभी 24 जिलों में बारिश होगी। बुधवार से राज्य के अलग-अलग हिस्सों में बारिश शुरू हो गई थी। निम्न दबाव प. बंगाल से धनबाद होते हुए गुजरा है।

गुरुवार को इसका असर पूरे राज्य में दिखने के आसार हैं। भारतीय माैसम विज्ञान केंद्र रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि आज राज्य के सभी 24 जिलों में बारिश हाेगी। उन्होंने बताया कि 30 सितंबर से 3 अक्टूबर तक बारिश के आसार हैं।

वहीं, पश्चिम बंगाल से सटे झारखंड के इलाके देवघर, धनबाद, दुमका, गिरिडीह, गोड्डा, जामताड़ा, पाकुड़ व साहिबगंज समेत पूर्वी-पश्चिमी सिंहभूम, सिमडेगा व सरायकेला-खरसावां के अलावा राज्य के पश्चिमी हिस्से पलामू, चतरा, गढ़वा, कोडरमा, लातेहार व लोहरदगा में कुछ जगहों पर भारी बारिश की संभावना है।

रांची में 7 मिमी बारिश हुई, 4 डिग्री सेल्सियस गिरा पारा

बुधवार को धनबाद में सबसे अधिक 70 मिमी बारिश हुई। वहीं रांची में 7 और जमशेदपुर में 9 मिमी बारिश दर्ज की गई। रांची में लगातार बारिश से तापमान में गिरावट का दौर जारी है। बारिश के कारण रांची के उच्चतम पारे में तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को रांची का अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस था जो जो अब घटकर में 26.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है।

फिर बदल गई कांटा टोली फ्लाई ओवर की लंबाई:अब कोकर के शांति नगर से योगदा मठ तक 2224 मीटर लंबा बनेगा कांटा टोली फ्लाई ओवर, 8 साल में तीसरी बार बनी DPR, 224.94 करोड़ होंगे खर्च

रांची में बहुप्रतीक्षित कांटा टोली फ्लाई ओवर के निर्माण में एक बार फिर से संशोधन किया गया है। नए संशोधन में इसकी लंबाई को भी बढ़ा दिया गया है। अब 2224 मीटर लंबा होगा, जो पुरानी DPR से लगभग 850 मीटर लंबा होगा। मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इसकी स्वीकृति दे दी गई है।

नई DPR के मुताबिक, इसे अब कोकर के शांति नगर से बहू बाजार होते हुए योगदा सत्संग मठ तक बनाया जाएगा। इसमें अब 224.94 करोड़ रुपए खर्च होंगे। पहले इसे कोकर स्थित शांति नगर से खादगढ़ा बस स्टैंड के थोड़ा आगे तक बनना था। नई DPR में इसे 24 महीने के भीतर पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है।

7 महीने पहले एजेंसी ने दिया था प्रेजेंटेशन

परामर्शी एजेंसी NL मालविया प्रा.लि. ने नगर विकास आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे के समक्ष फिजिब्लिटी रिपोर्ट का प्रेजेंटेशन दिया। Le। सचिव ने इस पर संतुष्टि जताई थी। साथ ही नई DPR जल्द बनाने और निर्माण शुरू करने का निर्देश दिया था।

फ्लाई ओवर में क्या होगा खास

प्रेजेंटेशन में बताया गया है कि कांटा टोली फ्लाई ओवर फोरलेन का होगा, जिसमें रेलिंग व डिवाइडर को मिलाकर सड़क की चौड़ाई 16.6 मीटर होगी। कुल लंबाई 2224 मीटर होगी। सुगम यातायात के लिए कांटा टोली चौक के जंक्शन के विकास का भी प्रावधान किया है। वहीं, खादगढ़ा बस स्टैंड के पास फ्लाई ओवर से दोनों ओर सड़क नीचे उतरेगी, ताकि बस स्टैंड जाने वाले लोगों को सहूलियत हो सके।

पहली बार 2012 में बनी थी फ्लाई ओवर की DPR

2012- अर्जुन मुंडा सरकार के कार्यकाल में पहली DPR बनी। 2015- रघुवर दास सरकार के कार्यकाल में दूसरी बार बनाई गई। 2021- अब हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल में तीसरी बार बनेगी।

मौसम का मिजाज:आज से करवट लेगा झारखंड का मौसम, अगले दो दिनों तक राज्य के 10 जिलों में भारी बारिश की संभावना, येलो अलर्ट जारी

झारखंड में मंगलवार से मौसम करवट लेगा। मौसम विभाग के मुताबिक, राज्य के कई हिस्सों में आज भारी बारिश हो सकती है। इसके मद्देनजर येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि यह स्थिति अगले दो दिनों तक बनी रह सकती है।

मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन के निम्न दबाव के क्षेत्र में और इसके बाद डीप डिप्रेशन में बदलने की वजह स मौसम में यह बदलाव आ रहा है।

बंगाल की खाड़ी में बने साइक्लोनिक सरकुलेशन के चलते मंगलवार से सिंहभूम, सिमडेगा, सराकेला-खरसावां , रांची, खूंटी, बोकारो, गुमला, हजारीबाग, रामगढ़ और इसके आसपास के इलाके में कुछ जगह पर भारी बारिश हो सकती है।

पिछले 24 घंटे में कैसा रहा राज्य का मौसम

वहीं, पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में मानसून की स्थिति सामान्य रही। राज्य में सबसे ज्यादा बारिश गढ़वा में 40.5 मिमी रिकार्ड की गई। सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान 37.4 डिग्री सेल्सियस गढ़वा में रिकार्ड किया गया। राज्य में सबसे कम न्यूनतम तापमान चाईबासा में 21.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

 

रांची सदर अस्पताल के ठेकेदार को आखिरी मौका:झारखंड हाईकोर्ट ने कहा-30 अक्टूबर तक पूरा करें सारा काम, ठेकेदार ने कहा-94% काम कंप्लीट, कमेटी ने कहा- अभी भी 11% काम बाकी है

3 साल में ही धीरज तनेजा झारखंड चैंबर के ’सुप्रीमो’:20 साल के अनुभव वाले किशोर मंत्री कार्यकारिणी सदस्य रहेंगे, 21 सदस्यीय टीम का औसत अनुभव 10 साल से ज्यादा

फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (FJCCI) के सत्र 2021-22 के चुनाव नतीजे की घोषणा मंगलवार देर शाम की गई। इसमें टीम धीरज तनेजा के 18 मेंबर और निर्दलीय के 3 मेंबर विजयी रहे हैं। इसके बाद लगभग यह तय हो गया है कि धीरज तनेजा झारखंड चैंबर के नए अध्यक्ष होंगे। इसकी अधिकारिक घोषणा जल्द कर दी जाएगी।

झारखंड के सबसे बड़े व्यवससायी संस्था झारखंड चैंबर में धीरज तनेजा मात्र 3 साल पुराने हैं। 2018-19 के चुनाव में पूर्व अध्यक्ष दीपक मारू ने उन्हें अपनी टीम में शामिल किया था। इसके बाद वे कुणाल आजमानी की टीम में महासचिव व प्रवीण जैन छावड़ा की टीम में उपाध्यक्ष और अब चैंबर के सुप्रीमो होंगे।

जबकि इनकी टीम की औसत अनुभव को देखा जाए तो ये 10 साल से ज्यादा का है। इनकी कार्यकारिणी में किशोर मंत्री और सोनी मेहता जैसे सदस्य भी शामिल हैं जिनका झारखंड चैंबर में 15 साल से ज्यादा का अनु‌भव हैं। इसके अलावा राहुल साबू, राम बांगड़, दीनदयाल वर्णवाल, नवजोत अलंग जैसे अनुभवी सदस्य भी शामिल हैं।

नए चेहरे ने भी दिखाई अपनी ताकत
चैंबर चुनाव में पहली दफा उतरे डॉ. अभिषेक और अनीस बुधिया नए चेहरे हैं। डॉ. अभिषेक चैंबर के पूर्व कार्यकारिणी सदस्य रहे स्वर्गीय आरडी सिंह के पुत्र हैं। वहीं, अनीस बुधिया चैंबर के पूर्व अध्यक्ष अरुण बुधिया के पुत्र हैं। प्रवीण लोहिया पांच चुनाव लड़े हैं, जिसमें तीन बार विजयी हुए हैं। निर्दलीय रोहित पोद्दार, बिमल फोगला, जसविंदर सिंह, विनोद बख्शी, अनीस सिंह, श्रवण सिंह, विवेक अग्रवाल आदि चूक गए।

ये रहे विजयी
धीरज तनेजा, राहुल मारू किशोर मंत्री, राम बांगड़ राहुल साबू, सोनी मेहता आदित्य मल्होत्रा, रोहित अग्रवाल, मनीष सर्राफ, विकास विजयवर्गीय, दीनदयाल वर्णवाल, अनिल अग्रवाल, नवजोत अलंग, मुकेश कुमार अग्रवाल, प्रवीण लोहिया, अमित शर्मा, सुमित जैन, अनीश बुधिया,परेश गट्टानी, डॉ अभिषेक के रामाधीन।

विवि में घंटी आधारित शिक्षकों की अवधि बढ़ाई गई:झारखंड कैबिनेट ने लिया निर्णय, राज्य में 25 नए MVI की होगी नियुक्ति, रांची के सुकुरहुट्‌टू में  113 करोड़ से बनेगा ट्रांसपोर्ट नगर

राज्य के विभिन्न विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में घंटी आधारित शिक्षकों को सेवा विस्तार दे दिया गया है। 31 मार्च 2022 तक विश्वविद्यालय में घंटी आधारित शिक्षकों की सविंदा बढ़ाई गई है। मंगलवार को आयोजित झारखंड कैबिनेट की बैठक में इसे स्वीकृति दे दी गई है। 30 सितंबर को इनकी संविदा समाप्त हो रही थी।

साथ ही कैबिनेट की बैठक में राज्य में 25 नए मोटर यान निरीक्षक (MVI) की नियुक्ति का निर्णय लिया है। राज्य में 24 पहले से ही कार्यरत हैं। MVI की नियुक्ति के लिए जिले को A, B और C तीन कैटेगरी में बांटा गया है। A में 3, B में 2 और C में 1 की नियुक्ति की जाएगी।

कैबिनेट की बैठक में रांची के कांके थाना क्षेत्र के सुकुरहुटू में ट्रांसपोर्ट नगर के निर्माण को स्वीकृति दे दी गई। CM हेमंत सोरेन पहले ही इसे अपनी मंजूरी दे चुके हैं। सुकुरहाटू में 48 एकड़ भूमि में EPC मॉडल पर ट्रांसपोर्ट नगर तैयार किया जाएगा। इसे 113 करोड़ 24 लाख रुपए से तैयार किया जाएगा।

कैबिनेट के अन्य महत्वपूर्ण निर्णय

1. देवघर के दुम्मा में आवासीय कॉलोनी विकसित करने के लिए नगर विकास व आवास विभाग के पक्ष में हस्तांतरित 58 एकड़ प्रति कदीम भूमि को झारखंड राज्य आवास बोर्ड, रांची को निशुल्क हस्तांतरण किए जाने की स्वीकृति दी गई।
2. सरायकेला-खरसावां के चांडिल अनुमंडल में अनुमंडलीय न्यायालय के गठन करने की स्वीकृति दी गई।
3. खूंटी के कर्रा में 2.34 एकड़ भूमि पर जवाहर नवोदय विद्यालय की स्थापना की जाएगी। इसके लिए नवोदय विद्यालय समिति, मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्ली के साथ निशुल्क पूरक भू-हस्तांतरण की स्वीकृति दी गई।
4. वर्ल्ड एक्सपो 2021 दुबई में राज्य की भागीदारी 30 सितंबर से 6 अक्टूबर 2021 को करने के लिए E&Y को इवेंट पार्टनर मनोनीत किया गया।

फिर बदल गई कांटा टोली फ्लाई ओवर की लंबाई:अब कोकर के शांति नगर से योगदा मठ तक 2224 मीटर लंबा बनेगा कांटा टोली फ्लाई ओवर, 8 साल में तीसरी बार बनी DPR, 224.94 करोड़ होंगे खर्च

रांची में बहुप्रतीक्षित कांटा टोली फ्लाई ओवर के निर्माण में एक बार फिर से संशोधन किया गया है। नए संशोधन में इसकी लंबाई को भी बढ़ा दिया गया है। अब 2224 मीटर लंबा होगा, जो पुरानी DPR से लगभग 850 मीटर लंबा होगा। मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में इसकी स्वीकृति दे दी गई है।

नई DPR के मुताबिक, इसे अब कोकर के शांति नगर से बहू बाजार होते हुए योगदा सत्संग मठ तक बनाया जाएगा। इसमें अब 224.94 करोड़ रुपए खर्च होंगे। पहले इसे कोकर स्थित शांति नगर से खादगढ़ा बस स्टैंड के थोड़ा आगे तक बनना था। नई DPR में इसे 24 महीने के भीतर पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है।

7 महीने पहले एजेंसी ने दिया था प्रेजेंटेशन

परामर्शी एजेंसी NL मालविया प्रा.लि. ने नगर विकास आवास विभाग के सचिव विनय कुमार चौबे के समक्ष फिजिब्लिटी रिपोर्ट का प्रेजेंटेशन दिया। Le। सचिव ने इस पर संतुष्टि जताई थी। साथ ही नई DPR जल्द बनाने और निर्माण शुरू करने का निर्देश दिया था।

फ्लाई ओवर में क्या होगा खास

प्रेजेंटेशन में बताया गया है कि कांटा टोली फ्लाई ओवर फोरलेन का होगा, जिसमें रेलिंग व डिवाइडर को मिलाकर सड़क की चौड़ाई 16.6 मीटर होगी। कुल लंबाई 2224 मीटर होगी। सुगम यातायात के लिए कांटा टोली चौक के जंक्शन के विकास का भी प्रावधान किया है। वहीं, खादगढ़ा बस स्टैंड के पास फ्लाई ओवर से दोनों ओर सड़क नीचे उतरेगी, ताकि बस स्टैंड जाने वाले लोगों को सहूलियत हो सके।

पहली बार 2012 में बनी थी फ्लाई ओवर की DPR

2012- अर्जुन मुंडा सरकार के कार्यकाल में पहली DPR बनी। 2015- रघुवर दास सरकार के कार्यकाल में दूसरी बार बनाई गई। 2021- अब हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल में तीसरी बार बनेगी।

सहायक पुलिसकर्मियों ने रांची में फिर डाला डेरा:SSP के आदेश के बाद भी शहर में एंट्री से नहीं रोक पाई पुलिस, मोरहाबादी इलाके में 1000 अतिरिक्त पुलिस बल तैनात

संविदा पर नियुक्त सहायक पुलिसकर्मी एक बार फिर से मोरहाबादी पहुंचने लगे हैं। पिछले साल इनके उग्र प्रदर्शन को देखते हुए SSP ने इन्हें रांची में एंट्री ही नहीं देने की तैयारी की थी। सभी सीमाई थानों को निर्देश दिया गया था कि इन्हें रांची आने से रोकें, लेकिन अपने निर्धारित तिथि 27 सितंबर को यह मोरहाबादी मैदान पहुंच गए हैं।

इन्होंने अपनी मांगे पूरी नहीं होने के विरोध में आंदोलन की घोषणा की है। साथ ही ये CM हाउस का भी घेराव भी करेंगे। इसे ध्यान में रखते हुए SSP के आदेश के बाद पूरे मोरहाबादी इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया है। यहां 1000 से अतिरिक्त पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। यहां RAP और JAP के महिला बटालियन की भी तैनाती की गई है।

पुलिस की हर योजना पर फेर दिए पानी

राज्य के 12 जिला में संविदा पर बहाल हुए 2500 सहायक पुलिसकर्मी को काफी प्रयास के बाद भी रांची पुलिस मोरहाबादी पहुंचने से नहीं रोक पाई। विभिन्न जिलों से राजधानी में पहुंचने वाले पथ पर बैरिकेडिंग की गई थी। रात से ही काफी संख्या में पुलिस बल के जवानों की तैनाती की गई थी, लेकिन इसके बाद भी सहायक पुलिस कर्मियों को रोकने में रांची पुलिस पूरी तरह से विफल साबित हुई।

क्यों आंदोलन कर रहे हैं सहायक पुलिसकर्मी

पलामू, गढ़वा, चतरा, लातेहार, खूंटी सिमडेगा, गिरिडीह, पश्चिमी सिंहभूम, गुमला, लोहरदगा सहित 12 जिलों के 2269 सहायक पुलिसकर्मियों की दलील है कि 2017 में जिलावार लिखित परीक्षा और फिजिकल -मेडिकल पास करने के बाद उनकी बहाली हुई थी। उस समय यह कहा गया था कि तीन साल की सेवा के बाद जिला पुलिस में बहाली होगी। सरकार बदलते ही इनका संविदा रद्द कर दिया गया। प्रदर्शन के बाद 1 साल के लिए बढ़ाया गया था। अब इनका आरोप है कि सरकार इनके साथ वादाखिलाफी की है।

मोरहाबादी में चारों ओर से की गई बैरिकेडिंग
मोरहाबादी में चारों तरप पुलिस ने बैरिकेडिंग कर दी है। बैरिकेडिंग किए गए सभी स्थानों पर पुलिस बल के जवानों को तैनात किया गया है। वाहन सवार आने-जाने वाले लोगों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इस बात का भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है।

भारत बंद और विभिन्न और जुलूस की सूचना पर अलर्ट थी पुलिस
भारत बंद और कुर्मी विकास मोर्चा का पद यात्रा समेत विभिन्न प्रकार के जुलूस निकाले जाने की सूचना के बाद रांची पुलिस पहले से ही सुरक्षा की पूरी तैयारी कर ली थी। बंद समर्थकों और पदयात्रा में शामिल होने वाले लोगों से आम लोगों को किसी प्रकार की कोई परेशानी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा गया था। पदयात्रा में शामिल होकर रांची पहुंचने वाले लोगों को करम टोली चौक पर ही रोक दिया गया था।

 

 

काउंटिंग सेंटर के अंदर मोबाइल लेकर घुसे लोगों की पिटाई:गया में मतगणना केंद्र पर पहुंचे लोगों को पुलिस के जवानों ने खदेड़ कर पीटा, जांच के बावजूद सेंटर के अंदर मोबाइल लेकर घुस गए थे प्रत्याशी समर्थक

गया में मतगणना केंद्र पर मोबाइल लेकर पहुंचे लोगों की पुलिस ने जमकर पिटाई की। पुलिस का कहना है कि मोबाइल के साथ प्रवेश वर्जित है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब मोबाइल वर्जित है तो वे इतनी कड़ी सुरक्षा के बीच वे प्रवेश कैसे कर गए। मोबाइल के साथ प्रवेश करने वाले इक्का-दुक्का नहीं बल्कि सैंकड़ो की संख्या में है। उन सभी को पुलिस के जवान ढूंढ कर एक टेंट में ले जा कर पीट रहें है।

यही नहीं पुलिस के जवान फोटो ले रहे दैनिक भास्कर के संवाददाता के साथ भी भिड़ने को आमादा हो गए। कहने लगे फोटो क्यों लिया। ऐसा मत करो। इस पर भास्कर संवाददाता ने कहा कि आप अपना काम कीजिए और हमें अपना काम करने दीजिए, यह बात सुनते ही वह बुदबुदाते हुए आंखें तरेर चलता बना।

मतगणना केंद्र पर मोबाइल के साथ प्रवेश वर्जित है। लेकिन इस बात की जांच मुख्य प्रवेश द्वार पर नहीं की गई। प्रवेश पत्र प्राप्त लोगों को धड़ल्ले से जाने दिया गया। लेकिन जैसे ही सिटी एसपी राकेश कुमार मतगणना केंद्र कर अंदर पहुंचे, वे लोगों के हाथ मर मोबाइल फोन देख कर भड़क गए। उन्होंने मोबाइल वालों को बाहर भेजने का मौखिक फरमान जारी कर दिया। इसके बाद पुलिस के जवान सक्रिय हो गए। पुलिस के अनुसार, मतगणना केंद्र के अंदर मोबाइल ले जाने पर मनाही है। जो लोग नियम की अनदेखी कर रहे हैं उनपर कार्रवाई की है।

जातीय जनगणना को लेकर गोलबंदी:लालू से मिले झारखंड के CM हेमंत सोरेन, इसे अहम मुलाकाता माना जा रहा; सीएम ने बताया औपचारिक मुलाकात

जातीय जनगणना को लेकर देश में राजनीतिक घटनाक्रम लगातार बदल रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने एक बार फिर जातीय जनगणना नहीं कराने की बात कही, जिसके बाद विपक्षी पार्टियों में उबाल आ गया है। इसे लेकर अब सभी क्षेत्रीय दल गोलबंदी करने में लगे हैं। इसी बीच झारखंड के CM हेमंत सोरेन का दिल्ली में RJD सुप्रीमो लालू यादव से मिलना आगे की रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।

हालांकि हेमंत सोरेन ने रविवार को ट्विटर पर इसे महज एक औपचारिक मुलाकात बताया है। हेमंत सोरेन ने लिखा है कि कल रात दिल्ली में राजद सुप्रीमो और मेरे अभिभावक स्वरूप आदरणीय श्री @laluprasadrjd जी से मुलाकात कर उनका कुशलक्षेम पूछा। परमात्मा आपको उत्तम स्वास्थ्य और दीर्घायु प्रदान करें यही कामना करता हूं।

बताया जा रहा है कि पिछले दिनों तेजस्वी यादव रांची दौरे पर थे तो जातीय जनगणना को लेकर उन्होंने खास तौर पर हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी। इसी को लेकर रविवार को हेमंत सोरेन 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के साथ प्रधानमंत्री के साथ मिलने वाले हैं।

जातीय जनगणना को लेकर दो दिन पहले RJD सुप्रीमो ने अपने ट्विटर पर बड़ा बयान दिया था। उन्होंने लिखा था कि ‘BJP-RSS पिछड़ा/अति पिछड़ा वर्ग के साथ बहुत बड़ा छल कर रहा है। केंद्र सरकार जनगणना फॉर्म में एक अतिरिक्त कॉलम जोड़कर देश की कुल आबादी के 60 फीसदी से ज्यादा लोगों की गणना नहीं कर सकती तो धिक्कार है। ऐसे लोगों का सामूहिक सामाजिक बहिष्कार हो। इसी को लेकर 23 अगस्त को CM नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव सहित कई पार्टियों के प्रतिनिधि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिले थे और जाति-जनगणना कराने की मांग की थी।

UPSC टॉपर शुभम का पैतृक गांव:संसाधन नहीं होने की वजह से पिता ने बाहर पढ़ने के लिए भेजा, दूसरी क्लास तक गांव के ही स्कूल में की है पढ़ाई

UPSC टॉपर शुभम कुमार कटिहार जिला के कदवा प्रखंड अंतर्गत कुम्हरी गांव के रहने वाले हैं। शुभम की जब प्राथमिक शिक्षा शुरू हुई तो गांव में शिक्षित लोग न के बराबर थे। गांव में सिर्फ एक सरकारी स्कूल था, यहां संसाधनों की काफी कमी थी। ऐसे में पिता ने शुभम को बाहर भेजा, जहां जी-तोड़ मेहनत कर शुभम ने IAS बनने तक का सफर तय कर लिया, हालांकि शुभम के गांव की स्थितियां अब कुछ बेहतर हो गई है। कदवा प्रखंड क्षेत्र की जनसंख्या करीब एक लाख से अधिक है।

शिक्षा, स्वास्थ्य के लिए 50 KM दूर तक जाना पड़ता था। गांव में पढ़ाई की भी उचित सुविधा नहीं थी। लोग बड़ी ही मुश्किल से कच्ची सड़क पर हिचकोले खाते कटिहार और पूर्णिया तक पहुंच पाते थे। शुभम कुमार के पिता देवानंद सिंह ने दैनिक भास्कर को बताया कि शुभम ने जो लक्ष्य रखा था, उसने उसे पा लिया, हालांकि शुभम को हम तभी सफल मानेंगे, जब वह देश और समाज के लिए काम करेगा। वह अपने पद की जिम्मेदारी पूरी ईमानदारी और निष्ठा पूर्वक वहन करें, हमारी यही इच्छा है।

UPSC टॉपर के माता-पिता से EXCLUSIVE बातचीत

शुभम ने क्लास टू तक गांव के ही स्कूल में पढ़ाई की। उसके बाद शुभम को पढ़ाई के लिए पटना भेज दिया गया। पटना में शुभम ने 5 क्लास तक की पढ़ाई की फिर पूर्णिया के परोरा स्थित विद्या बिहार आवासीय स्कूल में कक्षा छह से लेकर मैट्रिक तक पढ़ाई की। जिस समय शुभम ने प्राथमिक शिक्षा की शुरुआत की, उस समय गांव की हालत बेहद खराब थी।

शुभम जिस प्रखंड के, वहां आज भी शिक्षा की कमी
कटिहार और पूर्णिया से गांव में जाने के लिए पक्की सड़क नहीं थी। कच्ची सड़क होने के कारण यातायात सुविधा की भी काफी कमी थी। गांव में स्वास्थ्य व्यवस्था नहीं होने से लोगों को इलाज के लिए कटिहार या पूर्णिया जाना पड़ता था। शुभम जिस कदवा प्रखंड क्षेत्र से है, वहां आज भी शिक्षा की कमी है, हालांकि शुभम के परिवार में सभी लोग शिक्षित हैं। उनके दादा खुद सरकारी स्कूल में शिक्षक थे। पिता बैंक अधिकारी हैं और शुभम की बड़ी बहन सुरभि कुमारी इंदौर में साइंटिस्ट हैं। परिजनों ने बताया कि शुभम के बहुत ही कम दोस्त है। उन्हें ज्यादा घूमना या बातें करना पसंद नहीं है। शुभम को टीवी या फिल्म देखना भी पसंद नहीं है। उन्होंने हमेशा पढ़ाई को अपना लक्ष्य बनाया।

जातीय जनगणना पर JDU की ‘वेट एंड वॉच’ पॉलिसी:जातीय जनगणना को लेकर तेजस्वी विपक्षी नेताओं को एकजुट कर रहे हैं, वहीं JDU और मांझी को PM मोदी से अब भी उम्मीद

केंद्र सरकार ने एक बार फिर जातीय जनगणना करवाने से इनकार कर दिया है। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि वह ऐसा कोई निर्देश न दे, जिसमें 2021 की जनगणना में OBC को शामिल किया जाए। केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में दलील दी है कि पिछड़े वर्ग की जातिगत जनगणना कराना प्रशासनिक रूप से कठिन और जटिल काम है।

इस मसले को लेकर बिहार की राजनीति तेज हो गई है। केंद्र सरकार के इस निर्णय के बाद बिहार का सत्तारूढ़ दल JDU अभी अपनी मांग पर टिका है। उनका मानना है कि ये कोई अंतिम निर्णय नहीं है। वहीं, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव सभी विपक्षी पार्टियों को एकजुट कर रहे हैं। पूर्व CM जीतनराम मांझी को उम्मीद है कि केंद्र सरकार जातीय जनगणना कराएगी।

JDU के प्रवक्ता अभिषेक झा बताते हैं- ‘यह कोई अंतिम निर्णय नहीं है। हमारी मांग जातीय जनगणना की रही है। इसको लेकर हम लगातार अपनी मांगों को चरणबद्ध तरीके रख रहे हैं। हमें उम्मीद है कि केंद्र सरकार इसको लेकर गंभीरता विचार करेगी, क्योंकि PM नरेंद्र मोदी ने हमारी बातों को ध्यान से सुना है।’

सामाजिक न्याय के मसीहा ने ध्यान नहीं दिया: BJP

BJP प्रदेश प्रवक्ता मनोज शर्मा ने कहा- ‘बिहार की राजनीति में सामाजिक न्याय की मुख्य समस्या यह है कि उसका लाभ जिन वर्गों को मिला, वह सामाजिक न्याय के नाम पर तमाम नकारात्मक राजनीतिक कार्यशैली को उसी तरह से समर्थन देने लगे जैसे उनके जाते ही उनके शोषण और दमन को नए सिरे से परिभाषित किया जाने लगेगा। पिछड़ों और दलित राजनीति का सबसे नकारात्मक पक्ष यह रहा कि उसकी नेतृत्व और सम्मान की भूख को सामाजिक न्याय के मसीहा ने अपने हितों में भुनाना शुरू कर दिया।’

पिता की खैनी की दुकान, बेटे ने क्रैक किया UPSC:नवादा के निरंजन ने ट्यूशन पढ़ा शुरू की अपनी पढ़ाई, पहले भी IRS के लिए चुने गए; इस बार पूरा हुआ सपना

नवादा के पकरीबरामा बाजार के रहने वाले निरंजन कुमार ने UPSC में 535 वां रैंक लाकर पूरे बिहार का मान बढ़ाया है। निरंजन 2017 में IRS के लिए चुने गए थे और जॉब के साथ ही उन्होंने UPSC की तैयारी जारी रखी। हालांकि, इस मुकाम तक पहुंचने के लिए निरंजन को कड़े संघर्षों से गुजरना पड़ा है। कभी बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना पड़ा तो कभी कई KM तक पैदल चल कर कोचिंग जाना पड़ा। निरंजन के पिता की गांव में खैनी की दुकान है।

एक छोटे से गांव के रहने वाले निरंजन कुमार ने जब UPSC की तैयारी करने की सोची तो ये उनके लिए आसान नहीं था। उनके घर की माली स्थिति ठीक नहीं थी। पिता की एक छोटी सी खैनी की दुकान थी, जिससे किसी तरह से घर चल रहा था। चार भाई-बहनों की पढ़ाई लिखाई का इंतजाम करना परिवार के लिए काफी मुश्किल था, इसके बाद भी ना तो परिवार ने निरंजन का साथ छोड़ा और ना ही उन्होंने हार मानी।

निरंजन का नवोदय विद्यालय में सेलेक्शन हुआ तो उनकी पढ़ाई का खर्च कुछ कम हुआ। यहां से 10वीं करने के बाद इंटर की पढ़ाई के लिए वो पटना चले गए, लेकिन मुश्किलें एक बार फिर से निरंजन के सामने आ गई थीं। एक बार फिर निरंजन को पढ़ाई के लिए पैसे को जरूरत थी। इसके लिए उन्होंने बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू कर दिया।

खुद की कोचिंग के लिए रोज कई KM पैदल चलते। तब जाकर उनकी पढ़ाई शुरू हो पाई। 12वीं के बाद उनका सेलेक्शन IIT के लिए हो गया। यहां से परिवार को कुछ उम्मीद बंधने लगी थी। इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद उन्हें कोल इंडिया में नौकरी मिल गई। इसके बाद निरंजन की शादी भी हो गई, लेकिन उनका सपना तो IAS बनने का था। इसके लिए एक बार फिर से वो तैयारी करने में जुट गए।

निरंजन की मेहनत और संघर्ष तब सफल हो गया, जब उन्होंने 2017 में UPSC पास कर लिया। रैंक के हिसाब से तब उन्हें IRS के लिए चुना गया। हालांकि इसके बाद भी उन्होंने UPSC में अच्छा रैंक पाने के लिए तैयारी जारी रखी।

विधायक की बहू बनी मुखिया:फरवरी में हुई थी करगहर MLA संतोष मिश्रा के भतीजे संजीव की हत्या, अब चुनाव जीत मुखिया बनीं पत्नी रिंकी मिश्रा

रोहतास के करगहर से कांग्रेस विधायक संतोष मिश्रा की बहू रिंकी मिश्रा पंचायत चुनाव में मुखिया प्रत्याशी के रूप में विजयी हुई हैं। करगहर विधायक के भतीजे संजीव मिश्रा की फरवरी में परसथुआ में उनके घर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।रिंकी मिश्रा दिवंगत संजीव मिश्रा की पत्नी हैं। वे परसथुआ से सटे सलथुआ पंचायत की मुखिया निर्वाचित हुई हैं।

रिंकी मिश्रा का मायका सलथुआ पंचायत में है। वे पहली बार मुखिया चुनाव में उतरी थी और 2150 मतों से विजयी हुई हैं। उन्होंने वर्तमान मुखिया मोहन यादव को हराया है। इस तरह से सात माह बाद घर में खुशी लौटी हैं। विधायक के परसथुआ स्थित निवास पर खुशी का माहौल है।

सात माह पूर्व विधायक के भतीजे की हुई थी हत्या
संजीव मिश्रा की अपराधियों ने 27 फरवरी 2021 को दिनदहाड़े गोली मार हत्या कर दी थी। संजीव को तीन गोली लगी थी। गंभीर हालत में उन्हें वाराणसी ले जाने के दौरान रास्ते में मौत हो गई। बतााय जाता है कि जैसी ही संजीव बाजार से अपने घर आए तभी अंदर घात लगाए बैठे 4 बदमाशों ने उन्हें 3 गोलियां मारी, जिससे उनकी मौत हो गई।

लॉकडाउन में गई नौकरी, बच्चे की फीस के पैसे नहीं:8 हजार की नौकरी करने वाले एक पिता का दर्द; स्कूल खुला तो पता चला, काट दिया गया बच्चे का नाम

24 मार्च 2021 को बिहार में लॉकडाउन लग गया। 16 अगस्त 2021 को जब स्कूल खुला तो छात्र का नाम काट दिया गया था। स्कूल का कहना है कि फीस जमा नहीं होने के कारण नाम काटा गया है। 8 हजार की प्राइवेट नौकरी करने वाले पप्पू का कहना है कि लॉकडाउन में नौकरी चली गई थी और स्कूल ने जरा भी मानवीयता नहीं दिखाई है। अब पेरेंट्स बच्चे के री एडमिशन को लेकर दौड़ रहे हैं, लेकिन स्कूल की तरफ से दोबारा नामांकन नहीं किया जा रहा है। केंद्रीय विद्यालय कंकड़बाग के प्राचार्य से बच्चे के नामांकन की मांग की गई है।

स्कूल ने री एडमिशन से कर दिया इनकार
पटना के अंबेडकर कॉलोनी के रहने वाले पप्पू कुमार प्राइवेट जॉब करते हैं। कोरोना काल के पहले उन्हें 8 हजार रुपए महीना मिलता था। उनका बेटा अनमोल पटना के कंकड़बाग के केंद्रीय विद्यालय में कक्षा 5 में पढ़ाई करता था। केंद्रीय विद्यालय की फीस कम होती है इस कारण वो कम आय में भी बच्चे को अच्छी शिक्षा दिलाने की कोशिश कर रहे थे।कोरोना काल में उनकी नौकरी ही चली गई।

पैसा ही नहीं कहां से कराते ऑनलाइन क्लास
पप्पू का कहना है कि स्कूल की एक टीचर ने फोन कर ऑनलाइन क्लास के लिए बोला था। उनका कहना है कि नाैकरी चली गई थी। ऑनलाइन क्लास करने को लेकर कोई व्यवस्था नहीं थी। फोन करने वाली टीचर को भी उन्होंने अपनी आर्थिक स्थिति का हवाला दिया था। उनका कहना है कि न तो स्मार्ट फोन था न लैपटॉप था और न ही इंटरनेट कनेक्शन है, ऐसे में वह कैसे बच्चे को ऑनलाइन क्लास करा सकते थे। उनका कहना है कि अगर पैसा होता तो वह स्कूल की फीस जमा कर देते।

अब प्राचार्य से लगा रहे मदद की गुहार
पप्पू ने स्कूल की फीस मार्च 2020 तक जमा की थी।उन्होंने 2020 से अब तक के बकाया फीस को जमा कराकर बच्चे का री एडमिशन करने की मांग की है। सामाजिक कार्यकर्ता और आम आदमी पार्टी के नेता बबलू प्रकाश ने इस मामले में केंद्रीय विद्यालय कंकड़बाग के साथ अधिकारियों से मुलाकात कर एक गरीब के बेटे की पढ़ाई जारी रखने की मांग की है। उनका कहना है कि अगर नाम दोबारा नहीं लिखा गया तो बच्चे का भविष्य बर्बाद हो जाएगा। गार्जियन के पास इतना पैसा नहीं है कि वह बच्चे को बेहतर शिक्षा दिला सकें।ऐसे में प्राचार्य से मांग की गई है कि बच्चे का भविष्य बचाए।

‘गुलाब’ से कैसे बचेगा FCI का अनाज:प्लेटफॉर्म पर पड़ा है लाखों का अनाज, केन्द्रीय खाद्य राज्यमंत्री का लापरवाही से हुआ सामना तो नाराजगी जता निकल गए

पटना के फुलवारी शरीफ FCI गोदाम का अनाज रेल की पटरियों और प्लेटफॉर्म पर पड़ा है। तूफान, गुलाब के आने के 10 घंटे पहले गोदाम का निरीक्षण करने पहुंचे केन्द्रीय खाद्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे भी हालात देखकर सकते में दिखें।

केन्द्रीय खाद्य राज्यमंत्री का लापरवाही से हुआ सामना तो नाराजगी जता निकल गए
भारतीय खाद्य निगम के गोदाम में अनाज के रखरखाव में किस तरह की लापरवाही बरती जा रही है , इससे आज केन्द्रीय मंत्री का भी सामना हो गया । केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण प्रणाली के राज्यमंत्री अश्विनी चौबे आज पटना के फुलवारी शरीफ स्थित एफसीआई गोदाम का औचक निरीक्षण करने पहुंचे थे। यहां लाखों गेहूं की बोरियां एक के ऊपर एक रेलवे प्लेटफॉर्म और रेल पटरियों पर रखी थीं। अनाज का ये हाल देख मंत्री जी भी हैरत में दिखें। लेकिन जगह की कमी होने का हवाला देकर FCI के अधिकारी इस पर अपनी दलील देते रहे। मंत्री ने इस गुस्सा जताया लेकिन अनाज की बोरियां प्लेटफॉर्म से कब हट पाएंगी, इसका जबाब उनके पास भी नहीं दिखा ।

मौसम विभाग ने तूफान से बारिश की जताई है संभावना
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में गुलाब तूफान की सक्रियता के वजह से बिहार के कई जिलों में इसका असर पड़ेगा। पूर्वी-पश्चिम चंपारण, सीवान, गोपालगंज, सारण के साथ ही पटना में इस असर होने की संभावना जताई गई है। ऐसे में फुलवारी शरीफ के एफसीआई गोदाम में रखे लाखों क्विंटल गोदाम का भींगना तय है। हालांकि, अनाज भींगने से बचाने के लिए प्लास्टिक से इसे ढंका गया है लेकिन ये कोशिश अनाज को बर्बादी से बचा पाएगी। इसपर शंका है।

पटना पुलिस की नजर में 3 थाना इलाकों के उपद्रवी:पंचायत चुनाव की वोटिंग के एक दिन पहले 28 सितंबर को पकड़ लिए जाएंगे सभी, 29 को वोटिंग के बाद ही छूटेंगे

पटना जिले में पंचायत चुनाव 11 फेज में होंगे। पहला फेज 29 सितंबर को तीन थाना क्षेत्रों में है। इसमें पालीगंज, सिगोड़ी और खिरीमोड़ शामिल हैं। 27 सितंबर को पहले चरण का प्रचार खत्म हो जाएगा। इसके बाद 28 सितंबर को सख्ती के साथ उपद्रव करने वाले लोगों को थाने में रखा जाएगा और वोट डालने के बाद छोड़ दिया जाएगा।

आम दिनों में भी पटना का यह पश्चिमी इलाका अपराध के मामले में काफी संवेदनशील है। इस कारण इन इलाकों के पिछले रिकॉर्ड्स को देखते हुए पंचायत चुनाव के दौरान पटना पुलिस की तरफ से पूरी सख्त तैयारी की गई है। चार दिन पहले से ही खुद SSP उपेंद्र कुमार शर्मा ने अपने स्तर से मॉनिटरिंग शुरू कर दी है।

दो अलग-अलग सेक्टरों में बंटी हर पंचायत
वोटिंग से लेकर रिजल्ट तक की प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से निपटाने के लिए बड़े पैमाने पर प्लानिंग की गई है। चुनाव शुरू होने से पहले और अंतिम रिजल्ट आने तक लॉ एंड ऑर्डर की समस्या न हो, इसे ध्यान में रखा गया है। इसके लिए हर एक पंचायत को दो अलग-अलग सेक्टर में बांटा गया है। दोनों सेक्टर में एक पुलिस सब इंस्पेक्टर के साथ 4 जवान रहेंगे।

पूरे पंचायत में दोनों सेक्टर की टीम लगातार कैंप करेगी। लॉ एंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए लगातार जीप से पेट्रोलिंग करेगी। वोटिंग के दौरान बूथ पर EVM के खराब होते ही उसे बदलने की जिम्मेदारी भी सेक्टर के पुलिस टीम की होगी।

बूथ के अनुसार मौजूद रहेगी टीम
वोटिंग के दौरान बूथों की सुरक्षा के लिए पटना पुलिस ने अलग इंतजाम किया है। पंचायत चुनाव के दौरान जिस कैंपस में एक बूथ होंगे, वहां पुलिस के एक पदाधिकारी और चार जवान रहेंगे। अगर एक ही कैंपस में दो बूथ हों तो वहां पर एक पदाधिकारी के साथ छह और तीन बूथ रहेंगे तो एक पदाधिकारी के साथ आठ जवान तैनात किए जाएंगे।

SSP के अनुसार जब जिस थाना इलाके में चुनाव होगा, उस थाना को अलग से 16 बाइक और 32 सिपाही दिए जाएंगे। हर एक बाइक से 32 जवान पूरे थाना इलाके में पेट्रोलिंग करेंगे। सुरक्षा के साथ-साथ मिलने वाले हर इनपुट पर कार्रवाई करेंगे।

पुलिस की स्पेशल ड्राइव शुरू
पहले फेज में पटना जिले के जिन 3 थाना इलाकों में पंचायत चुनाव है, वहां पुलिस की तरफ से स्पेशल ड्राइव शुरू कर दी गई है। 24 अगस्त से अब तक शराब, हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, रंगदारी, मारपीट में कितनी गिरफ्तारी हुई है, इसका रिव्यू किया गया है। धारा 107 के तहत कितने लोगों पर कार्रवाई हुई है, इसका भी आंकलन चल रहा है। कितने लोगों ने अपने लाइसेंसी हथियार को जमा किया है, इसकी रिपोर्ट भी थानों से ली जा रही है।

 

काउंटिंग सेंटर के अंदर मोबाइल लेकर घुसे लोगों की पिटाई:गया में मतगणना केंद्र पर पहुंचे लोगों को पुलिस के जवानों ने खदेड़ कर पीटा, जांच के बावजूद सेंटर के अंदर मोबाइल लेकर घुस गए थे प्रत्याशी समर्थक

 

 

7वीं JPSC के उम्र निर्धारण में नहीं होगा कोई बदलाव:सुप्रीम कोर्ट ने JPSC के जवाब के बाद खारिज की याचिका, आयोग ने कहा था- हर किसी के अनुसार उम्र सीमा का निर्धारण नहीं किया जा सकता

7वीं JPSC परीक्षा के उम्र निर्धारण को चुनौती देने वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को खारिज कर दी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में JPSC का जवाब संतोषजनक है। इसके बाद इस मामले में हस्तक्षेप करने की आवश्यकता नहीं है।

JPSC ने अपने जवाब में कहा कि सिविल सेवा की परीक्षा 2016 के बाद 2021 में हो रही है। ऐसे में सरकार ने कट ऑफ डेट का निर्धारण एक अगस्त 2016 किया है, जो उचित है। एक अगस्त 2016 से उम्र सीमा के निर्धारण करने से कई लोगों को राहत मिली है। हर किसी के अनुसार उम्र सीमा का निर्धारण नहीं किया जा सकता।

19 सितंबर को आयोजित हो चुकी है 7वीं JPSC की परीक्षा

अदालत को बताया गया कि 7वीं JPSC की प्रारंभिक परीक्षा 19 सितंबर को ही संपन्न हो गई है। ऐसे में इस याचिका पर सुनवाई का कोई औचित्य नहीं रह गया है। JPSC के आदेश से संतुष्ट होने के बाद अदालत ने याचिका खारिज कर दी।

हाईकोर्ट से पहले खारिज हो चुकी है याचिका

उम्र सीमा बदलाव को लेकर झारखंड हाईकोर्ट में एकल और खंडपीठ में याचिका दायर की गई थी। दोनों पीठ में याचिका खारिज कर दी गई थी। इसके बाद रीना कुमारी, अमित कुमार सहित अन्य अभ्यर्थियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की थी

लगातार बारिश से तर बतर हुई रांची:15 साल बाद खुल सकता है हटिया डैम का फाटक, रांची में 1 जून से 21 सितंबर तक 1138 MM बारिश, जो समान्य से 120 MM अधिक

रांची में मंगलवार से रुक रुक कर लगातार तेज बारिश हो रही है। पूरी रांची पानी से तर बतर हो गई है। इसका असर अब शहर के गली-मोल्ले से निकल कर जलाशयों में भी दिखने लगा है। पिछले कुछ बरसात से लगातार खाली रह जा रहा हटिया डैम इस बार खतरे के निशान के ऊपर पहुंचने के कगार पर है।

अगले एक से दो दिन में हटिया डैम के फटाक खोलने पड़ सकते हैं। ऐसी स्थिति लगभग 15 साल बाद बन रही है। राजधानी रांची में इस दौरान 1018 MM बारिश अपेक्षित है, जबकि 1138 MM बारिश अभी तक हुई है। जुलाई में हटिया डैम का जलस्तर 22.6 फीट था। अगस्त में यह बढ़कर 32 फीट हो गया था। वहीं, 21 सितंबर तक यह बढ़कर 37 फीट पर पहुंच गया है। डैम में अधिकतम जल संग्रहण की क्षमता 39 फीट है। जलस्तर 38 फीट के पार पहुंचने पर स्पील वे फाटक खोलने पर विचार हो रहा है। वहीं, कांके डैम का फाटक इस बरसात में पहले ही एक बार खोला जा चुका है।

25 सितंबर तक राज्य में बनी रह सकती है ऐसी स्थिति

बुधवार सुबह से ही रांची में बारिश जारी है। मौसम विज्ञान केंद्र, रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि पश्चिम बंगाल के गंगा के दक्षिणी मैदानी क्षेत्र में चक्रवातीय क्षेत्र से जुड़ा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसका टर्फ लाइन झारखंड के साथ पड़ोसी राज्यों में देखने को मिल रहा है। इस कारण राज्य के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। राज्य में मौसम की ऐसी हालत 25 सितंबर तक बने रहने की संभावना है।

गुमला और पाकुड़ में सामान्य से 33% कम बारिश

इस महीने राज्य के सभी जिलों में औसत वर्षापात में सुधार आया है। राज्य में एक जून से लेकर 21 सितंबर तक 940 MM बारिश हुई है। अभिषेक आनंद ने बताया कि राज्य में अभी तक मानसून की स्थिति बेहतर रही है। अभी तक राज्य में सबसे कम बारिश पाकुड़ और गुमला में दर्ज की गई है। दोनों जिलों में औसत बारिश से करीब 33% तक कम बारिश हुई है।

भास्कर एक्सक्लूसिव:नीट-2021 : रांची के एक सेंटर पर भी सॉल्वर गैंग ने डमी कैंडिडेंट तय किया था, पर वह परीक्षा देने आया ही नहीं

नीट-2021 में अभ्यर्थी की जगह डमी कैंडिडेट काे बिठाने के मामले में सीबीआई (एसीबी) नई दिल्ली ने चार नामजद और अन्य अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। एफआईआर के मुताबिक 12 सितंबर काे हाेने वाली परीक्षा में पेपर साॅल्व करवाने के लिए परिमल काेटपालीवार ने पांच केंद्राें पर डमी कैंडिडेट उपलब्ध कराया था। इनमें रांची के एक परीक्षा केंद्र शारदा ग्लाेबल स्कूल बुकरू में भी अनिकेत तारापुरे की जगह डमी कैंडिडेट काे बैठना था, लेकिन वह परीक्षा में शामिल हाेने आया ही नहीं।

इसके अलावा दिल्ली के राेहिनी सेक्टर 18 स्थित माउंट आबू पब्लिक स्कूल में ऋतिक माेहिते, मायापुरी नई दिल्ली स्थित राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय में रितेश भाजीपाले, शालीमार बाग दिल्ली स्थित जसपाल कौर पब्लिक स्कूल में ऋषिकेश थोम्बरे और दिल्ली के रोहिनी सेक्टर 24 स्थित रयान इंटरनेशनल स्कूल में शुभम सांगोले का परीक्षा केंद्र था। इन सभी अभ्यर्थियाें की जगह डमी कैंडिडेट उपलब्ध कराया गया था, जाे मूल अभ्यर्थी का पेपर साॅल्व करते।

परिमल काेटपालीवार ने उपलब्ध कराया था डमी कैंडिडेट, प्रति कैंडिडेट 50 लाख में हुआ था सौदा

जिनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है, उनमें महाराष्ट्र के नागपुर निवासी परिमल काेटपालीवार, उसकी फर्म मेसर्स आरके एजुकेशन करियर गाइडेंस नागपुर, दिवाकर सिंह और मुन्ना शामिल है। इन सभी पर आपराधिक षडयंत्र, फर्जीवाड़ा, फर्जी दस्तावेज व कंप्यूटर के दस्तावेज में छेड़छाड़ करने का आराेप है। परिमल काेटपालीवार ने दिवाकर के माध्यम से ही डमी कैंडिडेट उपलब्ध कराया था। इसके लिए अभ्यर्थियाें से 50 लाख रुपए में साैदा तय हुआ था। अभ्यर्थियाें के 10वीं और 12वीं के मार्कशीट परिमल ने अपने पास रखवाया था। साथ ही 50 लाख रुपए का पाेस्टडेटेड चेक लिया था। पेमेंट हाेने के बाद मार्कशीट वापस लाैटाना था।

शारदा ग्लाेबल स्कूल पहुंची सीबीआई, दस्तावेज जांचे
परीक्षा में हुए फर्जीवाड़े का तार जाेड़ने के लिए सीबीआई की टीम शारदा ग्लाेबल स्कूल पहुंची। अभ्यर्थी अनिकेत तारापुरे के बारे में पूछताछ की। सीबीआई की टीम ने स्कूल में परीक्षा से संबंधित दस्तावेजाें की जांच की। सीसीटीवी फुटेज काे भी खंगाला।

प्रिंसिपल बाेलीं-परीक्षा से अनुपस्थित था अनिकेत
शारदा ग्लाेबल स्कूल की प्राचार्य रंजना स्वरूप ने बताया कि 12 सितंबर काे हुई परीक्षा में गड़बड़ी के संबंध में उन्हें काेई जानकारी नहीं है। परीक्षा गाइडलाइन के अनुरूप हुई थी। अनिकेत नाम का कैंडिडेट परीक्षा में अनुपस्थित था। इसके अलावा छात्र के बारे में और किसी प्रकार की जानकारी नहीं है।

साेना साेबरन धाेती-साड़ी, लुंगी वितरण याेजना की शुरुआत:सीएम बोले- यह नियुक्तियाें का वर्ष, बड़े पैमाने पर हाेंगी भर्तियां

मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन ने बुधवार काे यहां पुलिस लाइन मैदान में साेना साेबरन धाेती-साड़ी, लुंगी वितरण याेजना की शुरुआत की। उन्हाेंने कहा-राज्य की गरीब जनता काे सस्ते दर पर खाद्यान्न के साथ तन ढंकने के लिए कपड़े भी दिए जाएंगे। पीडीएस दुकानाें से साल में दाे बार 10 रुपए में धाेती-साड़ी या लुंगी दी जाएगी। इस याेजना से राज्य के करीब 58 लाख लाल और पीला कार्डधारियाें काे लाभ मिलेगा। सरकार इस याेजना पर 500 कराेड़ रुपए खर्च करेगी। उन्हाेंने कहा कि 2014 में यह याेजना शुरू की गई थी, लेकिन रघुवर सरकार ने इसे बंद कर दिया था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि षड्यंत्र के तहत बेराेजगार और पढ़े-लिखे युवकाें काे नाैकरी में आने से राेका जा रहा था। अब युवाओ काे नाैकरी और राेजगार देने पर सरकार का विशेष फाेकस है। सरकार ने इस साल काे नियुक्ति वर्ष घाेषित किया है। जेपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा के साथ इसकी शुरुआत हाे चुकी है। अब यह प्रक्रिया अनवरत चलेगी। बड़े पैमाने पर युवाओं की नियुक्तियां हाेंगी। इस माैके पर राज्यसभा सांसद शिबू साेरेन, कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, विधायक प्राे. स्टीफन मरांडी, नलिन साेरेन व बसंत साेरेन आदि माैजूद थे।

24 हजार शिक्षकाें और गृह विभाग में 20 हजार पद खाली

झारखंड में बड़े पैमाने पर पद खाली हैं। शिक्षकाें के 24 हजार से ज्यादा ताे गृह विभाग में 20 हजार से ज्यादा पद रिक्त हैं। सरकार का प्रयास है कि खाली पदाें काे जल्द भरा जाए। इसलिए नियुक्ति से संबंधित प्रक्रियाएं तेजी से पूरी की जा रही हैं। कैबिनेट से नियुक्ति नियमावली में संशोधन की स्वीकृति मिलने बाद अब नियुक्ति का रास्ता साफ हो गया है। प्राइमरी और मिडल स्कूलाें में नियुक्ति नियमावली का ड्राफ्ट भी फाइनल है। अन्य विभागाें में भी नियुक्तियां शुरू हाेने की उम्मीद है।

2.68 अरब रुपए की 126 याेजनाओं का शिलान्यास, 18 योजनाओं का उद‌्‌घाटन

सीएम ने 2.68 अरब रुपए की लागत वाली 126 याेजनाओं का शिलान्यास 37.92 कराेड़ की लागत वाली 18 याेजनाओं का उद्घाटन किया। उन्हाेंने कहा कि सरकार काे गरीब जनता की पीड़ा का आभास है, इसलिए सरकार तमाम वैसी याेजनाओं काे धरातल पर उतार रही है, जाे गरीबाें के हित में है। उन्हाेंने कहा कि राज्य में नई औद्याेगिक नीति लाई गई है। इसके तहत अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़ी जातियाें के लिए विशेष छूट देने का प्रावधान किया गया है।

हर जिले में खुलेंगे इंग्लिश मीडियम के माॅडल स्कूल
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार शिक्षा के क्षेत्र में भी बेहतर करने का लगातार प्रयास कर रही है। अगले साल से हर जिले में इंग्लिश मीडियम के माॅडल स्कूल शुरू किए जाएंगे। स्कूली बच्चाें काे मिड डे मील में सप्ताह में तीन अंडे दिए जाते हैं, अब छह अंडे दिए जाएंगे।

मसानजाेर डैम के पानी से हाेगी सिंचाई: सरकार गांव और किसानाें काे मजबूत करना चाहती है। दुमका के मसानजाेर डैम के पानी से अब मसलिया, नाला और कुंडहित के किसानाें काे सिंचाई सुविधा मुहैया कराने की याेजना है। सरकार जल्दी ही इस याेजना का शिलान्यास करेगी और दाे साल में किसानाें के खेत तक पानी पहुंचाया जाएगा।

 

सम्मेलन का आयोजन:सम्मेलन में आवास समेत कई योजनाओं की दी जानकारी

चकला ग्राम पंचायत सचिवालय में प्रधानमंत्री आवास का लाभुक सम्मेलन का आयोजन किया गया। इसमें प्रधानमंत्री आवास के लाभुकों एवं पेंशन के लाभुकों को प्रशस्ति पत्र देकर उन्हें सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम में बीडीओ विजय कुमार तथा ग्राम पंचायत मुखिया रंजीता एक्का द्वारा सरकार की सभी महत्वाकांक्षी योजनाओं का विस्तार पूर्वक चर्चा किया गया एवं सरकार की जितनी भी योजनाएं हैं हर घर हर गरीब तक पहुंचे इन सभी चर्चा की गई।

इस सम्मेलन में ब्लॉक कोऑर्डिनेटर कुश कुमार पासवान प्रिंस कुमार अमित कुमार गुप्ता एवं पंचायत सेवक अजीत रंजन एवं रोजगार सेवक विजय सिंह एवं चकला तथा नगर के ग्राम प्रधान एवं चकला के ग्राम प्रधान फुलदेव मुंडा एवं वार्ड सदस्य एवं आंगनबाड़ी सेविका एवं गणमान्य व्यक्ति एवं सैकड़ों की संख्या में लाभुक एवं ग्रामीण उपस्थित हुए। जिन लाभुकों को आवास का लाभ मिला चरखी देवी, मलवा देवी, तारा देवी, मालती देवी, फुल कुमारी देवी, प्रमिला देवी, मंजू देवी, कनक देवी, उर्मिला देवी, बरतू भुईया तथा पेंशन स्वीकृति जौरा भगत ,रामेश्वर भगत, उर्मिला देवी, जोगन भुईयां शामिल हैं । मौके पर राजेश कुमार पाठक, अख्तर खान, मुजम्मिल खान, सुहेल अहमद,साबिर खान, विनोद ठाकुर, अजीत राम, सुजीत गंझू, सुजीत गंझू, एवं शिक्षक विजय पासवान इत्यादि व्यक्ति उपस्थित थे।

रांची की सड़कों पर छात्रों ने किया हंगामा:फार्मेसी की परीक्षा के दौरान सवाल आउट होने के बाद छात्रों ने जमकर किया उत्पात, प्रबंधन ने रद्द की परीक्षा

रांची की सड़कों पर फार्मेसी के नाराज छात्रों ने बुधवार शाम को प्रदर्शन किया। छात्रों ने विरोध जताया कि परीक्षा के बीच में ही फार्मेसी काउंसिल का प्रश्न पत्र आउट हो गया। नाराज डी फार्मा के परीक्षार्थियों ने रांची के विभिन्न चौक-चौराहों को जाम कर दिया। इसमें मुख्य रूप से बरियातू रोड, बूटी मोड़, कांके रोड का इलाका प्रभावित हुआ। जाम से लोगों को काफी मशक्कत का सामना करना पड़ा।

सड़क जाम की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। जवानों ने आक्रोशित छात्रों को समझाने की कोशिश की, लेकिन जब छात्र नहीं माने तब पुलिस की तरफ से लाठियां भी भांजी जिसमें कुछ छात्रों के घायल होने की भी सूचना है।प्रबंधन की तरफ से प्रश्न पत्र आउट होने के बाद परीक्षा को रद्द कर दिया गया है ।

क्या है पूरा मामला
डी फार्मा के दो वर्षीय कोर्स के लिए पहले वर्ष की परीक्षा चल रही थी।आरटीसी हाई स्कूल, बीएड कालेज सहित कई जगहों में सेंटर थे। परीक्षा से पहले ही प्रश्नपत्र आउट हो गए। इससे परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा किया। परीक्षा का आज तीसरा दिन है। परीक्षा स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत इग्जामिनेशन कमेटी डिप्लोमा इन फार्मेसी लेती है। स्टेट फार्मेसी काउंसिल के चेयरमैन यदुनाथ मार्डी और सचिव कौशलेंद्र कुमार को आगे की परीक्षा पर निर्णय लेना है।

कोविड के नियमों का नहीं किया गया है पालन
परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों ने बताया कि एक ही सेंटर पर 5400 छात्रों का परीक्षा लिया जा रहा है। कोरोना महामारी के दौरान गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया। भीड़भाड़ के कारण परीक्षार्थियों में संक्रमण का भी खतरा है।

 

 

दुर्गा पूजा:95% मूर्तियां 9 फीट की बन गईं अब 5 फीट रखने की गाइडलाइन

कोरोना ने इस बार भी रांची के दुर्गा पूजा में विघ्न डाला है। इस वजह से सरकार द्वारा मंगलवार को जारी गाइडलाइन के अनुसार पूजा साधारण तरीके से होगी। सरकार का आदेश जारी होने के बाद पूजा समितियों ने तैयारियां शुरू कर दी है। तैयारी को लेकर बुधवार को रांची जिला दुर्गा पूजा समिति की बैठक बकरी बाजार परिसर में हुई।

निर्णय हुआ कि सरकार से मां दुर्गा की प्रतिमा निर्माण को लेकर आग्रह किया जाएगा कि इस पर पुनर्विचार किया जाए। क्योंकि, सरकार ने प्रतिमा 5 फीट की ही बनाने का आदेश जारी किया है। जबकि, पूजा समितियों की ओर से पहले ही प्रतिमा बनाने का ऑर्डर दिया जा चुका है। अब प्रतिमा में फेरबदल करना संभव नहीं है। इसे लेकर रांची जिला दुर्गा पूजा समिति का एक प्रतिनिधिमंडल मुख्यमंत्री से मिलकर आग्रह करेगा। बैठक में अध्यक्ष अशोक पुरोहित, संयोजक मुनचुन राय, मुख्य संरक्षक अशोक चौधरी व अन्य मौजूद थे।

सुविधा:25 एकड़ भूमि में बनेगा मनरेगा पार्क, डीडीसी ने समीक्षा बैठक की

प्रखंड मुख्यालय स्थित सभागार में बुधवार को प्रखंड में चल रहे 15 वित्त आयोग, मनरेगा योजना व प्रधानमंत्री आवास योजना की गुमला डीडीसी ने समीक्षा बैठक की। जहां प्रखंड के मुखिया, पंचायत समिति सदस्य, पंचायत सेवक, रोजगार सेवक सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित हुए। इस मौके पर गुमला डीडीसी ने कहा बिशुनपुर में 25 एकड़ भूमि में मनरेगा पार्क बनाया जाएगा जिसका आनंद नेतरहाट जाने वाले पर्यटक उठा सकेंगे।

इसके लिए मैंने प्रखंड विकास पदाधिकारी से भूमि उपलब्ध कराने के लिए बात की है। प्रखंड में फिलहाल प्रधानमंत्री योजना के 60 आवास लंबित हैं उन्हें जल्द पूरा करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने कहा कि बिशुनपुर में मनरेगा योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में फलदार पौधे लगाए गए हैं, यहां सत प्रतिशत काम हुआ है।

प्रखंड में फिलहाल दीदी बाड़ी योजना सहित जल संरक्षण करने के लिए ट्रेंच गड्ढा, मेड़बंदी सहित कई महत्वपूर्ण योजना चल रही है। साथ ही उन्होंने योजना के तहत एक करोड़ 95 लाख रुपए 15 अक्टूबर तक खर्च करने का भी निर्देश अधिकारियों को दिया। इस मौके पर मुख्य रूप से प्रखंड विकास पदाधिकारी छंदा भट्टाचार्य, प्रखंड प्रमुख रामप्रसाद बड़ाईक, सभी पंचायत के मुखिया व पंचायत समिति सदस्य अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

खाली हुआ JAC चेयरमैन व वाइस चेयरमैन का पद:30 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स का रिजल्ट अटका, गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी भी होगी बाधित, छात्रों से जुड़े कई जरूरी काम में होगी देरी

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) के अध्यक्ष और उपाध्य का पद बुधवार से खाली हो गया है। चेयरमैन अरविंद प्रसाद सिंह और उपाध्यक्ष फूल सिंह मंगलवार को रिटायर हो गए हैं। लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से इन पदों पर किन्हीं की नियुक्ति नहीं की गई है।

इसका खामियाजा राज्य के बच्चों को भुगतना पड़ सकता है। नियम के मुताबिक जब तक JAC के चेयरमैन की नियुक्ति नहीं हो जाती है यहां किसी प्रकार का कोई काम संभव नहीं है। ऐसे में हाल में संपन्न मैट्रिक और इंटर की रिजल्ट अटक गया है । 30 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों को फिलहाल इसका इंतजार करना पड़ सकता है।

गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग की तैयारी भी प्रभावित
इतना ही नहीं शिक्षा विभाग की तरफ से गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराई जाती है। अकांक्षा नाम की इस योजना में बच्चों का चयन भी JAC के माध्यम से किया जाता है। इसके चयन की प्रक्रिया भी आखिरी चरण में है लेकिन अब बिना चेयरमैन की नियुक्ति के इनकी घोषणा संभव नहीं है। इसके अलावा मॉडल स्कूल और इंदिरा गांधी बालिका विद्यालय में नामांकन परीक्षा भी विचाराधीन है।

शिक्षा सचिव ने कहा- नियुक्ति प्रक्रिया शुरू जल्दी होगी नाम की घोषणा
इस संबंध में शिक्षा सचिव राजेश शर्मा ने बताया कि नियुक्ति प्रक्रिया बहुत पहले ही शुरू कर दी गई है। इस पर विभाग की तरफ से काम जारी है। बहुत जल्द इसकी घोषणा कर दी जाएगी। शिक्षा विभाग की तरफ से प्रस्तावित नाम पर CM अनुशंसा करते हैं।

छह साल बाद रिटायर हुए अरविंद प्रसाद
अध्यक्ष अरविंद प्रसाद सिंह की नियुक्ति 2015 में हुई थी। इनका कार्यकाल तीन वर्षों का होता है। पहला कार्यकाल इनका 2018 में समाप्त हो रही थी। तत्कालीन रघुवर सरकार ने इन्हें एक और कार्यकाल के लिए नियुक्त किया था। मंगलवार को इनका दूसरा टर्म भी पूरा हो गया। इन्होंने बताया कि इनके कार्यकाल में JAC के कार्यों को पूरी तरह ऑनलाइन किया गया।

JAC के ये काम हो सकते हैं प्रभावित
1. मैट्रिक-इंटर की पूरक परीक्षा का रिजल्ट
2. प्राइमरी टीचर्स ट्रेनिंग की परीक्षा
3. आमिल-फाजिल परीक्षा का परिणाम
4. आकांक्षा की परीक्षा
5 मॉडल स्कूल और इंदिरा गांधी बालिका विद्यालय की परीक्षा
6. 8वीं से 10वीं तक की परीक्षा के रजिस्ट्रेशन में होगी देरी

 

सहयोग:डीवीसी में राजभाषा पखवाड़ा, विजेता प्रतिभागी हुए सम्मानित

दामोदर घाटी निगम, हजारीबाग में हिन्दी पखवाड़ा समारोह 01 से 15 सितम्बर, 2021 तक मनाया गया । इस पखवाड़ा के दौरान निबंध लेखन, भाव पल्लवन प्रतियोगिता, कविता पाठ, हिन्दी टंकण एवं हिन्दी टिप्पण एवं आलेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । यह सभी प्रतियोगिताएं 1) हिन्दी भाषी तथा 2) हिन्दीतर भाषी कर्मियों के लिए अलग-अलग आयोजित था।

इस प्रतियोगिता में हजारीबाग परियोजना के लगभग सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया । इन सभी प्रतियोगिताओं के निर्णायक मंडली में मनमथ नाथ मित्र, आकाशवाणी, हजारीबाग; डॉ० सत्य प्रकाश दुबे, भारतीय रेलवे, नवीन प्रजापति, केन्द्रीय अनुवाद ब्योरो; दिनेश कुमार सिंह एवं नरेन्द्र त्रिवेदी जी थे। 15 सितम्बर को हिन्दी दिवस/पखवाड़ा के पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन भूमि संरक्षण विभाग के सभागार में किया गया।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय कुमार, निदेशक(भूसंवि) एवं विशिष्ट अतिथियों में डॉ. आईके सिन्हा, संजय कुमार सिंह द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर हिन्दी दिवस/पखवाड़ा के पुरस्कार वितरण समारोह का उद्घाटन किया गया। पखवाड़ा के दौरान आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाने वाले कर्मियों को मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। डाॅ. जितेंद्र झा, उप प्रबंधक (राजभाषा) ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए अंत में आभार व्यक्त भास्कर न्यूज । हजारीबाग किया ।

संपूर्ण कार्यक्रम में सुनील कुमार एवं धीरज कुमार ने लकुशतापूर्वक सहयोग दिया। हिंदी पखवाड़ा के दौरान संजय कुमार, निदेशक ने अपने संदेश में कहा कि दामोदर घाटी निगम में राजभाषा क्रियान्वयन नीत नए कीर्तिमान स्थापित करते जा रहा है । राजभाषा कीर्ति पुरस्कार, नराकास का राजभाषा शील्ड और दाघानि की गृह पत्रिका ‘चचरो’ इसके जीवंत प्रमाण हैं।

 

काबुल पर एक साथ कई रॉकेट दागे गए, पॉवर प्लान्ट था निशाने पर; नुकसान की खबर नहीं, ISIS-K पर शक

काबुल पर गुरुवार शाम एक साथ कई रॉकेट दागे गए। रूसी न्यूज एजेंसी की लाइव रिपोर्ट के मुताबिक, एक पॉवर प्लान्ट को निशाना बनाए जाने की कोशिश की गई थी, लेकिन इससे किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। स्थानीय लोगों ने भी कहा है कि चमतलाह इलेक्ट्रिक सब स्टेशन को निशाना बनाया गया था, लेकिन हमलावरों का निशाना चूक गया। अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि इस पॉवर प्लान्ट को टारगेट क्यों किया गया। तालिबान के कुछ लोग घटना के बाद यहां पहुंचे। पूर्व पुलिस अफसरों को भी स्पॉट पर बुलाया गया। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, किसी भी संगठन ने अब तक हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन माना जा रहा है कि हमलावर शहर की इलेक्ट्रिसिटी सप्लाय बंद करके शायद किसी दूसरी जगह हमला करना चाहते थे।

ISIS-K पर शक
रॉकेट हमले का शक ISIS खुरासान ग्रुप पर जताया जा रहा है। इसने 26 अगस्त को काबुल एयरपोर्ट पर हमला किया था। इसमें 13 अमेरिकी सैनिकों समेत 170 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले के खिलाफ अमेरिका ने भी आतंकी ठिकानों पर ड्रोन हमले किए थे, जिसमें कुछ आतंकी मारे गए थे।

झारखंड के 10 विभाग के 1500 कर्मचारी बने बंधक:स्थायीकरण और समान काम समान वेतन की मांग को लेकर अनुबंधित पारा चिकित्साकर्मी कर रहे हैं प्रदर्शन, सैकड़ों की संख्या मे हुए जमा

झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्साकर्मी ने झारखंड सरकार के सचिवालय (नेपाल हाउस) में ताला जड़ दिया है। पूर्व नियोजित प्रदर्शन कार्यक्रम के तहत राज्य भर से सैकड़ों की संख्या में पारा चिकित्साकर्मी अपनी मांगों को लेकर यहां स्वास्थ्य विभाग के सामने प्रदर्शन करने पहुंचे हैं। धीरे-धीरे इनका प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है। इन्होंने नेपाल के दोनों गेट पर ताला जड़ दिया है।

झारखंड सरकार के 10 विभाग के लगभग 1500 कर्मचारी यहां बंधक बन गए हैं। नेपाल हाउस में स्वास्थ्य विभाग के अलावा, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता, योजना, उद्योग, खान , उच्च शिक्षा, वन पर्यावरण, पेयजल स्वच्छता, जल संसाधन और श्रम विभाग के अलावा डेवलेपमेंट कमिश्नर का भी दफ्तर है। कई विभाग के सचिव स्तर के अधिकारी अंदर फंसे हैं। हालांकि किसी विभाग के मंत्री सोमवार को दफ्तर नहीं पहुंचे थे।

प्रदर्शनकारियों अपनी सेवा समायोजित करने की मांग कर रहे हैं। इनका आरोप है कि CM हेमंत सोरेन ने चुनाव के समय वादा किया था कि सभी अनुबंध कर्मियों को नियमित किया जाएगा। अब दो साल बीता जाने के बाद वे अपने वादे से मुकर रहे हैं।

बढ़ सकता है विवाद, बढ़ाई गई पुलिस की संख्या
नेपाल हाउस के पास लगातार इनका आंदोलन उग्र होता जा रहा है। विवाद के बढ़ने की स्थिति को देखते हुए धरनास्थ्ल पर पुलिस बल की संख्या को बढ़ाया जा रहा है। पुलिस गेट को खोलने की मांग कर रहे हैं लेकिन ये लोग वहां से हटने के लिए फिलहाल तैयार नहीं हैं।

झारखंड में कल से फिर भारी बारिश की संभावना:बंगाल की खाड़ी में बने साइक्लोनिक सर्कुलेशन का झारखंड में दिखेगा असर, आज रांची में पूरे दिन छाए रहेंगे बादल

झारखंड में कल से फिर भारी बारिश होने के आसार हैं। अगले दो दिनों तक झारखंड के पश्चिमी जिलों में लगातार बारिश होने की संभावना है। मौसम विज्ञान केंद्र रांची के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बन रहे साइक्लोनिक सर्कुलेशन के कारण डाल्टनगंज, गढ़वा, चतरा, कोडरमा और लोहरदगा के इलाकों में भारी बारिश हो सकती है।

इसका असर राज्य में सोमवार से ही देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, रांची में दिनभर हल्के से मध्यम दर्जे के बादल छाए रहेंगे। साथ ही मेघ गर्जन और वज्रपात के साथ दिन में एक से दो बार हल्की बारिश हो सकती है।

पिछले 24 घंटे में रांची में हुई सबसे ज्यादा बारिश

पिछले 24 घंटे में राज्य के मौसम की बात करें तो कई हिस्सों में हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश दर्ज की गई। राज्य में सबसे ज्यादा बारिश राजधानी रांची में 34.6 मिमी रिकार्ड की गई है। जबकि, सबसे ज्यादा अधिकतम तापमान चाईबासा में 35.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। राज्य में सबसे कम न्यूनतम तापमान रांची में 21.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

29 सितंबर से चलेगी हावड़ा-हटिया स्पेशल:ट्रेन टाटानगर से भी गुजरेगी, अब रांची-भागलपुर ट्रेन गोड्डा तक चलेगी

दक्षिण-पूर्व रेलवे जोन हावड़ा-हटिया के बीच स्पेशल ट्रेन शुरू करने जा रहा है। हावड़ा से ट्रेन 30 सितंबर से 31 दिसंबर तक व हटिया से 29 सितंबर से 31 दिसंबर तक चलेगी। वहीं, रांची-भागलपुर ट्रेन गोड्डा तक चलेगी।

ट्रेन 08615 हावड़ा-हटिया स्पेशल हावड़ा से रोज रात 9.30 बजे खुलेगी और सुबह 06:30 बजे हटिया पहुंचेगी। ट्रेन 08616 हटिया-हावड़ा स्पेशल हटिया से रोज रात 9.40 बजे प्रस्थान करेगी व सुबह 6.30 बजे हावड़ा पहुंचेगी। हावड़ा और हटिया के बीच खड़गपुर, झाड़ग्राम, घाटशिला, टाटानगर, मुरी व रांची में रुकेगी।

रांची-भागलपुर ट्रेन को रेल मंत्री 26 काे दिखाएंगे हरी झंडी
रेलवे ने रांची से भागलपुर के बीच चलने वाली रांची-भागलपुर एक्सप्रेस का गाेड्डा तक विस्तार किया है। पीएम नरेंद्र माेदी के जन्मदिन पर 17 सितंबर काे इसकी अधिसूचना जारी की गई। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव 26 सितंबर काे गाेड्डा से इस ट्रेन काे रांची के लिए रवाना करेंगे। ट्रेन संख्या 08603 और 08604 (अप व डाउन) काे पिछले साल ही गाेड्डा तक विस्तार देने की घाेषणा की गई थी। पर, काेराेना की वजह से ऐसा नहीं हाे सका था। लाेगाें काे राजधानी आने-जाने में सुविधा हाेगी।

एक लाख का इनामी नक्सली गिरफ्तार:बड़ी मात्रा में हथियार व विस्फोटक बरामद, तीन सालों से जुड़ा हुआ था नक्सली संगठन के साथ

जिले में नक्सलियों के विरुद्ध पुलिस को एक बार फिर से बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने एसपी डॉ. एहतेशाम वकारीब के निर्देश पर भाकपा माओवादी के 1 लाख रुपए के इनामी नक्सली राकेश उरांव उर्फ मानकी उरांव को कुरुमगड़ थाना क्षेत्र के मरवा जंगल से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार नक्सली राकेश के विरुद्ध जिले के कुरूमगढ़, चैनपुर व गुमला थाना क्षेत्र में करीब आधा दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने गिरफ्तार नक्सली के पास से एक देसी पिस्तौल समेत बड़ी मात्रा में विस्फोटक सामग्री भी बरामद किया है।

एसपी डॉक्टर एहतेशाम वकारीब ने सोमवार को बताया कि कुख्यात नक्सली बुद्धेश्वर के मारे जाने के बाद उसके दस्ते के सदस्य पुलिस से बचने के लिए अभी भी इधर-उधर छिपते फिर रहे हैं। जबकि पुलिस इन नक्सलियों के पीछे लगातार दबिश बनाई हुई है। इसी क्रम में रविवार को पुलिस को यह सूचना मिली कि एक लाख का इनामी नक्सली राकेश मरवा जंगल में छुपा हुआ है। साथ ही वह पुलिस की गतिविधियों पर नजर रख रहा है। इस सूचना के बाद एक छापेमारी दल का गठन किया गया।

छापेमारी दल ने मरवा जंगल में राकेश की तलाशी को लेकर सर्च अभियान शुरू किया। इसी क्रम में बारपाठ पहाड़ी की ओर जब पुलिस पहुंची तो राकेश पुलिस को देख भागने लगा। तभी टीम ने उसे चारों ओर से घेराबंदी कर दबोच लिया। इसके बाद तलाशी लेने पर उसके पास से एक देसी पिस्तौल व गोली बरामद की गई। गिरफ्तार नक्सली आंजन पंचायत के ऊपर कुली गांव का रहने वाला है। वो पिछले 3 वर्षों से नक्सली संगठन के साथ जुड़ा हुआ था।

एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान गिरफ्तार नक्सली राकेश के निशानदेही पर मरवा जंगल के उत्तर पश्चिम दिशा स्थित जंगल से पुलिस ने बड़ी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया है। यह विस्फोटक जंगल में जमीन के नीचे छुपा कर रखा गया था। नक्सली इस विस्फोटक का इस्तेमाल पुलिस द्वारा क्षेत्र में चलाए जा रहे अभियान के दौरान उन्हें क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से जमा कर रखे हुए थे।

5 साल बाद आज हुई JPSC परीक्षा:कोविड गाइडलाइन के तहत कैंडिडेट्स को एग्जाम सेंटर पर मिली एंट्री,

झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) ने रविवार को एक साथ चार सिविल सेवा परीक्षाएं ली, क्योंकि 2016 में हुई छठी सिविल सेवा परीक्षा के बाद पांच सालों से परीक्षाएं नहीं ली है। 7वीं, 8वीं, 9वीं और 10वीं सिविल सेवा के 252 पदों के लिए प्रारंभिक टेस्ट (पीटी) रविवार काे हुई। परीक्षा दो पालियों में हुई।

पहली पाली में सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक और दूसरी पाली में दिन के 2 बजे से 4 बजे तक परीक्षा ली गई। वहीं, कैंडिडेट्स को एग्जाम सेंटर पर कोविड गाइडलाइन का ध्यान रखते हुए प्रवेश दिया गया।

कैंडिडेट्स के हाथों को सैनिटाइज किया गया। उनकी बॉडी का टेंप्रेचर मापा गया और जिनके पास मास्क नहीं था, उन्हें मास्क भी उपलब्ध करवाया गया। इधर, राज्य भर में 1102 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं।

सरकार का लक्ष्य 1 लाख नौकरी देना
हेमंत सोरेन सरकार ने इस साल एक लाख नौकरी देने की घोषणा की है। इस कारण विभिन्न विभागों में नियुक्ति प्रक्रिया जारी है। जेपीएससी की एक साथ चार सिविल सेवा परीक्षाएं लेना इसी कड़ी का एक हिस्सा है। सरकार ने सबसे पहले आयोग के अध्यक्ष और तीन सदस्यों की नियुक्ति कर जेपीएससी को मजबूती दी, ताकि वर्ष 2006 से अब तक खाली पड़े 2500 से अधिक पद तेजी से भरे जा सकें। विश्वविद्यालयों में 12 साल से रुकी असिस्टेंट प्रोफेसर की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो सके। साथ ही सातों विवि में 2000 शिक्षकों की प्रोन्नति का मामला क्लीयर किया जा सके।

दुर्गापूजा से पहले अच्छी खबर:आधे झारखंड में कोरोना के एक भी मरीज नहीं, 12 जिलों में 5 से नीचे एक्टिव केस, पहली बार 100 से नीचे गई एक्टिव मरीजों की संख्या, केवल रांची में 63

कोरोना अब झारखंड से हारने लगा है। अप्रैल में अपने प्रकोप से हाहाकार मचा देने वाला यह वायरस सितंबर में दम तोड़ रहा है। हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना की दूसरी लहर के दौरान पहली बार राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 100 के नीचे चली गई है। शुक्रवार तक राज्य में मात्र 94 एक्टिव मरीज बचे हैं।

दुर्गा पूजा से पहले राज्य में कोरोना के सिमटने की सुखद सूचना बस इतनी ही नहीं है। राज्य में कुल एक्टिव मरीजों की कुल संख्या के 63% अकेले रांची में हैं। 10 जिलों में कोरोना के एक भी मरीज नहीं बचे हैं। 12 जिले ऐसे हैं जहां मरीजों संख्या 5 से नीचे है। केवल धनबाद में 7 और रांची 63 एक्टिव मरीज बचे हैं।

हमने 3,42,844 बार कोरोना को हराया

कोरोना की पहली लहर से अब तक झारखंड ने 3.42 लाख बार कोरोना को हराया है। अभी तक राज्य में 1,42,23,772 लोगों की कोरोना जांच हुई है। इसमें 348111 लोग संक्रमित पाए गए हैं। संक्रमितों में 342884 लोगों ने कोरोना को मात देकर वापस से स्वस्थ जिंदगी जी रहे हैं। जबकि, राज्य में अभी तक 5133 मरीजों की कोरोना से जान गई है।

काम आई सरकार की सतर्कता और लोगों की जागरूकता

राज्य में कोरोना के नंबर में लगातार गिरावट का श्रेय एक्सपर्ट सरकार की सख्ती और हेल्थ डिपार्टमेंट की सतर्कता को देते हैं। जब देश भर में अगस्त के शुरुआती सप्ताह से ही शिक्षण संस्थान, धार्मिक स्थल और बाजार खुलने लगे थे झारखंड सरकार ने कोई जल्दीबाजी नहीं दिखाई। बाजार खुले जरूर, लेकिन इनमें भी कई सख्त पाबंदियां लागू रहीं। ग्रामीण क्षेत्रों में वृहद जांच अभियान चलाकर कोरोना की रफ्तार को रोकोने की कोशिश की गई। इसके बााद लगातार वैक्सीनेशन की बढ़ती रफ्तार और जागरुकता ने कोरोना को झारखंड में सुस्त पड़ने पर मजबूर कर दिया।

2 साल बाद रांची में होगा इंटरनेशनल क्रिकेट मैच:न्यूजीलैंड और भारत का एक टी-20 मुकाबला रांची के JSCA स्टेडियम में खेला जाएगा; ‌BCCI  ने जारी किया शेड्यूल

दो साल बाद रांची में इंटरनेशनल क्रिकेट मैच होगा। न्यूजीलैंड और भारत के बीच T-20 का दूसरा मुकाबला 19 नवंबर को JSCA स्टेडियम में खेला जाएगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने सोमवार को इसका शेड्यूल जारी कर दिया है। इससे पहले 2019 में JSCA स्टेडियम में भारत-दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच खेला गया था।

इस वर्ष (2021) नवंबर में न्यूजीलैंड की टीम भारत का दौरा करेगी। इस दौरे में तीन टी-20 मुकाबले के साथ दो टेस्ट मैच आयोजित किए जाएंगे। दौरे का पहला टी-20 मैच 17 नवंबर को जयपुर में, दूसरा टी-20 मुकाबला 19 नवंबर को रांची के JSCA स्टेडियम और तीसरा 21 नवंबर को कोलकाता में खेला जाएगा

रांची में सुधा का दूध भी हुआ महंगा:7 महीने में ही बढ़ी कीमतें, नई दर कल से लागू, टोंड और क्रीम दूध में दो रुपए प्रति लीटर की दर से की गई बढ़ोतरी

रांची में सुधा के दूध महंगा हो गया है। प्रति लीटर दूध की कीमत में औसतन 2 रुपए की वृद्धि की गई है। नई दर 21 सितंबर से लागू होगी। यह निर्णय कम्फेड की प्रोग्रामिंग कमेटी की बैठक में लिया गया है। 7 महीने में ही दोबारा दूध की दर में बढ़ोतरी की गई है। इसके पहले सुधा दूध की दरों में 7 फरवरी, 2021 में वृद्धि की गई थी।

राहत की बात यह है कि सुधा की दही और टेट्रा पैक फ्लेवर्ड दूध की कीमत में वृद्धि नहीं की गई है। इससे पहले जुलाई में अमूल ने अपने दूध में 2 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी। अब लगभग अमूल और सुधा की कीमतें रांची में लगभग बराबर हो गईं है।

इसलिए महंगा हुआ दूध

बिहार स्टेट मिल्क को-ऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड (कम्फेड) ने बताया है कि बिजली, पेट्रोलियम पदार्थों, पॉलिथीन, मानव बल आदि में खर्च में वृद्धि हुई है। साथ ही, पशुपालकों द्वारा भी इसकी मांग लगातार की जा रही थी कि उन्हें दिए जाने वाले दूध की दर बढ़ाई जाए। इसको लेकर अन्य सरकारी डेयरी ब्रांडों द्वारा दूध एवं उत्पादों की दरों में देश में वृद्धि पहले ही की जा चुकी है। कम्फेड के मुताबिक, इसके मद्देनजर सुधा दूध की कीमतों में भी वृद्धि करनी पड़ी है।

ग्राहकों की मांग – दाम के साथ क्वालिटी में भी सुधार करे कंपनी

वहीं, सुधा के ग्राहकों ने दाम में बढ़ोतरी का विरोध किया है। ग्राहकों की शिकायत है कि कंपनी दाम में बढ़तोरी के साथ क्वालिटी में भी सुधार करे। वहीं इस पर सुधा के मैनेजर मो. मजिउद्दीन ने बताया कि सुधा की क्वालिटी ही सुधा की पहचान है। क्वालिटी के कारण ही झारखंड में सुधा के व्यापार में लगातार ग्रोथ हो रहा है।

ये होंगी दूध की नई दर

टोंड दूध
1 लीटर 45/- पैकेट
0.500 एमएल 23/- पैकेट
क्रीम 1 लीटर 50/- पैकेट
0.500ml 25/- पैकेट

 

दो शिफ्ट में ली गई परीक्षा

 

 

 

 

18.09.2021       HEADLINE​

 

 

 

लातेहार में 7 बच्चियों की तालाब में डूबने से मौत:करमा डाली विसर्जन करने गई थीं, गड्‌ढे में एक को डूबता देख बचाने के लिए पानी में कूदी तीन सगी बहन समेत 7 लड़कियां डूबीं

लातेहार में 7 बच्चियों की तालाब में डूबने से मौत:करमा डाली विसर्जन करने गई थीं, गड्‌ढे में एक को डूबता देख बचाने के लिए पानी में कूदी तीन सगी बहन समेत 7 लड़कियां डूबीं

लातेहार के बालूमाथ थाना क्षेत्र के सेरेगड़ा पंचायत अंतर्गत मनन डीह ग्राम में शनिवार को करमा डाली का विसर्जन करने गई 7 लड़कियों की मौत तालाब रूपी गड्‌ढे में डूबने से हो गई। घटना शनिवार की है। हादसा एक बच्ची को बचाने के दौरान हुआ और सभी लड़कियां एक-एक कर तालाब में डूब गईं। लोगों ने सभी का शव तालाब से बाहर निकाल लिया है।

मृतकों में रेखा कुमारी (17), रीना कुमारी (12), लक्ष्मी कुमारी (9), सुनीता कुमारी (16), बसंती कुमारी (10), सुषमा कुमारी (10) और पिंकी कुमारी (17) शामिल हैं। इनमें रेखा, रीना और लक्ष्मी सगी बहनें थीं। दरअसल, मनन डीह में करमा पूजा मनाया जा रहा था। करमा पूजा विसर्जन करने शनिवार को दर्जनों लड़कियां तालाब रूपी गड्‌ढे में गई थीं।

एक लड़की अचानक गड्‌ढे में डूबने लगी। उसे बचाने के लिए बारी-बारी से सातों लड़कियां गड्ढे के गहरे पानी में पहुंच गईं और डूब गईं। घटना के बाद मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने सभी लड़कियों को कड़ी मशक्कत के बाद गड्‌ढे से बाहर निकाला। इनमें से चार की मौत हो चुकी थी, जबकि ग्रामीण तीन लड़कियों के जीवित होने की शंका पर अस्पताल ले गए। यहां डॉक्टर ने उन्हें भी मृत घोषित कर दिया।

रांची में हत्यारा दोस्त:विश्वकर्मा पूजा मना कर लौट रहे दो दोस्त में हुआ विवाद, धारदार हथियार से सीने में वार कर किया मर्डर, परिजनों को बताया-एक्सीडेंट हो गया है

रांची में दोस्त ने ही दोस्त की हत्या कर दी है। घटना के बाद आरोपी फरार है। मामला तुपुदाना थाना क्षेत्र का है। शुक्रवार रात एल्युमीनियम फैक्ट्री में काम करने वाले दो दोस्त पूजा कार्यक्रम से लौट रहे थे। इसी बीच दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ तो सागर नाम के 22 वर्षीय युवक को उसी के दोस्त ने धारदार हथियार से सीने पर वार कर मौत के घाट उतार दिया।

आरोपी का नाम सिंटू बताया जा रहा है। घटना के बाद वह फरार है। पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही है। तुपुदाना ओपी प्रभारी कन्हैया सिंह ने बताया कि इस मामले दोनों के तीन अन्य दोस्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वहीं शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया गया है।

हत्या को दुर्घटना का शक्ल देने की कोशिश की

तुपुदाना प्रभारी कन्हैया सिंह ने बताया कि घटना के बाद आरोपी ने इसे दुर्घटना की शक्ल देने की कोशिश करते रहा। परिजनों को बताया कि उसका एक्सिडेंट हो गया है। वही उसे लेकर पहले तुपुदाना के निजी अस्पताल पहुंचा। वहां से रेफर करने के बाद वह देर रात RIMS पहुंचा, लेकिन जब आरोपी को मृत हो जाने की सूचना मिली तब वह फरार हो गया।

फुलवारी शरीफ के तीन गांवों में मातम का माहौल:झारखंड के रामगढ़ कार हादसे में एक गांव के 2 दोस्त जिंदा जले; दोनों अपने पीछे छोड़ गए छोटे-छोटे बच्चे

झारखंड के रामगढ़ में धनबाद-रांची हाईवे पर हुए हादसे में जिंदा जले फुलवारी शरीफ के चारों युवकों के गांव में बुधवार को चूल्हे नहीं जले। गांव के लोगों ने बताया कि फुलवारी शरीफ बोचाचक से आलोक कुमार की वैगन-आर कार से ब्रह्मपुर से राज किशोर राय एवं मुन्ना राय और रानीपुर से गोलू कुमार मंगलवार की दोपहर रजरप्पा मंदिर के लिए निकले थे। इस बीच धनबाद सड़क हादसे की सूचना बुधवार की सुबह इनके घरों पर पहुंची। सूचना मिलते ही फुलवारी शरीफ के बोचाचक, रानीपुर और ब्रह्मपुर गांवों में मातमी सन्नाटा छा गया।

गांव के दो लोगों की मौत से गमगीन है ब्रह्मपुर
ब्रह्मपुर के 35 वर्षीय राज किशोर राय फुलवारी शरीफ के आसपास जमीन का कारोबार करते थे। पिता की मौत की खबर सुनकर राज किशोर राय के दोनों बेटे सुमित कुमार (10 वर्ष) और साहिल कुमार (8 वर्ष) पूरी तरह टूट गए। अबोध बच्चों को यह समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर ऐसा कैसे हो गया। राज किशोर राय के भाई विकास कुमार ने बताया कि मंगलवार को जब रजरप्पा के लिए निकले थे, तो सब बहुत खुश थे।

दूसरी तरफ मुन्ना राय के साला ने बताया कि उनकी दो बेटी चुलबुली (10 वर्ष), स्नेहा कुमारी (8 वर्ष), जबकि दो बेटे रवि शंकर (5 वर्ष) और गौरी शंकर (2 वर्ष) बार-बार पिता को याद करके बेहोश हो जा रहे हैं। चारों तरफ चीख-पुकार से पूरा गांव गम के माहौल में डूबा है। गांव के लोगों ने बताया कि मुन्ना राय प्राइवेट गाड़ी के ड्राइवर था। अपनी छोटी कमाई से ही मुन्ना राय अपने और अपने परिवार का भरण-पोषण करते था। परिवार को संभालने वाला अब कोई नहीं है। घटना की सूचना मिलते ही परिवार के लोग बुधवार को ही घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

पटना में JAP नेता पर जानलेवा हमले का मामला:हत्या के लिए छोटे भाई ने ड्राइवर को एक कट्‌ठा जमीन तो जेल काट चुके अपराधी को 3 लाख रुपए की दी थी सुपारी

जन अधिकार पार्टी के प्रदेश महासचिव आनंद कुमार सिंह उर्फ डब्बू सिंह की हत्या की साजिश रची गई थी। हत्या के लिए दो अपराधियों को हायर किया गया था। उन्हें सुपारी दी गई थी। यह साजिश किसी और ने नहीं, बल्कि डब्बू सिंह के अपने ही छोटे भाई अमित सिंह उर्फ वीरू ने रची थी। भास्कर ने 13 सितंबर को अपनी खबर के जरिए इस बात को पहले ही बता दिया था। आज इस पर अपने खुलासे के जरिए पटना पुलिस ने भी मुहर लगा दी।

इस कांड में शेखर को अपने बड़े भाई अनिल सिंह के ड्राइवर राहुल सिन्हा और जेल रिर्टन अपराधी मनमीत सिंह उर्फ मनजीत सिंह उर्फ ऋषी सरदार का साथ मिला था। इन दोनों को भाई की हत्या के लिए सुपारी दी गई थी। इनके बीच एक बड़ी डील हुई थी।

पटना SSP ने आज किया खुलासा
बुधवार को इस केस का खुलासा करते हुए पटना के SSP उपेंद्र कुमार शर्मा ने बताया कि शेखर ने राहुल सिन्हा को पटना में एक कट्‌ठा जमीन और मनजीत सिंह को 3 लाख रुपए देने का कमिटमेंट किया था। 12 सितंबर की रात तीनों एक जगह पर जमा हुए थे। साथ में बैठकर खाया-पिया और उसी दरम्यान एक ही कार से तीनों पाटलिपुत्र आए। तीनों के पास एक-एक ऑटोमेटिक पिस्टल थी। शेखर और राहुल कार में आगे थे, जबकि मनजीत पीछे बैठा था।

शेखर ने अपने भाई को बुलाया। शोरगुल सुन कर वो आ भी गए। इसके बाद ही तीन राउंड गोली चली। इसमें एक गोली आनंद कुमार को लगी, बाकी के दो गोली इधर-उधर हो गए। यह बात इलाज के दौरान अपने बयान में जाप नेता ने भी बताया था। वारदात के बाद से तीनों फरार चल रहे थे। इनकी तलाश में लगातार छापेमारी हो रही थी। अचानक से इनके एक डिजायर कार (BR01EX/7473) के अटल पथ पर देखे जाने की सूचना मिली थी। संदेह के आधार पर कार को रोका गया। इसके अंदर मास्क लगाए तीन लोग बैठे थे। वो कोई और नहीं ये तीनों ही थे। वारदात में इस्तेमाल किए गए तीन ऑटोमेटिक पिस्टल, 4 मैगजीन, 9 गोली और उन कपड़ों को बरामद किया, जिसे गोली चलाते वक्त इन लोगों ने पहन रखा था।

पटना में कई अपराध कर चुका है मनजीत
मनजीत पटना का पुराना अपराधी है। अगमकुआं थाना इलाके में वो एक ज्वेलरी शॉप में अपने साथियों के साथ 2019 की धनतेरस की रात हुए डकैती की वारदात में शामिल था। JAP नेता को गोली मारने से कुछ दिन पहले ही इसने गर्दनीबाग में एक मोबाइल शॉप में लूट की थी। साथ ही नालंदा के एकंगरसराय में पेट्रोल पम्प पर भी फायरिंग की थी। इसके ऊपर उत्तर प्रदेश में भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। इन तीनों के निशानदेही पर ही गणेश सिंह नाम के चौथे अपराधी को भी गिरफ्तार किया गया है।

जहानाबाद में दूसरे चरण का पंचायत चुनाव:सभी प्रत्याशियों का चिन्ह आवंटित, 226 पदों के लिए 778 उम्मीदवार मैदान में

जहानाबाद दूसरे चरण के मतदान के लिए सभी प्रत्याशियों को निर्वाचित पदाधिकारी द्वारा चिन्ह आवंटित कर दिया गया है। 226 पदों के लिए 778 प्रत्याशी मैदान में हैं। मुखिया के लिए 66, जिला पार्षद के लिए 22, सरपंच के लिए 30, पंचायत समिति के लिए 64, वार्ड सदस्य के लिए 430, पंच के लिए 166 प्रत्याशी मैदान में हैं। चिन्ह आवंटित होते ही सभी प्रत्याशी जनसंपर्क अभियान तेज कर दिए हैं।

अनुमंडल पदाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि घोसी प्रखंड में 29 तारीख को दूसरे चरण का चुनाव कराया जाएगा। जिसमें 101 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। सभी प्रत्याशियों को निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन के अनुसार आचार संहिता का पालन करते हुए चुनाव प्रचार करना है। जो भी आचार संहिता का उल्लंघन करते हुए पकड़े जाएंगे उन पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

उन्होंने कहा कि काको प्रखंड में एक जिला परिषद के उम्मीदवार पर बिना परमिशन के लाउडस्पीकर से प्रचार करते हुए पकड़ा गया है। काको अंचलाधिकारी दिनेश कुमार द्वारा आचार संहिता उल्लंघन का प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को निर्वाचन आयोग के निर्देश के आलोक में प्रचार प्रसार करना है। उन्होंने कहा शांतिपूर्ण एवं भक्त वातावरण में चुनाव कराया जाएगा। सभी मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के कड़े व्यवस्था किए जाएंगे।

ADJ बने विधिक सेवा प्राधिकार में सचिव:पटना हाईकोर्ट ने राज्य के 32 ADJ को जिला विधिक सेवा प्राधिकार में सचिव के पद पर पदस्थापित किया

पटना हाईकोर्ट ने राज्य के 32 ADJ को जिला विधिक सेवा प्राधिकार में सचिव के पद पर पदस्थापित किया है। पटना हाई कोर्ट ने बिहार के विभिन्न जिलों में एडीजे के पद पर कार्यरत 32 अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (एडीजे) को उनके जिला में ही जिला विधिज्ञ सेवा प्राधिकार में सचिव के पद पर पदस्थापित किया है।

जहां धीरेन्द्र कुमार को अररिया, सुवश कुमार राय को बांका, अनवर शमीम को बेगूसराय, अतुलवीर सिंह को भागलपुर, रंजीत कुमार को भोजपुर (आरा), धर्मेन्द्र कुमार तिवारी को बक्सर, जावेद आलम को दरभंगा, गौरव आनंद को पूर्वी चंपारण ( मोतिहारी), अंजू सिंह को गया, बलेन्द्र शुक्ला को गोपालगंज, देवेश कुमार को जमुई, राकेश कुमार को जहानाबाद, सुमित रंजन को कैमूर (भभुआ), समरेन्द्र गांधी को खगड़िया, रजनीश रंजन को किशनगंज, राजीव रंजन रमन को लखीसराय, प्रीतम कुमार रतन को मधुबनी, राजीव नयन को मुंगेर, सुभाष चन्द्र को मुज़फ़्फ़रपुर, मोहम्मद मंजूर आलम को नालंदा ( बिहार शरीफ) , अनिल कुमार राम की नवादा, संतोष कुमार झा को पटना, धीरज कुमार भास्कर को पूर्णिया, अमित राज को रोहतास (सासाराम), रवि रंजन को सहरसा, अभिषेक कुणाल को समस्तीपुर, नूर सुल्ताना को सारण (छपरा), विवेकानन्द प्रसाद को शेखपुरा , निशित दयाल को शिवहर, आशुतोष कुमार राय को सिवान, प्रवीण कुमार सिंह ‘श्रीनेत’ को वैशाली (हाजीपुर) और योगेश शरण त्रिपाठी को बेतिया, पश्चिम चंपारण में जिला विधिज्ञ सेवा प्राधिकार का सचिव बनाया गया है।

पटना हाईकोर्ट के प्रभारी रजिस्ट्रार जनरल ने उक्त आशय की जानकारी राज्य के सभी जिला व सत्र न्यायाधीश को दी है।

 

सेटेलाइट सर्वे में खुलासा:4 साल में 1.33 वर्ग किमी सरफेस फायर पर नियंत्रण, हाईपावर कमेटी की बैठक में बीसीसीएल ने हैदराबाद की एनआरएससी के सर्वे के आधार पर दिया प्रजेंटेशन

काेयला सचिव डॉ अनिल कुमार जैन की अध्यक्षता में गठित हाई पावर कमेटी की पहली बैठक दिल्ली में मंगलवार को हुई, जिसमें झरिया पुनर्वास योजना की अब तक की प्रगति की समीक्षा की गई। बीसीसीएल प्रबंधन ने पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से विभिन्न बिंदुओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। बीसीसीएल ने बताया कि हैदराबाद की इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (इसराे) की इकाई नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर (एनआरएससी) द्वारा सैटेलाइट सर्वे कराया गया है।

सर्वे में स्पष्ट हुआ कि बहुत हद तक सरफेस एरिया में आग पर काबू पाने में सफलता मिली है। 4 साल पहले झरिया और आसपास के 3.2 वर्ग किलोमीटर सरफेस एरिया में आग थी, जो घटकर 1.89 वर्ग किमी सरफेस एरिया में रह गई है। कोयला उत्खनन के माध्यम से 4 सालों में 1.33 वर्ग किमी सरफेस एरिया में आग पर काबू पाया जा सका है।

बाकी बचे सरफेस एरिया में आग पर काबू पाने को लेकर बीसीसीएल प्रबंधन की ओर से प्रयास किया जा रहा है। बीसीसीएल की ओर से बताया गया कि डीसी रेललाइन में सेंद्रा, बांसजाेड़ा, फुलारीटांड़, लोदना एरिया में नॉर्थ तिसरा व साउथ तिसरा, कुजामा, जियालगाेरा, बरारी, वासदेवपुर, केसलपुर, सिजुआ, जोगता आदि क्षेत्र में अब भी आग है।

कोयला उत्खनन को लेकर सेफ्टी का पूरा ध्यान रखा जा रहा है। हाई पावर कमेटी ने निर्णय लिया कि 7-10 दिनों के अंदर 5 सदस्यीय केंद्रीय टीम धनबाद का दौरा करेगी, जिसमें झरिया और आसपास के क्षेत्रों में अग्नि व भू-धंसान प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर आग की स्थिति और खतरनाक जोन का आकलन करेगी कि कितने परिवार असुरक्षित हैं।

भास्कर एक्सक्लूसिव:सोनू सूद के करीबी का दावा- सरकार ने पद्मश्री ऑफर किया था, लेकिन सोनू ने कोई जवाब नहीं दिया था

सोनू सूद के घर इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की रेड तीसरे दिन भी जारी रही। इस बीच उनके करीबियों ने दैनिक भास्‍कर को बताया कि सोनू को पद्मश्री ऑफर किया गया था, लेकिन सोनू ने उस पर कोई रिस्पॉन्स नही दिया था। करीबियों ने उन अफवाहों को भी खारिज किया, जिसके तहत उनके NGO में अनआइडेंटिफाइड रकम होने की खबरें सर्कुलेट हो रहीं हैं।

करीबी के मुताबिक, शुक्रवार को इनकम टैक्‍स विभाग की रेड पूरी हो जाएगी। इसके बाद शनिवार को सोनू आधिकारिक बयान जारी करेंगे। अभी उनके पुराने सोशल मीडिया अकाउंट को मॉर्फ कर शरारती तत्‍व स्‍टेटमेंट जारी कर रहे हैं। इस बातचीत में करीबी ने सोनू पर लगाए गए कई आरोपों के जवाब सिलसिलेवार ढंग से दिए। पेश हैं बातचीत के प्रमुख अंश-

सवालः क्‍या आईटी अधिकारी शुक्रवार को भी सोनू के घर कार्रवाई करते रहे?

जवाबः जी हां। शुक्रवार को हालांकि उनकी कार्रवाई पूरी होने को थी। तीन दिनों की मेहनत मशक्‍कत के बावजूद घर से कुछ मिला नहीं है।

सवालः एनजीओ या फाउंडेशन में अनआइडेंटिफाइड रकम भी है?

जवाबः ये बिल्‍कुल गलत आरोप है। हमारे यहां कोई एक रुपए भी डोनेट करना चाहेगा तो उनसे पैन कार्ड नंबर मांगा जाता है। नंबर नहीं देने पर हमारा पोर्टल रिजेक्‍ट कर देता है। ऐसे में आइडेंटिफाइड पैसा देश और दुनिया भर से लोग स्‍वेच्‍छा से डोनेट करते हैं। मसलन, हैदराबाद में एक दस साल की बच्‍ची है। उसे अपने जन्‍मदिन पर जो दस हजार के गिफ्ट मिले, वह उसने हमारी फाउंडेशन में डाले। एक बंदा बैंगलोर में है। वह अपनी सैलरी का दस परसेंट हमारी फाउंडेशन में डालता है। ऐसे बहुत से उदाहरण हैं। अब वो सब अनआइडेंटिफाइड कैसे हो गए।

सवालः एनजीओ का ऑफिस सिंगापुर में भी है?

जवाबः वहां कोई ऑफिस नहीं है। एनजीओ बना ही छह महीने पहले है। ऐसे में हम वहां एक और दफ्तर कहां से खोल लेंगे। मैनेजर जरूर दुबई में रहता है। हमारा ऑफिस तो मुंबई में ही है बस। एनजीओ के जरिए कितने लोगों को मदद हुई है, वह गिनने बैठेंगे तो 25 दिन लग जाएंगे।

सवालः सब कुछ साफ सुथरा है तो फिर रेड या सर्वे क्‍यों? सेवा करने या अब्रॉड से लोगों को एयरलिफ्ट करने के पैसे कहां से आते थे?

जवाबः मेरे ख्‍याल से वो लोग बोर हो रहे थे। सोचा चलो जरा धमाकेदार तरीके से सोनू सूद से मिलते हैं। हर जगह फंडिंग नहीं है। बहुत जगह हमें विमान कंपनियों से सहायता भी मिली है। जहां बाकियों से टिकट के 45 हजार चार्ज होते थे, हमसे 30 हजार ही लिए जाते थे। जितने भी लोगों को अब्रॉड से एयरलिफ्ट किया गया, उनमें कहीं भी हमने नहीं कहा कि हमने रकम पे की। हमने कहा कि हमने अरेंज किया सब। इसके सारे लीगल दस्‍तावेज हमारे पास हैं। रही बात रेमडेसि‍विर इंजेक्‍शन मुहैया करवाने की तो उसमें तो विभिन्‍न राज्‍यों के डीएम ने मदद की। हॉस्पिटलों से टाइअप हैं। फाउंडेशन ने मार्केट रेट पर दस लाख वाली सर्जरी डेढ़ लाख में करवाई।

सवालः यह भी कहा जा रहा है कि सोनू सूद खुद भी पद्मश्री वगैरह और बीजेपी में सदस्‍यता चाह रहे थे?

जवाबः ना, ना। बिल्‍कुल नहीं। हमारा कोई पॉलिटिकल एजेंडा नहीं है। उन्‍होंने कभी भी खुद को उन सब चीजों के लिए नॉमिनेट नहीं किया। सच कहूं तो पद्मश्री का ऑफर आया था, पर सोनू ने कोई रिस्‍पॉन्‍स नहीं किया था। ऐसा कतई नहीं था कि सोनू बीजेपी से अवॉर्ड चाहते थे। कोरोना काल में सोनू की कोई भी सेवा किसी भी तरह की चाह के मद्देनजर नहीं थी, उन्‍हें बदले में कुछ भी नहीं चाहिए।

मोदी के बर्थडे पर रिकॉर्ड वैक्सीनेशन:देश में महज 9 घंटे में 2 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने का इतिहास बना, हर सेकेंड 444 से ज्‍यादा डोज लगाए गए

भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शुक्रवार को महज 9 घंटे में ही कोरोना वायरस के खिलाफ 2 करोड़ से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाने का रिकॉर्ड बनाया है। CoWIN पोर्टल के मुताबिक, देर रात 11 बजे तक वैक्सीन की 2 करोड़ 37 लाख 60 हजार डोज लगाई जा चुकी थी। यह आंकड़ा अभी और ऊपर जाएगा।

इससे पहले दोपहर डेढ़ बजे तक ही एक करोड़ से ज्‍यादा डोज लगाए जा चुके थे। वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम की रफ्तार का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि देशभर में हर घंटे 17 लाख, प्रत्येक मिनट 28 हजार और हर एक सेकेंड में 444 डोज लगाए गए हैं।

कर्नाटक में रिकॉर्ड 26.92 लाख डोज लगाए गए
राज्यों की बात करें तो अकेले कर्नाटक में शुक्रवार को 26.92 लाख डोज लगाए गए। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. के सुधाकर ने कहा- मैं उन सभी स्वास्थ्य कर्मियों और अन्य कर्मचारियों को धन्यवाद देना चाहता हूं जो इस ऐतिहासिक टीकाकरण अभियान में शामिल रहे हैं।

प्रशासन ने खानापूर्ति कर छोड़ा, परिवार ने खोज निकाला शव:रांची के नाले में बहे सब्जी व्यापारी का श‌व 46 घंटे बाद 3 KM दूर मिला, परिजनों ने स्थानीय लोगों की मदद से ड्रोन के सहारे पाई सफलता

रांची के पंचशील नगर इलाके के नाले में बहे सब्जी व्यापारी का शव मिल गया है। 55 वर्षीय अजय प्रसाद अग्रवाल का शव 3 किमी. दूर मिला है। जिस काम को प्रशासन की टीम खानापूर्ति कर छोड़ दी उसे परिजनों ने लोगों की मदद से कर दिखाया। प्रशासन के हाथ खड़ा करने के बाद भी परिजनों ने प्रयास जारी रखा और घटना के 46 घंटे बाद उन्हें कामयाबी मिली।

परिजनों ने लोगों की मदद से ड्रोन कैमरे का इंतजाम किया। शुक्रवार को पूरे दिन वो इसके लिए कोशिश करते रहे। तब शव नाले में ही फंसा मिला। ऐसी आशंका थी कि श‌व कांके डैम में चली गई है, लेकिन ड्रोन की मदद से जब तालाशी शुरू की गई तो शव डैम से पहले ही नाले में फंसा मिला। इसके बाद शव को निकाल लिया गया है।

NDRF की टीम फोटो खिंचवा कर निकल गई

घटना बुध‌वार रात 8 बजे की है। जब घर लौटते वक्त अजय प्रसाद अग्रवाल तेज नाले के बहाव की चपेट में आ गए थे। इसके बाद पुलिस ने दावा किया कि रात में वह पूरी नाली की तालाश किया, लेकिन शव कहीं नहीं मिला। इसके बाद सुबह नगर निगम की टीम भी लगी। इस बीच 15 घंटे के बाद दोपहर 11.15 बजे NDRF की टीम भी पहुंची। कई जगह नाली को तोड़ा भी गया। सब फोटो खिंचवाए और निकल गए। कामयाबी किन्हीं को नहीं मिली।

दो साल के भीतर बहने की तीसरी घटना

रांची में नाले में बहने की दो साल में यह तीसरी घटना है। पिछले वर्ष सितंबर में कोकर के खोरहाटोली में एक युवक की बहने से मौत हो गई थी। उसका भी शव नहीं मिल पाया था। दो साल पहले हिंदपीढ़ी के नाले में भी एक बच्ची बह गई थी।

सासंद ने कहा- नगर आयुक्त और मेयर की लड़ाई में पिस रहे लोग

वहीं, घटना की सूचना मिलने के 15 घंटे बाद रांची के सांसद संजय सेठ और विधायक सीपी सिंह घटनास्थल पर पहुंचे। संजय सेठ ने कहा कि इस दुर्घटना के लिए पूरी तरह नगर निगम और सरकार दोषी है। मेयर और नगर आयुक्त की लड़ाई में रांची की जनता पिस रही है। इससे दुर्भाग्य क्या हो सकता है कि स्मार्ट सिटी रांची में आदमी नाले में बह जा रहा हैं।

झारखंड में एक और उग्रवादी चढ़ा पुलिस के हत्थे:JPC का सक्रिय सदस्य राजेश गंझु गिरफ्तार, 315 बोर का एक राइफल व प्वाइंट 315 बोर का 9 पीस जिंदा कारतूस बरामद

विश्वकर्मा पूजा के दिन झारखंड पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। हजारीबाग पुलिस ने एक और उग्रवादी को धर दबोचा है। गुप्त सूचना पर झारखंड पुलिस और CRPF की 22/बीएन बटालियन चरही थाना क्षेत्र के बहेरा तालाब के पास के छापेमारी अभियान चलाया। इस अभियान में JPC के एक सदस्य राजेश गंझु उर्फ बिपुल गंझु को गिरफ्तार किया गया है। इसके पास से प्वाइंट 315 बोर का एक राइफल व प्वाइंट 315 बोर का 9 पीस जिंदा कारतूस बरामद किया गया है। गिरफ्तार उग्रवादी और बरामद हथियार को चरही थाना के सुपुर्द कर दिया गया है।

CRPF की टीम तीन दिनों से इस छापेमारी अभियान में लगी हुई थी। खोजी कुत्ते की मदद से हथियार को बरामद किया गया है।

पिछले महीने ही 25 लाख का ईनामी नक्सली हुआ था गिरफ्तार

पिछले महीने ही हजारीबाग पुलिस ने भाकपा माओवादी कमांडर प्रदुमन शर्मा को गिरफ्तार की थी। इसकी गिरफ्तारी झारखंड के हजारीबाग जिले के चौपारण थाना क्षेत्र से की गई थी। नक्‍सली प्रदुमन 25 लाख का इनामी था।

रांची में सरकारी योजना का लाभ देने घर पहुंचे अधिकारी:श्रम, शिक्षा, स्वास्थ्य की योजनाओं से बुजुर्गों को जोड़ने के लिए 20 स्थानों पर विशेष आयोजन

झारखंड राज्य विधिक सेवा प्राधिकार (DALSA) के निर्देश पर शुक्रवार को रांची को लोगों को विधिक सेवाएं देने के लिए विशेष अभियान का आयोजन किया जा रहा है। सभी प्रखंडों एवं अनुमंडलों में आयोजित विशेष अभियान के अंतर्गत विभिन्न विभागों की लाभकारी योजनाओं की सहायता लाभुकों में वितरित की जाएगी।

इसके तहत श्रम विभाग, ग्रामीण विकास विभाग, शिक्षा विभाग, समाज कल्याण विभाग, कल्याण विभाग, स्वास्थ्य विभाग, कौशल विकास विभाग, सामाजिक सुरक्षा विभाग, मनरेगा एवं अन्य सरकारी विभागों की लाभकारी योजनाओं की सहायता लाभुकों में वितरित की जाएगी। खासकर अनुसूचित जनजाति, विधवा, महिला, बच्चे, दिव्यांग, वरिष्ठ नागरिक, असंगठित क्षेत्र के मजदूर इत्यादि के लिए इस अभियान का आयोजन किया जा रहा है।

20 मजिस्ट्रों की हुई नियुक्ति

इस विशेष अभियान को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से 20 स्थानों पर मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की गई है। रांची DC छवि रंजन के निर्देश पर उप समाहर्त्ता जिला विधि शाखा की ओर से निर्देश जारी किया गया है। साथ ही DALSA की तरफ से कुल 20 टीमों का गठन किया गया है। इसमें सचिव जिला प्राधिकार सहित न्यायिक पदाधिकारी, पीएलवी और पैनल अधिवक्ता शामिल हैं।

इन स्थानों पर विशेष अभियान का आयोजन

करमटोली चौक, कांके ब्लॉक के अलावा रातू, मांडर, नगड़ी, बेड़ो, लापुंग, नामकुम, अनगड़ा, सोनाहातू, राहे, बुंडू, तमाड़, सिल्ली, खलारी, बुड़मू, ओरमांझी, चान्हो और इटकी ब्लॉक में विशेष अभियान का आयोजन हो रहा है। इसके अंतर्गत सभी विभागों से संबंधित आवेदन, समझौते, शिकायतें सुझाव इत्यादि प्रत्येक ब्लॉक एवं पंचायत के पारा लीगल वालंटियर एवं पैनल लॉयर्स के द्वारा स्वीकृत कर डालसा कार्यालय द्वारा लाभ पहुंचाने हेतु कार्यान्वित किया जाएगा।

होमगार्ड कार्यालय का मुंशी घूस लेते गिरफ्तार:होमगार्ड जवान जब ड्यूटी के लिए गया तो मुंशी ने 3000 रुपए मांगी रिश्वत, एंटी करप्शन ब्यूरो ने की कार्रवाई

एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) ने होमगार्ड कार्यालय के मुंशी मनोज कुमार पांडे को तीन हजार रुपए घूस लेते गुरुवार को गिरफ्तार किया है। शिकायकर्ता होमगार्ड जवान को अमिर खान से मुंशी ने कमान देन के राम पर 3 हजार रुपए की मांग की थी। गिरफ्तार होमगार्ड के मुंशी को टीम द्वारा दुमका ले जाया गया।

अमिर खान जामताड़ा जिले के बागडेहरी थाना क्षेत्र स्थित विक्रमपुर गांव का निवासी है। उसने बताया कि अब ड्यूटी के लिए झारखंड गृह रक्षक वाहिनी कार्यालय जामताड़ा गए तो वहां कार्यालय कर्मी मुंशी मनोज कुमार पांडे कमान देने के नाम पर 3 हजार रुपए घूस की मांग की। इससे वह काफी परेशान था और घूस नहीं देना चाहता था। इसलिए इसकी शिकायत एसीबी दुमका से किया।

शिकायत करते हुए अमिर ने कहा कि जब ड्यूटी लेने के लिए झारखंड गृह रक्षक वाहिनी कार्यालय, जामताड़ा गए, तो वहां कार्यालय मुंशी मनोज पांडेय कमान देने के नाम पर घूस मांग रहे हैं। एसीबी ने मामले का सत्यापन कराया। सत्यापन के दौरान मनोज पांडेय द्वारा घूस मांगे जाने की बात सही मिली।

इसके बाद, एसीबी दुमका की टीम ने गुरुवार को जामताड़ा पहुंचकर कार्रवाई करते हुए मुंशी मनोज पांडेय को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार होमगार्ड के मुंशी को टीम द्वारा दुमका ले जाया गया।

स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा:सीएम ने कहा – रिम्स को नया रूप देने के लिए बनाएं मास्टर प्लान, मेडिकल कॉलेजों में छात्रों के नामांकन में आ रही अड़चनों को दूर करने का निर्देश

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रिम्स के लिए मास्टर प्लान तैयार करने का निर्देश दिया है, ताकि संस्थान को नया स्वरूप दिया जा सके। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के क्रम में गुरुवार को सीएम ने रिम्स के अलावा जिला अस्पतालों में मरीजों के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य करने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य के मेडिकल कॉलेजों में नामांकन को लेकर आ रही अड़चनों को यथाशीघ्र दूर करें। बैठक में उन्होंने एमजीएम जमशेदपुर के निर्माणाधीन नये भवन और दुमका, हजारीबाग, पलामू, प. सिंहभूम में निर्माणाधीन फार्मेसी शिक्षा संस्थानों की कार्य प्रगति, मेडिकल कॉलेज में पठन-पाठन की व्यवस्था और शैक्षणिक संवर्ग के पदों की स्वीकृति एवं मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी ली।

उन्होंने रिम्स के रि-डेवलपमेंट प्लान, पंचायत स्तर पर दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं और मेडिको सिटी की भी जानकारी ली। उन सड़कों या ब्लैक स्पॉट को चिह्नित करने को भी कहा, जहां अधिक दुर्घटना होती है। वहां ट्रॉमा सेंटर खोले जाएं।

सभी को मिले एंबुलेंस, एक प्लेटफार्म बनाने का निर्देश मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सरकारी और निजी अस्पतालों के एम्बुलेंस को एक प्लेटफार्म में लाने का कार्य करें। इन्हें जीपीएस प्रणाली से जोड़ें। इससे सरकारी और निजी दोनों एम्बुलेंस का उपयोग किया जा सकेगा। निजी एम्बुलेंस के लिए उन्हें कार्य के बदले भुगतान करने की व्यवस्था हो। पुरुष को भी नर्सिंग के लिए प्रोत्साहित करें : मुख्यमंत्री ने कहा कि निजी अस्पतालों में कार्यरत नर्सों का डाटा बेस तैयार करें, ताकि उनकी संख्या का सही आकलन हो सके। नर्सिंग के क्षेत्र में पुरुष को भी प्रोत्साहन दें। ताकि जरूरत के अनुसार विभिन्न अस्पतालों में उनसे कार्य लिया जा सके।

मुख्यमंत्री ने हड़िया-दारू बनाने और बेचने का कार्य छोड़ दूसरा काम करने वाली महिलाओं को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गुरुवार को प्रोजेक्ट भवन सभागार में फूलो-झानो आशीर्वाद योजना की लाभुकों से सीधा संवाद किया और राज्य के पहले दीदी हेल्पलाइन कॉल सेंटर किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने हड़िया-दारू बनाने और बेचने का कार्य छोड़ आजीविका का दूसरा काम करने वाली महिलाओं को किया सम्मानित किया। साथ ही उन्होंने लोगों को 13 करोड़ 45 लाख 60 हजार रुपए का सांकेतिक चेक दिया। मुख्यमंत्री ने महिलाओं से सीधे संवाद के क्रम में कहा कि महिलाएं सरकार का हिस्सा बनें। राज्य के विकास में साथ दें। महिला पुरुष साथ आएंगे तभी राज्य आगे बढ़ेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं गाय पालन, मुर्गी पालन, खेती समेत अन्य व्यवसाय करें, सरकार साथ देगी। अभी स्कूली बच्चों को सप्ताह में छह दिन अंडा भोजन में देने का प्रावधान किया गया है। अंडों का उत्पादन करें। सरकार सभी अंडे खरीद लेगी। पत्ते की थाली का भी निर्माण महिलाएं करें। क्रय सरकार करेगी।

पटना कोर्ट का फैसला:ज्ञानी इकबाल सिंह को एक महीने के अंदर जत्थेदार बहाल करें, सुविधाएं भी देने का आदेश

तख्त श्री हरमंदिर साहिब के पूर्व जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह द्वारा दाखिल यािचका पर गुरुवार को पटना जिला जज की अदालत ने फैसला सुनाया। अदालत ने पटना गुरुद्वारा कमेटी के वर्तमान पदाधिकारियों को ज्ञानी इकबाल सिंह को एक माह के अंदर जत्थेदार बहाल करने का निर्देश दिया।

साथ ही कहा इकबाल सिंह को हटाए जाने की तारीख (5 मार्च 2019) से लेकर आज तक (16 सितंबर 2021) तक दी जाने वाली सभी सुविधाओं का लाभ दिया जाए। अदालत ने कहा- यह धार्मिक मामला नहीं है। धार्मिक मामला होता तो इस प्रकरण में अकाल तख्त (अमृतसर) का हस्तक्षेप होना चाहिए था। चूंकि यह पूरी तरह से प्रशासनिक मामला है, इसलिए कोर्ट के आदेश को एक माह के अंदर लागू किया जाए।

यह है मामला: ज्ञानी इकबाल सिंह के बेटे की नशा करने की कुछ तस्वीरें वायरल होने के बाद वर्तमान कमेटी ने दरबार साहिब अमृतसर में शिकायत कर उनको (इकबाल सिंह) जत्थेदार के पद से हटवाया था। फिर ज्ञानी रंजीत सिंह गौहर-ए-मस्कीन को तख्त श्री हरमंदिर साहिब का जत्थेदार नियुक्त किया गया।

मानव तस्कर गिरफ्तार:झारखंड की बेटियों को दिल्ली ले जाकर बेचने वाला चुटिया में आलीशान घर बनाकर रह रहा था

दिल्ली पुलिस की एक टीम ने बुधवार रात को रांची पुलिस की मदद से चुटिया की धुमसाटोली से रामलखन साहू उर्फ रामलखन ओहदार नाम के एक मानव तस्कर को गिरफ्तार किया। झारखंड की नाबालिग बेटियों को बहला-फुसला कर दिल्ली सहित अन्य महानगरों में बेचने का आरोपी रामलखन पिछले छह साल से फरार था। साहू ने अकूत संपत्ति अर्जित की है।

बिरसा चौक पर भी एक आलीशान शॉपिंग कॉम्पलेक्स है। उसके खिलाफ दिल्ली के मॉडल टाउन थाने में वर्ष 2015 में नाबालिग बच्चियों को झारखंड से लाकर बेचने और बाल श्रम कराने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। गैर जमानती वारंट भी जारी थी। 2015 में ही सिमडेगा के एएचटीयू थाने में भी उसके खिलाफ नाबालिग बच्ची को दिल्ली ले जाकर बेचने की प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।

रामलखन देह व्यापार में भी था संलिप्त
सिमडेगा पुलिस ने जब रामलखन को गिरफ्तार किया था, उस वक्त पुलिस ने खुलासा किया था कि वह मानव तस्करी के साथ-साथ देह व्यापार में भी संलिप्त है। झारखंड की लड़कियों को बहला-फुसला कर महानगरों में ले जाता है। वहां उन्हें प्लेसमेंट एजेंसियों को मोटी रकम में बेच देता है। प्लेसमेंट एजेंसियां लड़कियों को घरेलू काम के अलावा गलत धंधे में भी धकेल देती हैं।

एस्टीमेट घाेटाले की जांच:200 कराेड़ रु. के एस्टीमेट घाेटाले में धनबाद के पूर्व मेयर से होगी पूछताछ

धनबाद नगर निगम में 200 कराेड़ रुपए के इंटीग्रेटेड सड़क एस्टीमेट घाेटाले की जांच कर रही रांची एसीबी अब पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल से पूछताछ करेगी। एसीबी ने अब तक की छानबीन और जब्त दस्तावेज की स्क्रूटनी के बाद सवालों की सूची बनानी शुरू कर दी है। पूर्व मेयर के साथ तीन पूर्व नगर आयुक्त मनाेज कुमार, राजीव रंजन और चंद्रमाेहन कश्यप भी जांच के दायरे में हैं। एसीबी की छानबीन उन सड़काें के निर्माण से जुड़ी है, जिनकी डीपीआर मास एंड वाइड कंसल्टेंट कंपनी ने तैयार की थी।

इसके लिए निगम की ओर से कंपनी काे 120 कराेड़ रुपए का भुगतान किया गया था। बरटांड़ निवासी राजकुमार ने लाेकायुक्त से शिकायत की थी। लाेकायुक्त ने नगर विकास विभाग काे जांच का निर्देश दिया। विभाग के तत्कालीन संयुक्त सचिव एके रतन के नेतृत्व वाली टीम ने अपनी रिपाेर्ट में मामले की विस्तृत जांच कराने की अनुशंसा की थी। इधर, पूर्व मेयर चंद्रशेखर अग्रवाल ने कहा- मैं जवाब के लिए तैयार हूं, पर एसीबी से काेई नाेटिस नहीं मिला है।

मेयर पर आरोप- अच्छी सड़कें खुदवाकर चहेते कंसल्टेंट एजेंसी से डीपीआर तैयार करवा बनवा दीं नई सड़कें

जांच के दाैरान स्थल निरीक्षण करने पहुंची टीम काे स्थानीय लाेगाें ने बताया कि मेयर और निगम के अफसराें ने कंसल्टेंट कंपनी काे लाभ पहुंचाने के लिए अच्छी सड़कें खुदवा दी। उसकी डीपीआर तैयार कर नई सड़क बनवा दी। 14वें वित्त आयाेग की राशि से 40 सड़काें में से 13 की डीपीआर मास एंड बाइड कंसल्टेंट कंपनी ने बनाई थी, जबकि शेष सड़काें की डीपीआर निगम के इंजीनियराें ने बनाई थी।

 

 

16.09.2021 HEADLINE

 

धनबाद में जज की हत्या मामला:जांच से हाईकोर्ट नाराज, कहा- जुडिशल ऑफिसर की हत्या हुई है, हमें रिजल्ट चाहिए, CBI के जोनल डायरेक्टर को 23 सितंबर को किया तलब

धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत के मामले की अब तक की जांच पर हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है। कोर्ट ने 23 सितंबर को CBI के जोनल डायरेक्टर को कोर्ट में हाजिर होने का आदेश दिया है। चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत ने गुरुवार को मामले की सुनवाई के दौरान कहा- ‘CBI हर सप्ताह प्रगति रिपोर्ट दे रही है, लेकिन उसमें कुछ भी नया नहीं है। हर बार स्टीरियो टाइप रिपोर्ट दायर कर रही है। यह संतोषजनक नहीं है। जुडिशल ऑफिसर की हत्या हुई है। हमें रिजल्ट चाहिए।’

कोर्ट ने कहा- ‘परिस्थितियां बयां कर रही है कि दिनदहाड़े एक न्यायिक अधिकारी की हत्या की गई है। CBI अभी भी सिर्फ दो लोगों से आगे नहीं बढ़ सकी है। ऑटो चालक ने धक्का मारकर जज की हत्या क्यों की? यह मिस्ट्री अभी तक हल क्यों नहीं हो सकी है?’

ऑटो को हथियार के रूप में किया गया है इस्तेमाल

कोर्ट ने कहा- ‘यह पहला मामला है जिसमें ऑटो को हत्या के लिए हथियार के रूप में प्रयोग किया गया है, ताकि जांच एजेंसियां उलझ जाएं। CCTV फुटेज देखने से यह स्पष्ट होता है कि ऑटो वाले ने जानबूझकर जज को धक्का मारा है।’

जांच पर सवाल नहीं, लेकिन रिजल्ट जरूरी है

कोर्ट ने कहा- ‘हमें CBI जांच पर भरोसा है। उसके प्रोफेशनल तरीके के जांच पर किसी प्रकार का सवाल नहीं उठा रहे हैं, लेकिन अभी तक इस मामले में कोई अहम जानकारी नहीं मिल पाई है कि आखिर जज की हत्या के पीछे मोटिव क्या है और षड्यंत्र किसने किया है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर ही हाईकोर्ट इस मामले के हर सप्ताह समीक्षा कर रही है, लेकिन अभी तक CBI इस मामले से जुड़े कोई अहम जानकारी नहीं दे पाई है।’

होमगार्ड कार्यालय का मुंशी घूस लेते गिरफ्तार:होमगार्ड जवान जब ड्यूटी के लिए गया तो मुंशी ने 3000 रुपए मांगी रिश्वत, एंटी करप्शन ब्यूरो ने की कार्रवाई

एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) ने होमगार्ड कार्यालय के मुंशी मनोज कुमार पांडे को तीन हजार रुपए घूस लेते गुरुवार को गिरफ्तार किया है। शिकायकर्ता होमगार्ड जवान को अमिर खान से मुंशी ने कमान देन के राम पर 3 हजार रुपए की मांग की थी। गिरफ्तार होमगार्ड के मुंशी को टीम द्वारा दुमका ले जाया गया।

अमिर खान जामताड़ा जिले के बागडेहरी थाना क्षेत्र स्थित विक्रमपुर गांव का निवासी है। उसने बताया कि अब ड्यूटी के लिए झारखंड गृह रक्षक वाहिनी कार्यालय जामताड़ा गए तो वहां कार्यालय कर्मी मुंशी मनोज कुमार पांडे कमान देने के नाम पर 3 हजार रुपए घूस की मांग की। इससे वह काफी परेशान था और घूस नहीं देना चाहता था। इसलिए इसकी शिकायत एसीबी दुमका से किया।

शिकायत करते हुए अमिर ने कहा कि जब ड्यूटी लेने के लिए झारखंड गृह रक्षक वाहिनी कार्यालय, जामताड़ा गए, तो वहां कार्यालय मुंशी मनोज पांडेय कमान देने के नाम पर घूस मांग रहे हैं। एसीबी ने मामले का सत्यापन कराया। सत्यापन के दौरान मनोज पांडेय द्वारा घूस मांगे जाने की बात सही मिली।

इसके बाद, एसीबी दुमका की टीम ने गुरुवार को जामताड़ा पहुंचकर कार्रवाई करते हुए मुंशी मनोज पांडेय को घूस लेते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार होमगार्ड के मुंशी को टीम द्वारा दुमका ले जाया गया।

खाली हुआ JAC चेयरमैन व वाइस चेयरमैन का पद:30 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स का रिजल्ट अटका, गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी भी होगी बाधित, छात्रों से जुड़े कई जरूरी काम में होगी देरी

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (JAC) के अध्यक्ष और उपाध्य का पद बुधवार से खाली हो गया है। चेयरमैन अरविंद प्रसाद सिंह और उपाध्यक्ष फूल सिंह मंगलवार को रिटायर हो गए हैं। लेकिन अभी तक सरकार की तरफ से इन पदों पर किन्हीं की नियुक्ति नहीं की गई है।

इसका खामियाजा राज्य के बच्चों को भुगतना पड़ सकता है। नियम के मुताबिक जब तक JAC के चेयरमैन की नियुक्ति नहीं हो जाती है यहां किसी प्रकार का कोई काम संभव नहीं है। ऐसे में हाल में संपन्न मैट्रिक और इंटर की रिजल्ट अटक गया है । 30 हजार से ज्यादा विद्यार्थियों को फिलहाल इसका इंतजार करना पड़ सकता है।

गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग की तैयारी भी प्रभावित
इतना ही नहीं शिक्षा विभाग की तरफ से गरीब बच्चों के इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराई जाती है। अकांक्षा नाम की इस योजना में बच्चों का चयन भी JAC के माध्यम से किया जाता है। इसके चयन की प्रक्रिया भी आखिरी चरण में है लेकिन अब बिना चेयरमैन की नियुक्ति के इनकी घोषणा संभव नहीं है। इसके अलावा मॉडल स्कूल और इंदिरा गांधी बालिका विद्यालय में नामांकन परीक्षा भी विचाराधीन है।

शिक्षा सचिव ने कहा- नियुक्ति प्रक्रिया शुरू जल्दी होगी नाम की घोषणा
इस संबंध में शिक्षा सचिव राजेश शर्मा ने बताया कि नियुक्ति प्रक्रिया बहुत पहले ही शुरू कर दी गई है। इस पर विभाग की तरफ से काम जारी है। बहुत जल्द इसकी घोषणा कर दी जाएगी। शिक्षा विभाग की तरफ से प्रस्तावित नाम पर CM अनुशंसा करते हैं।

छह साल बाद रिटायर हुए अरविंद प्रसाद
अध्यक्ष अरविंद प्रसाद सिंह की नियुक्ति 2015 में हुई थी। इनका कार्यकाल तीन वर्षों का होता है। पहला कार्यकाल इनका 2018 में समाप्त हो रही थी। तत्कालीन रघुवर सरकार ने इन्हें एक और कार्यकाल के लिए नियुक्त किया था। मंगलवार को इनका दूसरा टर्म भी पूरा हो गया। इन्होंने बताया कि इनके कार्यकाल में JAC के कार्यों को पूरी तरह ऑनलाइन किया गया।

JAC के ये काम हो सकते हैं प्रभावित
1. मैट्रिक-इंटर की पूरक परीक्षा का रिजल्ट
2. प्राइमरी टीचर्स ट्रेनिंग की परीक्षा
3. आमिल-फाजिल परीक्षा का परिणाम
4. आकांक्षा की परीक्षा
5 मॉडल स्कूल और इंदिरा गांधी बालिका विद्यालय की परीक्षा
6. 8वीं से 10वीं तक की परीक्षा के रजिस्ट्रेशन में होगी देरी

रांची के नाले में बहे बुजुर्ग:12 घंटे बाद भी शव का पता नहीं, जलजमाव रोकने और सफाई पर 141 करोड़ रुपए सलाना खर्च करने वाले स्मार्ट सिटी रांची की खुली नालियों में हर साल दम तोड़ रहे हैं लोग

रांची में बुधवार की रात खुले नाले में 55 साल के एक बुजर्ग बह गए। 16 घंटे बाद भी उनका शव नहीं ढूंढा जा सका है। NDRF और निगम की टीम की टीम की तलाश लगातार जारी है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि उनका शव बह कर 5 किलोमीटर दूर कांके डैम पहुंच गया है।

पंडरा थाना प्रभारी ने बताया कि पंडरा से कांके डैम जहां नाली समाप्त होती है वहां तक पूरी नाली को देख लिया गया है, लेकिन कहीं भी शव नहीं मिल पाया है। घटना के 15 घंटे बादNDRF की टीम पहुंची है। लेकिन अभी तक शव को नहीं ढूंढा जा सका है। अब कई जगह पर नाले को तोड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

राजधानी को स्मार्ट सिटी बनाने का सपना दिखाने वाले शहर के 53 वार्डों में स्थित नालियों की सफाई पर निगम माह करीब 1.50 करोड़ रुपए खर्च करता है। नगर निगम प्रत्येक माह रोस्टर के अनुसार नालियों की सफाई कराने का दावा करता है। इतना ही नहीं राजधानी में होनेवाले जल जमाव को रोकने के लिए रांची नगर निगम और पथ निर्माण विभाग की ओर से हर वर्ष करीब 140 करोड़ से अधिक रुपये खर्च किये जाते हैं। इसके बाद भी हर साल इसमें बह कर लोगों की मौत हो रही है

दो साल के भीतर बहने की तीसरी घटना
रांची में नाले में बहने की दो साल में यह तीसरी घटना है। पिछले वर्ष सितंबर में कोकर के खोरहाटोली में एक युवक की बहने से मौत हो गई थी। उसका भी शव नहीं मिल पाया था। दो साल पहले हिंदपीढ़ी के नाले में भी एक बच्ची बह गई थी।
सासंद ने कहा-नगर आयुक्त और मेयर की लड़ाई में पिस रहे लोग
वहीं घटना की सूचना मिलने के 15 घंटे बाद रांची के सांसद संजय सेठ और विधायक सीपी सिंह घटनास्थल पर पहुंचे। संजय सेठ ने कहा कि इस दुर्घटना के लिए पूरी तरह नगर निगम और सरकार दोषी है। मेयर और नगर आयुक्त की लड़ाई में रांची की जनता पिस रही है। इससे दुर्भाग्य क्या हो सकता है कि स्मार्ट सिटी रांची में आदमी नाले में बह जा रहा हैं।

सब्जी विक्रेता अपने घर लौट रहे थे
घटना रात के 8.30 बजे की है। 55 वर्षीय सब्जी विक्रेता अजय अग्रवाल अपनी साइकिल से घर लौट रहे थे। इसी क्रम में वे पंडरा के पंचशील नगर के पास उफनते नाले में समा गए। उनकी साइकिल और चप्पल वहीं नाले के पास से बरामद की गई है। वे मूल रूप से रामगढ़ के रहने वाले थे यहां पंडरा के सहदेव नगर में किराए का कमरा लेकर सब्जी का व्यापार करते थे।

रांची में बारिश से राहत:80 घंटे की लगातार बारिश के बाद रांची में सुबह से नहीं हुई है बारिश, आज पूरे दिन छाए रहेंगे बादल, आज खिलेगी धूप, यहां 24 घंटे में 58 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई

रांची में लगातार 80 घंटे की बारिश के बाद बारिश थम गई है। सुबह से ही बादल छाए हुए हैं लेकिन बारिश नहीं हो रही है। मौसम विज्ञान केंद्र, रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि झारखंड डीप डिप्रेशन कमजोर हो चुका है। यह उत्तरी मध्य प्रदेश की ओर बढ़ गया है। इसके कारण गुरुवार से रांची में आसमान साफ होने और धूप निकलने के आसरा हैं। वहीं अगले 4 दिनों तक कुछ जिलों में हल्की बारिश हो सकती है।

कांके डैम का दो फाटक खोलना पड़ा

वहीं बुधवार को रांची सहित राज्य के अन्य जिलों में लगातार बारिश होती रही। रांची में लगातार हो रही बारिश से नदी-नाले उफना गए। कांके डैम में जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर हो गया। इसके कारण इसके दो फाटक खोलने पड़े। सड़कों पर जलभराव हो गया। मौसम विभाग के अनुसार, रांची में पिछले 24 घंटे में 58 एमएम बारिश रिकार्ड की गई।
लोहरदगा के कुरु में हुई सबसे अधिक बारिश
वहीं राज्य में सबसे अधिक लोहरदगा के कुरु में 128.4 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। जबकि मांडर, अड़की, लोहरदगा, लातेहार, रामगढ़ में 100 एमएम से अधिक बारिश हुई। हालांकि शाम के बाद से ही लोगों को बारिश से थोड़ी राहत मिलनी शुरू हो गयी।

रांची- धनबाद हाईवे पर भीषण हादसा:कार में सवार 5 जिंदा जले, बस से हुई सीधी टक्कर में जलकर राख हो गया फोर-ह्वीलर, 1 घंटे बाद आग बुझाने पहुंची दमकल की गाड़ी

झारखंड के धनबाद-रांची हाईवे पर बुधवार सुबह-सुबह भीषण हादसा हुआ है। इसमें 5 लोग जिंदा जल गए हैं। घटना रजरप्पा थाना क्षेत्र के NH-23 के मुरुबंदा इलाके की है। यहां विपरीत दिशा से आ रही कार और बस की सीधी टक्कर हो गई। इसके बाद कार में आग लग गई। आग की लपटें उठती देख बस में सवार सभी यात्री कूदकर भाग गए। कार सवार यात्रियों को निकलने का मौका तक नहीं मिल पाया। घटना के करीब एक घंटे बाद दमकल की गाड़ी आग बुझाने पहुंची। कार लगभग पूरी तरह जल चुकी थी। बस का भी आधे से ज्यादा हिस्सा जल चुका है। अब तक मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है।

ग्रामीणों की आंखों देखी- तेज रफ्तार में बिगड़ा कार का बैलेंस

घटनास्थल पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि महाराजा बस धनबाद से रांची की ओर जा रही थी। कार रांची से आ रही थी। कार काफी स्पीड में थी। मुरुबंदा के पास ड्राइवर का बैलेंस बिगड़ गया। वह सड़क पर कभी लेफ्ट तो कभी राइट जा रही थी। बस ड्राइवर ने कार को बचाने की बहुत कोशिश की। कार के साथ उसने भी अपनी साइड बदली, लेकिन देखते ही देखते कार बस के अगले हिस्से में जा घुसी और चंद सेकेंड में ही कार में आग लग गई।

ग्रामीणों ने बताया कि कार में सवार लोगों को तो निकलने का मौका तक नहीं मिला, लेकिन घटना के बाद बस में सवार लोगों के बीच अफरा-तफरी मच गई। सभी बस से कूदकर भागने लगे। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई है। कार से कंकालों को निकालने का काम शुरू हो गया है। पुलिस मृतकों की पहचान में जुटी है। वहीं घटना के बाद NH पर आवागमन रुक गया है। इसके कारण दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी कतार लग गई है।

पूर्व CM मरांडी के सलाहकार UP से गिरफ्तार:27 दिन से फरार थे सुनील तिवारी, अरेस्ट होते ही बढ़ा BP, सीने में दर्द की शिकायत के बाद PGI लखनऊ में एडमिट

झारखंड के पूर्व CM बाबूलाल मरांडी के सलाहकार सुनील तिवारी को गिरफ्तार कर लिया गया है। रेप के आरोप में वह पिछले 27 दिनों से फरार थे। रविवार को रांची पुलिस की स्पेशल टीम ने उन्हें उत्तर प्रदेश के इटावा से गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी के तुरंत बाद सुनील तिवारी की तबीयत बिगड़ गई है। उन्हें लखनऊ के PGI हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। BP बढ़ने के साथ उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की है। प्राथमिक इलाज के बाद उन्हें इटावा से लखनऊ लाया गया। तबीयत में सुधार होते ही उन्हें UP से रांची लाया जाएगा। यहां अरगोड़ा थाने में उनसे पूछताछ की जाएगी।

SSP ने तीन स्पेशल टीमों का किया था गठन

सुनील तिवारी के खिलाफ 16 अगस्त को अरगोड़ा थाने में दुष्कर्म, छेड़छाड़ और एसटी-एससी एक्ट के तहत FIR दर्ज कराई गई थी। इनकी गिरफ्तारी के लिए SSP एसके ने 3 स्पेशल टीम का गठन किया था। इन्हीं में से एक टीम को इसकी सूचना मिली थी कि वह UP के इटावा के एक होटल में ठहरे हैं। उन्हें होटल से ही गिरफ्तार किया गया है।

अगरोड़ा थाने में शोषण के साथ बाल श्रम का भी दर्ज है केस

अरगोड़ा थाना में सुनील तिवारी के खिलाफ दुष्कर्म के अलावा बाल श्रम से जुड़े मामले में भी केस दर्ज कराया गया था। इन मामलों को लेकर सुनील तिवारी ने कोर्ट में एक अग्रिम जमानत याचिका भी दायर की थी। हालांकि, इसे कोर्ट ने खारिज कर दिया था। कोर्ट के सामने पीड़िता ने 164 का बयान भी दर्ज करा दिया था। इस बयान के आधार पर कोर्ट की तरफ से सुनील तिवारी के खिलाफ वारंट जारी कर दिया गया था। हालांकि, उन्होंने हाईकोर्ट में भी अग्रिम जमानत की याचिका दायर की थी।

झारखंड में कोरोना के बाद अब मच्छरों का आतंक:18 जिलों में चिकनगुनिया, 15 जिलों में डेंगू और 12 जिलों में जापानी इंसेफ्लाइटिस ने पांव पसारे, RIMS में JE के 6 बच्चे एडमिट

झारखंड में अभी कोविड का कहर सही से थमा ही था कि अब मच्छरों का आतंक शुरू हो गया है। रांची समेत झारखंड के तकरीबन 18 जिलों में चिकनगुनिया, 15 जिलों में डेंगू और 12 जिले ऐसे हैं जहां जापानी इंसेफलाइटिस ने अपने पैर पसार दिए हैं।

RIMS में अब तक जापानी इंसेफलाइटिस (JE) के तकरीबन आधा दर्जन से अधिक बच्चे एडमिट हो चुके हैं। जबकि जमशेदपुर में बुधवार को जापानी इंसेफलाइटिस के 4 नए संदिग्ध मरीज मिले हैं। मरीजों में 1 गोलमुरी, 1 जुगसलाई, 1 चाईबासा और 1 सरायकेला का निवासी है।

पिछले सप्ताह राज्य में डेंगू से हुई थी पहली मौत
पिछले सप्ताह जमशेदपुर में डेंगू से एक महिला की मौत हो चुकी है। राज्य में डेंगू से यह पहली मौत थी। शुक्रवार को जापानी इंसेफलाइटिस से पीड़ित जमशेदपुर में घाटशिला व जादूगोड़ा निवासी दो लोगों की मौत हो गई थी। हालांकि, विभाग ने अब तक इसकी पुष्टि नहीं की है। इससे पहले गालूडीह के एक मरीज की भी मौत हो चुकी है। इन तीनों मरीज को जापानी इंसेफलाइटिस से पीडि़त बताया जा रहा था।

18 मरीजों की हो चुकी है पुष्टि
जिला सर्विलांस विभाग ने 57 सैंपलों की जांच करवाई है। इससे अब तक जापानी इंसेफलाइटिस के 18 मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। जमशेदपुर में अब तक जापानी इंसेफलाइटिस से तीन मरीजों की मौत हो चुकी है।

जेईई-मेन रिजल्ट:नया फॉर्मेट लागू होने के बाद पहली बार 5 मुख्य कैटेगरी में 4 पर्सेंटाइल की गिरावट

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन के परिणाम में साल 2019 से जेईई मेन का नया फॉर्मेट शुरू होने के बाद 2021 में सभी मुख्य पांच कैटेगरी की कट ऑफ में गिरावट दर्ज की गई है। जेईई मेन से एडवांस्ड की कट ऑफ में श्रेणीवार औसतन तीन से चार पर्सेंटाइल की गिरावट दर्ज की गई है। जनरल कैटेगरी की कट ऑफ 2.47 पर्सेंटाइल गिरी है। परिणाम के आकलन के बाद बड़ा सवाल यह है कि क्या सभी सेशन के सभी स्लॉट में जनरल कैटेगरी के छात्र ही टॉपर रहे?

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार जनरल कैटेगरी के छात्र ही 100 पर्सेंटाइल का परफेक्ट स्कोर हासिल कर पाए हैं। अन्य कैटेगरी का हायर पर्सेंटाइल स्कोर सभी सेशन को मिलाकर 100 से कम रहा है। एनटीए ने पहली बार हायर पर्सेंटाइल स्कोर जारी किया है। अब तक एनटीए कट ऑफ स्कोर ही जारी करता रहा है।

आईआईटी में सुपरन्यूमरेरी कोटा तय होने के बाद इस साल एग्जाम देने वाली लड़कियों की संख्या गिरी है। राज्यों की टाॅपर सूची में मात्र चार लड़कियां ही 100 पर्सेंटाइल स्कोर हासिल कर पाई। छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, मध्यप्रदेश सहित 23 राज्यों के छात्र 100 पर्सेंटाइल स्कोर हासिल नहीं पाए।

रांची के राहुल कुमार 99.99 परसेंटाइल के साथ बने स्टेट टाॅपर, लड़कियों में ग्रेटा चक्रवर्ती को पहला स्थान

जेईई मेन-4 में 44 स्टूडेंट्स ने 100 परसेंटाइल हासिल किया है। इसमें सबसे ज्यादा 7 स्टूडेंट्स तेलंगाना के हैं। राजस्थान, आंध्र प्रदेश और दिल्ली के 6-6 स्टूडेंट्स काे इस लिस्ट में जगह मिली है, जबकि रांची के राहुल कुमार 99.9924994 परसेंटाइल लाकर झारखंड टाॅपर बने हैं। राहुल को ऑल इंडिया 134 रैंक मिली है। रांची के राहुल ने इसी साल 12वीं की परीक्षा पास की है, जिसमें 99 प्रतिशत मार्क्स आए हैं।

ग्रेटा चक्रवर्ती 99.9460390 परसेंटाइल के साथ लड़कियों में झारखंड की टाॅपर रहीं। वहीं जमशेदपुर से करीब 1000 छात्र जेईई मेन-4 में सफल हुए हैं। यहां आयुष काे ऑल इंडिया 313 रैंक हासिल हुआ है। झारखंड में एक हजार के अंदर रैंक वाले कैंडिडेट करीब 35 प्रतिशत ज्यादा हैं।

झारखंड टॉपर्स की सूची

नाम शहर रैंक राहुल कुमार रांची 134 आयुष सिंह जमशेदपुर 313 वैभव सेठ जमशेदपुर 401 श्रेयश राज रांची 518 यश कुमार जमशेदपुर 605 प्रवीण राज रांची 609 अस्मित सिंह रांची 743 वत्सल जैन रांची 760 शिवम कुमार रांची 832 ओम शुभम पति रांची 864

झारखंड का रिजल्ट गत वर्षों की तुलना में अच्छा

झारखंड का रिजल्ट पिछले सालों की तुलना में अच्छा है। कैंडिडेट का परसेंटाइल भी बेहतर हुआ है। अब कैंडिडेट्स को एडवांस्ड पर फोकस करना चाहिए। जितना ज्यादा हो सके प्रैक्टिस करें। पिछले 5 सालों के एडवांस के पेपर जरूर पढ़ें।-रणधीर कुमार, फिटजी सेंटर हेड, रांची

ऑनलाइन क्लास के बाद 5 घंटे की सेल्फ स्टडी: राहुल
राहुल ने बताया कि जेईई मेन की तैयारी दो साल से कर रहे थे। अंतिम तीन महीने में मॉक टेस्ट पर पूरा फोकस रखा। लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन क्लास को एडजस्ट करने में थोड़ा वक्त लगा। पर रोजाना औसतन 4 से 5 घंटे सेल्फ स्टडी करता था।